World famous Scientist Stephen Hawkins Died – दुनिया के जाने माने प्रसिद्ध वैज्ञानिक स्टीफ़न हॉकिंग का निधन

World famous Scientist Stephen Hawkins Died – दुनिया के जाने माने प्रसिद्ध वैज्ञानिक स्टीफ़न हॉकिंग का निधन

World famous Scientist Stephen Hawkins Died – दुनिया के जाने माने (world famous scientist) वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग (stephen hawkins) का 76 साल की उम्र में निधन हो गया है.

वो एक ऐसी बीमारी से (infected with disease) पीड़ित थे, जिसके चलते उनके शरीर के कई हिस्सों पर लकवा मार गया था. लेकिन इसके बावजूद उन्होंने हार (never quit) नहीं मानी और विज्ञान के क्षेत्र में नई खोज जारी रखी.

हॉकिंग ने सापेक्षता (रिलेटिविटी), ब्लैक होल और बिग बैंग थ्योरी को समझने में अहम भूमिका निभाई थी.

स्टीफन हॉकिंग की ज़िंदगी पर एक नज़र – Quick view on stephen hawkins life

साल 1942 में 8 जनवरी को स्टीफ़न का जन्म (birth) इंग्लैंड के ऑक्सफ़ोर्ड (oxford) में हुआ था

साल 1959 में वो नेचुरल साइंस (natural science) की पढ़ाई करने ऑक्सफ़ोर्ड पहुंचे और इसके बाद कैम्ब्रिज (cambridge) में पीएचडी के लिए गए

साल 1963 में पता चला कि वो मोटर न्यूरॉन (motor neuron) बीमारी से पीड़ित हैं और ऐसा कहा गया कि वो महज़ दो साल जी पाएंगे

साल 1988 में उनकी किताब ए ब्रीफ़ हिस्टरी ऑफ़ टाइम (a brief history of time) आई जिसकी एक करोड़ से ज़्यादा प्रतियां बिकीं

साल 2014 में उनके जीवन पर द थ्योरी ऑफ़ एवरीथिंग (the theory of everything) बनी जिसमें एडी रेडमैन ने हॉकिंग का किरदार अदा किया था

परिवार ने जताया दुख – Family shows their sadness

World famous Scientist Stephen Hawkins Died

ब्रिटिश वैज्ञानिक (british scientist) ने विज्ञान के क्षेत्र से जुड़ी कई जानी-मानी किताबें (written books) लिखी हैं, जिनमें ए ब्रीफ़ हिस्टरी ऑफ़ टाइम (a brief history of time) सबसे ज़्यादा मशहूर हुईं.

उनके बच्चों- लुसी, रॉबर्ट और टिम (lui, robert and tim) ने कहा, ”हमें ये जानकारी देते हुए बेहद दुख हो रहा है कि हमारे पिता का आज निधन (detah of their father) हो गया है. वो बेहतरीन वैज्ञानिक (scientist) और असाधारण इंसान थे जिनका काम और विरासत आने वाले कई साल तक जीवित (live) रहेंगे.”

बच्चों ने स्टीफ़न हॉकिंग (stephen hawkins) की ‘हिम्मत और निरंतरता’ की तारीफ़ की और कहा कि ‘प्रतिभा और मज़ाकिया अंदाज़’ ने दुनिया भर के लोगों को प्रेरित (motivate) किया.

”उन्होंने एक बार कहा था- जिन लोगों से आप प्यार (you love) करते हैं, अगर वो नहीं हैं तो ये दुनिया फिर किस काम की है. हम उन्हें हमेशा ताउम्र मिस (miss them whole life) करेंगे.”

ब्रह्माण्ड को समझने में अपनी भूमिका निभाई – Play important role in understanding universe

यह भी पढ़ें :- मत करे बच्चों के साथ ऐसा व्यवहार नही तो परिणाम आपके लिए घातक होंगे

हमेशा व्हील चेयर (wheel chair) पर रहने वाले हॉकिंग किसी भी आम इंसान से इतर दिखते थे.

विश्व प्रसिद्ध महान वैज्ञानिक (famous great scientist) और बेस्टसेलर रही किताब ‘ए ब्रीफ़ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ (a brief history of time) के लेखक स्टीफ़न हॉकिंग ने शारीरिक अक्षमताओं को पीछे छोड़ते हु्ए यह साबित किया था कि अगर इच्छा शक्ति (will power) हो तो इंसान कुछ भी कर सकता है.

अपनी खोज के बारे में हॉकिंग (hawkins) ने कहा था, ”मुझे सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि मैंने ब्रह्माण्ड (universe) को समझने में अपनी भूमिका निभाई. इसके रहस्य लोगों के खोले (open) और इस पर किये गये शोध में अपना योगदान (contribution) दे पाया. मुझे गर्व होता है जब लोगों की भीड़ (Crowd) मेरे काम को जानना चाहती है.”

हॉकिंग की पहली फ़ेसबुक पोस्ट – First facebook post of Stephen Hawkins

World famous Scientist Stephen Hawkins Died

साल 2014 में जब हॉकिंग फ़ेसबुक (facebook) पर पहली बार आए तब उन्होंने अपनी पहली पोस्ट (first post) में अपने प्रशंसकों को ‘जिज्ञासु’ बनने की नसीहत दी थी.

हॉकिंग ने अपनी पोस्ट (post) में लिखा था, ”मैं हमेशा से ही सृष्टि की रचना (creating the universe) पर हैरान रहा हूं. समय और अंतरिक्ष (universe) हमेशा के लिए रहस्य बने रह सकते हैं, लेकिन इससे मेरी कोशिशें नहीं रुकी हैं.

एक-दूसरे से हमारे संबंध (relation) अनंत रूप से बढ़े हैं. अब मेरे पास मौका है और मैं इस यात्रा (travel) को आपके साथ बांटने के लिए उत्सुक हूं. जिज्ञासु बनें. मैं जानता हूं कि मैं हमेशा जिज्ञासु (creative) बना रहूंगा.”

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *