किसी भी प्रकार के बुखार के लिए लीजिए गिलोय मुनक्का और सौंफ| Munnaka Saunf and Giloy for any type of fever

किसी भी प्रकार के बुखार के लिए लीजिए गिलोय मुनक्का और सौंफ| Munnaka Saunf and Giloy for any type of fever

Munnaka Saunf – बुखार एक सामान्य शरीरक (normal body process) प्रक्रिया है, जिस से शरीर अपने अंदर जमे हुए अपशिष्ट पदार्थों (bad toxic things) को अपने तरीके से बाहर निकालने की कोशिश करता है, मगर कभी कभी ये बहुत अधिक समय तक बना रहता है तो खतरनाक (it can be dangerous) हो सकता है, बुखार (fever) चाहे कितना भी पुराना या किसी भी प्रकार का हो ये तीन प्रयोग हर प्रकार के बुखार में रामबाण (very effective) हैं। इन में से किसी भी प्रयोग को अपनाने से बुखार बिलकुल सही हो जायेगा। आइये जाने इन प्रयोगों (lets know the remedies) के बारे में।

यह भी पढ़ें :- इन 7 संकेतों से जानिये के आपके बॉयफ्रेंड को आपसे सिर्फ सेक्स चाहिए

Click Here to Buy:- All types of Fever – PYROFREE+ (60 capsules) Pack of 2 – GMP Certified – Ayurvedic Proprietary Medicine – For all types of FEVER – Safe – Natural Care

बुखार के लिए गिलोय (गुडुच) – Use Giloy in fever

दो तोला (लगभग 20 ग्राम) कूटी हुयी गुडुच (गिलोय) को रात्रि (night) को थोड़े पानी में भिगो कर सुबह मसल छानकर पीने (drink) से सब प्रकार के बुखार (any type of fever) चाहे कितना भी पुराना हो सब में लाभ (benefit) होता है।

बुखार में मुनक्कों का प्रयोग – use Munakka in Fever

30 से 40 मुनक्कों को लगभग 250 ग्राम पानी में रात को. (dip in water for whole night) भिगो दें। सुबह उसे खूब उबालकर. (boil) उसके बीज निकालकर खा जाएँ. (eat them) और वही पानी पी. (drink the water) जाएँ। इससे शारीर में बल (strength) और स्फूर्ति. (energy) का संचार होगा। रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ेगी. (increases immune system) और ज्वर का उन्मूलन हो जायेगा।

यह भी पढ़ें :- कुछ ऐसी सामान्य चीजें जिनका जवाब विज्ञान के पास भी नहीं है

यह भी पढ़ें :- जानिये क्या होता है जब एक दूसरे से नज़रे मिलती है

बुखार में सौंफ का प्रयोग – Use Saunf in Fever

रात्रि में 25 ग्राम सौंफ पानी. (water) में भिगोकर रखें। सुबह उसी पानी में सौंफ को उबाल. (boil) लें। उबल जाने पर सौंफ को खूब मसलकर. (mash) उसका पानी छान लें। इस पानी में 4 मूंग के भार के बराबर फुलाई हुयी लाल फिटकरी का चूर्ण. (churan) डालकर सुबह खाली. (empty stomach) पेट 40 दिन तक पीने से पुराने से पुराना, किसी भी प्रकार का बुखार. (any type of fever finishes) हो मिटता है। इस प्रयोग से 20 वर्ष पुरानी कब्जियत. (constipation) भी दूर होती है।

Click here to read:-  Suffering From Cracked Heels, Use These 10 Natural Home Remedies

Munnaka Saunf, dadimaa ke nuskhe,home remedies for fever, symptoms of typhoid, symptoms of dengue, Munnaka Saunf

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *