जानिये स्वस्थ फेफड़े पाने के 9 सरल नुस्खे – Know 9 Tips For Healthy Lungs

जानिये स्वस्थ फेफड़े पाने के 9 सरल नुस्खे – Know 9 Tips For Healthy Lungs

Tips For Healthy Lungs – अगर हम अपने फेफड़ों की सही देखभाल (right care of lungs) करते हैं तो वह ज़िंदगी भर सही (works properly whole life) चल सकते हैं। अगर फेफड़ों पर बाहर से हमला (attack from outside) न हो तो वह काफी (very effective) टिकाऊ होते हैं। कुछ अपवाद को छोड़कर हमारे फेफड़े तब तक मुसीबत में नहीं पड़ते जब तक हम उन्हें (till we not put them in problem) मुसीबत में नहीं डालते।

यहाँ पर कुछ ऐसे उपाय (tricks) हैं जो हम सब को करना चाहिए ताकि हमारे फेफड़े बढ़ती उम्र (growing age) के साथ भी स्वस्थ (live healthy) रह सकें।

Click here to read:-  5 Natural Treatments To Dealing With Depression Without Medication

Sexual Desires Womens Want to Fulfill on Bed

  1. धूम्रपान करें –Avoid Smoking

रोज़ धूम्रपान (smoking daily) करना फेफरों को सबसे ज़यादा नुकसान (bad effect on lungs) पहुंचा सकता है। जब धूम्रपान की बात आती है तो कोई सुरक्षित दहलीज़ (safe place) नहीं है। आप जितना ज्यादा धूम्रपान करेंगे आपको फेफरों का कैंसर (lungs cancer) और सीओपीडी (जिसके अंदर दीर्घकालिक फेफरों का सूजन (swelling lungs) और एफिसेमा आता है) होने का ख़तरा उतना ही ज्यादा होगा। धुंआ (smoke) काफी खतरनाक (dangerous) होता है। ऐसा पाया गया है कि उस वातावरण (atmosphere) में रहने मात्र से जहाँ लोगों ने धूम्रपान (smoking) किया हो काफी खतरनाक साबित  (dangerous) हो सकता है। सिर्फ धूम्रपान त्याग (quitting smoking) देना ही काफी नहीं है। मारिजुआना, पाइप या सिगार (pipe or cigar) भी आपके फेफरों के लिए उतना ही (also dangerous) खतरनाक है।

  1. स्वच्छ हवा के लिए मारामारी – Struggling for Fresh Air

155 मिलियन से ज्यादा लोग ऐसे इलाकों (living area) में रहते हैं जहाँ हवा का प्रदूषण (air pollution can kill them) जान के लिए ख़तरा है। हवा प्रदूषण से न सिर्फ अस्थमा (asthama) और सीओपीडी जैसी बीमारियां (diseases) होती हैं पर कई मामलों में इससे लोगों की मौत (peoples were died) भी हो गयी है। आप स्वच्छ हवा (fresh air) के लिए बनाये गए नियम (rules) का साथ देकर और अधिनियम को काटने के प्रयास का विरोध कर बदलाव (change) ला सकते हैं। आप अपने स्तर पर बिजली की बचत (save electricity) करें, लकड़ी या कूड़े को जलाने से बचें (avoid burn wastage) और गाड़ी कम चलायें।

  1. ज्यादा वर्कआउट करें – Do More Workout

एक्सरसाइज (exercise) से आपके फेफड़े बहुत ज़यादा मजबूत (strong) नहीं हो जायेंगे पर वर्कआउट के बाद (after workout) फेफरों से ज़यादा काम (take more work from lungs) लिया जा सकता है। जितना ज्यादा अच्छा आपका हृदय स्वास सम्बन्धी फिटनेस (related fitness) होगा, उतना ही आपके फेफरों को हृदय और मासपेशियों को ऑक्सीजन (can give oxygen easily to lungs and heart) देने में आसानी होगी। रोज़ाना वर्कआउट (do regular exercise) करना ज़रूरी है अगर आपको दीर्घकालिक फेफरों की बीमारी है। आपके फेफरों को वह सारी मदद (help) चाहिए जो उसे मिलनी चाहिए। अगर ठंडी हवा (cool air) के कारण आपका अस्थमा बढ़ (increases asthama) गया है तो स्कार्फ या फिर मास्क का (use scarf of mask) इस्तमाल करें ताकि ठंडी हवा आपके फेफरों तक न पहुँच पाये।

  1. बाहर के वायु प्रदूषण से बचें – Avoid Pollution

ज़्यादातर गर्मी के महीने में कुछ क्षेत्रों में ओजोन (ozone) और दूसरे प्रदूषक के कारण एक्सरसाइज (exercise) या आपका बाहर समय बिताना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक (dangerous for health) हो सकता है। फेफरों की समस्या से जूझ रहे लोग ज़्यादातर वायु प्रदूषण (air pollution) से संवेदनशील (sensitive) होते हैं।

Tips For Healthy Lungs

  1. घर की हवा को स्वच्छ रखें – Keep Your Home’s Air Fresh

वायु प्रदूषण सिर्फ बाहर की समस्या  (problem) नहीं है। कई घर की चीज़ें हैं जैसे लकड़ी से जलने वाले स्टोव (stove), अंगीठी, मोल्ड, निर्माण वस्तुएं और कुछ मोमबत्तियां (candles) और एयर फ्रेशनर (air freshener) भी वायु प्रदूषण का कारण बनते हैं। यहाँ पर तीन तरह के उपाय ज़रूरी हैं: स्रोत को हटाना (remove source), वेंटिलेशन को बढ़ाना और वायु को स्वच्छ (clean fresh air) रखने का बंदोबस्त करना। एयर क्लीनर गैस (air cleaner gas) पर कोई असर डाले हुए वायु को स्वच्छ बनाये रखती है।

  1. पौष्टिक खाना खाएं – Always Eat Nutrition’s in Food

ऐसा माना जाता है कि ऐसा खाना जिसमें एंटीऑक्सीडेंट्स (anti oxidants) होते हैं फेफरों के लिए फायदेमंद (helpful) होता है। 2011 में की गई एक  खोज (1 research) से पता चला कि वह लोग जो फूलगोभी, ब्रॉकली, बंदगोभी खाते हैं उनमें फेफरों का कैंसर होने की सम्भावना (less possibility of lungs cancer) उन लोगों से काफी कम होती है जो यह चीज़ें नहीं खाते। इन हरी पत्तेदार सब्ज़ियों (green leafy vegetables) में ज्यादा मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट (antioxidants) होते हैं जिसका फेफरों पर रक्षात्मक असर होता है।

  1. काम करते समय फेफरों का बचाव करें – Save Your Lungs While Working

कई काम जैसे निर्माण हो या बालों की स्टाइलिंग (hair styling) हो, इनमें फेफरों पर ख़तरा (danger) बना रहता है। पेंट की भभक, धूल, डीजल निकास सम्भावित (can effect lungs) दोषी हैं। अगर आपका बॉस (your boss) आपको बचाव के लिए साधन (instruments for safety) देता है तो आप इसका इस्तमाल अवश्य (must use them) करें। अगर नहीं तो अपने यूनियन लीडर (union leader) या लोकल एजेंसी (local agency) से संपर्क करें जिनका काम स्वास्थ्य  व्यवस्था (health management) से मिलता जुलता है।

यह भी पढ़ें :- अगर अपने लिवर को रखना है साफ तो खाइये यह फूड

यह भी पढ़ें :- यह 10 सब्जियां है मधुमेह के रोगियों के लिये दवाई के समान

Tips For Healthy Lungs

  1. रेडन के स्तर की जांच कर लें – Check Raiden Gas Level

पृथ्वी तल पर यूरेनियम. (uranium) की खराबी से उत्पन्न होता है एक रेडियोएक्टिव गैस. (radio active gas)  जिसे रेडन कहते हैं। अगर आपके घर की दीवार या नींव में कोई दरार. (crack) है तो वहाँ से यह आपके घर के अंदर. (can enter in your house) घुस सकता है। रेडन से उन लोगों को भी कैंसर होने की सम्भावना. (possibility) होती है जो धूम्रपान. (those not smoking) नहीं करते। अपने घर की जांच. (checkup of house) करवा लें। रेडन  का कोई जाना हुआ सुरक्षित स्तर. (no safety level) नहीं है इसलिए यह जितना कम होगा आपके फेफरों के लिए. (more less more safety) उतना ही अच्छा होगा।

  1. सुरक्षित उत्पाद ही खरीदें – Always Buy Safe Products

कई घर की गतिविधियां. (activities) जैसे सफाई, हॉबी या घर का सुधार में आपके फेफरों के सामने खतरनाक गैस. (dangerous gas) आती हैं। आपको सुरक्षित उत्पाद. (safety kit) लेकर इनसे बचना चाहिए। हमेशा ऐसे क्षेत्र में काम करें जो हवादार. (fresh air) हो और ज़रुरत हो तो डस्ट मास्क .(wear dust mask) पहन लें। उन पेंट का इस्तमाल नहीं करें जो आयल बेस्ड. (don’t use oil based paint) हो बल्कि वाटर बेस्ड पेंट. (use water based paint) का इस्तमाल करें। सफाई करने वाले उत्पाद में भी खतरनाक केमिकल. (dangerous chemicals) जैसे अमोनिया और ब्लीच हो सकते हैं। किसी भी उत्पाद को खरीदने से पहले लेबल. (always check label before buy) ज़रूर पढ़ें।

आयुर्वेदिक उपचार, Tips For Healthy Lungs, घरेलू उपचार, gharelu nuskhe in hindi for health. alternative medicine in hindi, Tips For Healthy Lungs

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *