अगर पीठ दर्द से छुटकारा पाना चाहते है तो इन नुस्खों को आजमाये | Agar back pain se relief chahiye to in nuskho ko aazmaayein

अगर पीठ दर्द से छुटकारा पाना चाहते है तो इन नुस्खों को आजमाये | Agar back pain se relief chahiye to in nuskho ko aazmaayein

पीठ दर्द से छुटकारा – क्या आप पीठ दर्द की वजह से जमीन पर गिरी चीजें (cant pick thing from floor) नहीं उठा पाते? क्या आपको देर तक बैठने में दिक्कत (problem in sitting) होती है? अगर हां तो आपको जरूरत है तुरंत अपने पीठ के दर्द की तरफ ध्यान देने की और इस परेशानी का इलाज ढूंढने की क्योंकि इन सर्दियों में आपकी पीठ का दर्द आपका (back pain in winters goes worst) जीना भी मुहाल कर सकता है। लेकिन घबराइए मत (nothing to afraid) क्योंकि हम आपको बताएंगे कि (we will tell you the home remedies) कैसे आप इस बिन बुलाई बीमारी से आसानी से पीछा छुड़ा सकते हैं।

तेज रफ्तार से बदलती जिंदगी ने सबकी लाइफस्टाइल बदल दी (life style changes and give back pain) और इससे मिला पीठ का दर्द। पीठ का दर्द एक आम समस्या के रूप में देखा जाता है (simple problem) लेकिन शायद आप ये नहीं जानते कि अगर सर्दियों में इसे नजरअंदाज (ignoring it in winters) किया जाए तो ये बड़ी मुसीबत भी बन सकता है।

CLICK HERE TO READ: जानिये के लड़कियों के सामने भद्र पुरुष की तरह कैसे पेश आएं और कैसे उन्हे इम्प्रेस करे

मालूम हो कि रोजमर्रा के काम गलत ढंग से करने से कमर और पीठ का दर्द होता है। एक स्टडी के मुताबिक हर चार में से एक महिला और हर दस में से एक पुरुष कमर दर्द (effected from this problem) से पीड़ित है। जब हम गलत तरीके से लेटते हैं या बैठते हैं, तो संवेदनशील नाड़ियों (delicate veins) और अन्य अंगों पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है (effects badly) और बार-बार या लगातार इसके गलत प्रभाव के कारण पीठ के दर्द की शिकायत हो जाती है। पीठ का दर्द अपने आप में कोई रोग नहीं हैं, बल्कि कई रोगों या गलत आदतों से पैदा हुआ एक लक्षण मात्र है। इसलिए पीठ के दर्द को कभी भी नजर अंदाज (dont ignore back pain) न करें।

पीठ दर्द से छुटकारा

क्यों होता है पीठ का दर्द – What is a back pain

– सीधे न बैठना या चलना (not walking and standing straight)

– जोड़ों का घिस (knees rub down) जाना

– किसी प्रकार की चोट (Cause of injury) लगने के कारण

– अधिक बोझ पीठ (heavy load on back) पर लादकर चलना

– रीढ़ की हड्डी का खिसक (eroding of back bone) जाना

– अधिक मोटापा (fat/obesity)

– कमर में मोच आ जाना, खेलकूद या यात्रा करते समय बार-बार झटके (jerk in traveling) लगना

– बहुत अधिक मानसिक दबाव, तनाव, चिन्ता और थकावट (mental stress, depression)। इससे पीठ की पेशियों में तनाव पैदा हो जता है जो कि पीठ दर्द का कारण बनता है

– व्यायाम की कमी के कारण (lack of exercise)

– ठीक ढंग से न सोना (not sleeping properly), फोम के गद्दे पर सोना व घंटों एक ही जगह बैठे रहना

– संतुलित भोजन के अभाव (lack of balanced diet) में

आमतौर पर उम्र बढ़ने के साथ शुरू होने वाले पीठ दर्द की शिकायत अब 20-40 वर्ष के उम्र में ही लोगों को होने लगी है। डॉक्टरों के अनुसार पीठ दर्द पीठ की मांसपेशियों, डिस्क और लिगमेंट्स से जुड़ी 26 हडि्डयों में से किसी पर भी असर डाल सकता है।

CLICK HERE TO READ: जानिये टाइफाइड बुखार से बचाव के लिए 10 घरेलू इलाज | टाइफाइड के 10 आयुर्वेदिक उपचार

Click here to read:-  10 Common Excuses for not Remaining fit

पीठ दर्द से छुटकारा

पीठ दर्द के लक्षण – Symptoms of back pain

-पीठ के नीचले हिस्से या कमर में लगातार (slight pain on lower portion of body) हल्का-हल्का दर्द होना

-शरीर में बहुत अधिक अकड़न तथा (stiffness and pain) दर्द होता है

-हल्की सी भी चोट लगने पर बहुत तेज दर्द (strong pain) होना

-रोगी के कमर के नीचे के भाग में एक समान दर्द वाली अवस्था (slight pain for always) बनी रहती है

डॉक्टरों की मानें तो आमतौर पर शारीरिक व्यायाम (physical workout) और सही मुद्रा (right posture) का ध्यान रखकर पीठ दर्द की समस्या से छुटकारा पाया (relief from back pain) जा सकता है। लेकिन पीठ दर्द से निपटने के लिए शरीर को उचित पोषण (proper nutrition and diet) मिलना भी जरूरी है। डॉक्टरों की राय में शारीरिक व्यायाम के साथ आहार (exercise and proper diet) का ध्यान रखना भी जरूरी है।

CLICK HERE TO READ: जानिये महिला और पुरुष दोनो कि सेक्स पॉवर बढ़ाने के नुस्खे

Click Here to Buy:- Blue Nectar Ayurvedic Pain Relief Oil For Body, Back, Knee & Legs – 100 Ml

पीठ दर्द से छुटकारा

कैसे पाएं पीठ दर्द से छुटकारा – How to get relief from back pain

-हमेशा सीधे बैठना और चलना चाहिए

-आगे झुकने वाले आसन न करें और ज्यादा दर्द होने पर योग या व्यायाम (dont do yoga if pain is not bearable) न करें

-ज्यादा देर तक लगातार कुर्सी पर (dont sit for long time) न बैठें। आधे-आधे घंटे के अंतराल पर उठकर थोड़ी देर टहल (do light walk after few minutes) लेना चाहिए।

-कोई वजनदार चीज न उठाएं। अगर कभी कुछ वजनदार चीज उठाएं भी तो घुटनों को मोड़कर (bend your knees) उठाएं ताकि कमर पर जोर न पड़े।

-अपने भोजन में मछली, अनाज, लौकी, तिल और हरी सब्जियों (add fish, vegetables and fruit in diet) को शामिल करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

-इसके साथ ही विटामिन डी3 और विटामिन सी, कैल्सियम (calcium) और फास्फोरस (phosphorus) से भरपूर आहार भी पीठ दर्द में लाभकारी होता है।

पीठ में ज्यादा दर्द हो तो व्यक्ति को काम नहीं करना चाहिए और उसे आराम (take rest and dont to work) करना चाहिए। रोगी को ठोस बिस्तरे पर सोना चाहिए (sleep on hard bed) और उस अवस्था में बिल्कुल नहीं सोना चाहिए, जिस अवस्था उसकी रीढ़ की हड्डी मुड़ी रहे। इसके अलावा कभी भी अपनी मर्जी से दर्द निवारक दवाईयां (dont take medicines without consult doctor) न लें। लापरवाही न करते हुए तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

Click Here to Buy:- Oriental Botanics Relaxing Body Massage Oil For Pain Relief in Back, Legs, Arms, Knee, Body – 200ml

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, पीठ दर्द से छुटकारा,back pain in hindi, कमर दर्द, home remedies for back pain in hindi, पीठ दर्द से छुटकारा

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *