Know Who Can Donate Eyes and what is the Process , जानिये कौन-कौन नेत्रदान कर सकता है और क्या है इसका तरीका
Know Who Can Donate Eyes and what is the Process , जानिये कौन-कौन नेत्रदान कर सकता है और क्या है इसका तरीका

Know Who Can Donate Eyes and what is the Process – जानिये कौन-कौन नेत्रदान कर सकता है और क्या है इसका तरीका

Know Who Can Donate Eyes and what is the Process – जानिये कौनकौन नेत्रदान कर सकता है और क्या है इसका तरीका

में हर चीज का नजारा लेने के लिए हमारे पास आंखों का ही सहारा (help of eyes) होता है। लेकिन क्या कभी आपने यह सोचा है कि बिन आंखों के यह (world without eyes) दुनियां कैसी होगी? चारो तरफ अंधेरा ही अंधेरा मालूम (dark everywhere) होगा। दुनियां की सारी खूबसूरती आंखों (beautiful eyes) के बिना कुछ नहीं है। आंखें ना होने का दुख (pain) वही समझ सकता है जिसके पास आंखें नहीं होतीं। लेकिन देश में 12 लाख लोग हर रोज ऐसी (lives like this) जिंदगी जीते हैं।

देश के कई हिस्सों (parts of country) में 25 अगस्त -8 सितंबर के बीच नेत्रदान पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इस दौरान आप अपनी नेत्रदान करने का संकल्प (promise) ले सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि आपको नेत्रदान करने के (where to go for eye donations) लिए कहां जाना होता है? क्या नेत्रदान को लेकर कोई धार्मिक प्रभाव (spiritual effect) भी पड़ता है? नेत्रदान से जुड़े ऐसे ही तमाम (all questions) सवाल हैं, जिनका जवाब आपको (must know the answers) पता होना चाहिए। चलिए जानते हैं क्या-क्या हैं वो सवाल और उनका जवाब।

किसी भी तरह की खांसी और कफ की समस्या से निजात के लिए आसान घरेलू नुस्खे

1) क्या हर कोई नेत्रदान करने की प्रतिज्ञा कर सकता है? –

इस सवाल का जवाब है ‘हां’। कोई भी अपनी आंखों का दान (anyone can donate) कर सकता है। इस मामले में आयु और लिंग को (age or sex) लेकर कोई प्रतिबंध (ban) नहीं है। यहां तक कि जो लोग चश्मा (specs) पहनते हैं और अतीत में मोतियाबिंद सर्जरी (cataract surgery) करते हैं, वे भी दान कर सकते हैं। हालांकि मधुमेह (sugar), उच्च रक्तचाप (high bp) या अस्थमा से पीड़ित लोग ऐसा नहीं कर सकते हैं।

2) कौन लोग नेत्रदान के लिए अयोग्य हैं? –

अगर कोई व्यक्ति किसी भी संचारी रोग से पीड़ित (infected) है, तो वे नेत्रदान नहीं कर सकता है। इसमें एड्स (aids), हेपेटाइटिस बी और सी, रेबीज, सेप्टिसियामिया, ल्यूकेमिया, टेटनस (tetanus), मेनिनजाइटिस, हैजा, और एन्सेफलाइटिस शामिल हैं।

3) क्या कोई परिवार का कोई सदस्य किसी की मृत्यु के बाद उसकी आंखों का दान कर सकता है? –

हां, वो ऐसा कर सकते हैं। बशर्ते वे नजदीकी आई बैंक (nearby eye bank) को तत्काल सूचित करें ताकि आंखों को तत्काल पुनर्प्राप्त किया जा सके और चिकित्सकीय टीम (medical team) पहुंचने तक आंखों को संरक्षित करने के लिए कदम भी उठा सकें।

4) मृत्यु के तुरंत बाद आंखों को सुरक्षित रखने के लिए क्या कर सकते हैं? –

मृतक की आंखों को बंद करें (close the eyes) और उनके ऊपर नमक पास रखें। हटाने के समय खून बहने (bleeding) को कम करने के लिए उसके सिर के नीचे एक तकिया (pillow) रखें। एक पॉलीथीन पैकेट (polythene packet) में बर्फ के टुकड़े रखें (ice cubes) और फिर इसे माथे पर रखें। आंखों के संक्रमण (eye infection) से बाहर रखने के लिए एंटीबायोटिक बूंदों (anti biotic drops) का उपयोग करें, यदि उपलब्ध हो।

5) मृत्यु के बाद दान के लिए आईबॉल की वसूली के लिए क्या कोई समय सीमा है? –

हां। नियम के तहत मौत के बाद जितनी जल्दी हो सके अंगों (body parts) को पुनः प्राप्त करना है। हालांकि हर आई बैंक (limit of eye banks) अपनी समय सीमा निर्धारित कर सकते हैं, औसतन 4-6 घंटे पुनर्प्राप्ति के लिए इष्टतम समय है। इस समय सीमा को 8-12 घंटे तक बढ़ाया जा सकता है, अगर शरीर को एक ठंडे रूम (cold room) रखा जाता है। लेकिन ऐसे मामलों में, आंखें 7 दिनों के भीतर उपयोगिया समाप्त (finishes the usage) कर देती हैं।

आखिर क्यों जरूरत से ज्यादा सोचना है सेहत के लिए नुकसानदेय जानिये 8 कारण

6) दान के बाद कब तक आईबॉल जमा हो सकता है? –

आई बैंकों को डोनेटर (donator) से पुनर्प्राप्ति के 14 दिनों के बाद आंखों को स्टोर (capacity of storing eyes) करने की क्षमता है। लेकिन क्योंकि प्राप्तकर्ताओं की प्रतीक्षा सूची (long waiting list) बहुत लंबी है, दान के बाद 3-4 दिनों के अंदर ऊतकों का उपयोग (use) किया जाता है।

7) क्या पूरी आंख को एक अंधे प्राप्तकर्ता में प्रत्यारोपण के लिए इस्तेमाल किया जाता है? –

नहीं। केवल आंख की कॉर्निया (cornea of eye) प्रत्यारोपण किया जाता है क्योंकि अंधेपन (blindness) के अन्य कारण अपूरणीय होते हैं।

8) यदि केवल कॉर्निया का प्रयोग किया जाता है, तो बाकी के ऊतकों को क्या होता है? –

शेष ऊतकों का उपयोग प्रत्यारोपण के लिए नई तकनीकों के शोध (researching on new techniques) के लिए किया जाता है। जिसमें मोतियाबिंद और रेटिना (retina) के अन्य रोगों के लिए वर्तमान उपचार प्रोटोकॉल के बेहतर विकल्प (better options) शामिल हैं।

9) नेत्रदान करने के लिए कितना खर्च होता है? –

इसके लिए आपको पैसे खर्च करने की (no need to spend money) जरूरत नहीं होती है।

10) क्या कोई कैंसर से पीड़ित व्यक्ति मृत्यु के बाद नेत्त्र्दान कर सकता है? –

नहीं। अगर कैंसर आंखों में उत्पन्न (cancer develops in eyes) हुआ या मेटास्टेसिस के माध्यम (can grow) से फैल गया है।

11) मैंने अपने चश्मे से छुटकारा पाने के लिए लसीक किया था। क्या मैं नेत्रदान कर सकता हूँ? –

हां, आप दान (donate) कर सकते हैं लेकिन केवल अनुसंधान उद्देश्यों के लिए। इसका कारण यह है कि कोई भी कॉर्नियल सर्जरी (corneal surgery) (मोतियाबिंद छोड़कर) ट्रांसप्लांट विफलता की संभावना काफी बढ़ जाती है। इस तरह की आंखों को कॉर्नियल ऑलिनेस को सही करने के लिए इस्तेमाल नहीं (can’t use) किया जाता है।

यह भी पढ़ें :- कु ऐसी सामान्य चीजें जिनका जवाब विज्ञान के पास भी नहीं है

12) कॉर्नियल ट्रांसप्लांट की सफलता दर क्या है? –

सफलता की दर कॉर्नियल असामान्यता के प्रकार पर निर्भर (it depends) करती है जिससे अंधापन हो सकता है। इसे 1, 2, और 5 वर्षों के अंतराल पर प्रत्यारोपित कॉर्निया की स्पष्टता के आधार पर मापा (measure) जाता है। यदि यह कैरेटोकोनस या कॉर्नियल डिस्ट्रोफी है, तो सफलता दर (success rate) पहले वर्ष में 98 फीसदी और 5 वर्षों में 90 फीसदी है। लेकिन पहले वर्ष सफलता दर औसतन 80 से 90 फीसदी है, तो पांच साल में 70-75 फीसदी रहेगी। donate eyes

13) नेत्रदान करने के लिए किससे संपर्क करना चाहिए?

नेत्र दान के लिए साइनिंग (2 times of signing) करने में केवल दो मिनट लगते हैं। इसलिए यदि आप इस महान कार्य (great work) के लिए दान करना चाहते हैं, तो आप किसी भी नजदीकी आई बैंक में नेत्रदान (contact nearby eye bank) कर सकते हैं।

home remedies in hindi, घरेलू उपचार, gharelu nuskhe in hindi for health, घरेलू नुस्खे, alternative medicine in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*