Bitten by Snake, use this natural home remedies to save life – साँप के काटने पर आसानी से बचेगी जान यह है सबसे सस्ता रामबाण घरेलू नुस्खा

Bitten by Snake, use this natural home remedies to save life – साँप के काटने पर आसानी से बचेगी जान यह है सबसे सस्ता रामबाण घरेलू नुस्खा

Friends, आपने देखा होगा कि ज्यादातर लोगों को सांप काटने (Bitten by Snake) के कारण सही इलाज ना होने से उनकी मौत हो जाती है। आपको बता दे कि अगर किसी व्यक्ति को सांप ने काट लिया है, तो जहर को उसके शरीर से सिर (from body to head) तक पहचने मे 3 से 4 घटे का समय लगता है।

दोस्तों कई बार अस्पताल नजदीक (no near hospital) ना होने के कारण भी सांप के काटने से इंसान की मृत्यु (death of a person) हो जाती है। आज हम आपको ऐसे घरेलू उपाय बताएंगे, जिससे सांप के काटने के दौरान आप उपयोग (use) में ला सकते हैं, ताकि आप समय रहते हॉस्पिटल (hospital) तक पहुच सके और उचित उपचार करा सके।

यह भी पढ़ें :- इन 10 खतरनाक बीमारियां से हो सकती है सिर्फ़ 24 घंटे मौत

साँप काटने के प्राथमिक उपचार : First aid in Bitten by Snake

अरहर की दाल : Arhar daal

दोस्तों अगर किसी व्यक्ति को सांप ने काट (bitten by snake) लिया है, तो उसे अरहर की दाल को पीसकर खिलाना चाहिए, जिससे जहर का असर कम (reduce poison effect) हो जाएगा। इसके साथ ही अरहर की दाल पीसकर खिलाने से इंफेक्शन का खतरा (reduce the infection) भी घट जाता है।

बांझ कंटोला फूल : Baanjh Katola Flower

अगर किसी व्यक्ति को सांप ने काट (snake bite) लिया है, तो सांप के काटे हुए जगह पर तुरंत बांझ कंटोला के फूल को पीसकर लगाना चाहिए। इससे जहर का असर (reduce the effect of poison) कम हो जाएगा।

घी : Ghee

जिस व्यक्ति को सांप ने काट (bite by snake) लिया हो उसे तुरंत 100 ग्राम घी खिलाकर उल्टी (vomit) करवानी चाहिए। इसके बाद गुनगुने पानी (warm water) उसे पिला कर 15-16 बार उल्टी करवानी चाहिए।

लहसुन :  Garlic

सांप के काटने वाली जगह पर अगर लहसुन को पीसकर (garlic and honey paste) शहद के साथ मिलाकर काटने वाली जगह पर लगाएं, तो इससे सांप के जहर का असर कम (reduce the effect of poison) हो जाएगा व इंफेक्शन से बचाने के लिए लहसुन मिला शहद व्यक्ति (person) को चटाना भी चाहिए।

तंबाकू : Tobacco

जहां पर सांप काटता है उस जगह पर तंबाकू को पानी (tobacco and water paste) में मिलाकर पेस्ट बनाकर लगाने से भी जहर का असर कम (reduce effect) हो जाता है।

तुलसी : Tulsi

सांप काटे हुए व्यक्ति को तुरंत तुलसी पीसकर खिलाई (tulsi) जाए तो इससे उसका जहर उतर जाएगा।

साँप काटने (Bitten by Snake) का सबसे सस्ता और रामबाण इलाज

Friends सबसे पहले साँपो के बारे मे एक महत्वपूर्ण (important) बात आप ये जान लीजिये ! कि अपने देश भारत मे 550 किस्म के साँप है ! जैसे एक cobra है ,viper है ,karit है ! ऐसी 550 किस्म की साँपो की जातियाँ (breed) हैं ! इनमे से मुश्किल से 10 साँप है जो जहरीले (poisonous) है सिर्फ 10 ! बाकी सब non poisonous है! इसका मतलब ये हुआ 540 साँप ऐसे है जिनके काटने (no harm) से आपको कुछ नहीं होगा !! बिलकुल चिंता (nothing to worry) मत करिए ! लेकिन साँप के काटने का डर (fear of snake) इतना है (हाय साँप ने काट (bite) लिया ) और कि कई बार आदमी heart attack से मर जाता है !जहर से नहीं मरता cardiac arrest से मर जाता है ! तो डर (fear) इतना है मन मे ! तो ये डर निकलना चाहिए !

यह भी पढ़ें :- जानिये 8 संकेत जो बुरा वक्त आने से पहले भगवान हमें देते है

वो डर कैसे निकलेगा ???? How to come out of fear of Bitten by Snake

जब आपको ये पता होगा कि 550 तरह के साँप है उनमे से सिर्फ 10 साँप जहरीले हैं ! जिनके काटने से कोई मरता है ! इनमे से जो सबसे जहरीला साँप (pisnous snake) है उसका नाम है ! russell viper ! उसके बाद है karit इसके बाद है viper और एक है cobra ! king cobra जिसको आप कहते है काला नाग (black cobra) !! ये 4 तो बहुत ही खतरनाक और जहरीले (dangerous and poisonous) है इनमे से किसी ने काट (bite) लिया तो 99 % chances है कि death होगी ! लेकिन अगर आप थोड़ी होशियारी दिखाये तो (Can save patient) आप रोगी को बचा सकते हैं

होशियारी क्या दिखानी है ??? What smartness to show when Bitten by Snake

आपने देखा होगा साँप जब भी काटता है तो उसके दो दाँत (2 teeths) है जिनमे जहर है जो शरीर के मास के (deep inside the skin) अंदर घुस जाते हैं ! और खून मे वो अपना जहर (poison in blood) छोड़ देता है ! तो फिर ये जहर ऊपर की तरफ जाता है ! मान लीजिये हाथ पर साँप ने काट (bite on hand) लिया तो फिर जहर दिल (heart) की तरफ जाएगा उसके बाद पूरे शरीर मे पहुंचेगा ! ऐसे ही अगर पैर पर काट (feet bite) लिया तो फिर ऊपर की और heart तक जाएगा और फिर पूरे शरीर मे पहुंचेगा ! कहीं भी काटेगा तो दिल (go to heart first) तक जाएगा ! और पूरे मे खून मे पूरे शरीर (whole body) मे उसे पहुँचने मे 3 घंटे लगेंगे ! मतलब ये है कि रोगी 3 घंटे तक तो नहीं ही मरेगा ! जब पूरे दिमाग (whole brain) के एक एक हिस्से मे बाकी सब जगह पर जहर (poison) पहुँच जाएगा तभी उसकी death होगी otherwise नहीं होगी ! तो 3 घंटे का time है to save patient और उस तीन घंटे मे अगर आप कुछ कर ले तो (then its good) बहुत अच्छा है !

क्या कर सकते हैं ????? What can we do

घर मे कोई पुराना इंजेक्शन (old injection) हो तो उसे ले और आगे जहां सुई (syringe- needle) लगी होती है वहाँ से काटे ! सुई (needle) जिस पलास्टिक मे फिट होती है उस प्लास्टिक वाले हिस्से (cut that part) को काटे !! जैसे ही आप सुई के पीछे लगे पलास्टिक वाले हिस्से (plastic part) को काटेंगे तो वो injection एक सक्षम पाईप (pipe) की तरह हो जाएगा ! बिलकुल वैसा ही जैसा होली के दिनो मे बच्चो की पिचकारी (childrens pichkari ) होती है ! उसके बाद आप रोगी के शरीर पर जहां साँप ने काटा (bitten by snake) है वो निशान ढूँढे ! बिलकुल आसानी (easily) से मिल जाएगा क्यूंकि जहां साँप काटता है वहाँ कुछ सूजन (swelling) आ जाती है और दो निशान जिन पर हल्का खून (light blood) लगा होता है आपको मिल जाएँगे !

अब आपको वो injection (जिसका सुई वाला हिस्सा आपने काट (cut) दिया है) लेना है और उन दो निशान मे से पहले एक निशान पर रख कर उसको खीचना है ! जैसी आप spot पर injection रखेंगे वो निशान पर चिपक (stick) जाएगा तो उसमे vacuum crate हो जाएगा ! और आप खींचेगे तो खून उस injection मे भर जाएगा ! बिलकुल वैसे ही जैसे बच्चे पिचकारी से (children playing in holi) पानी भरते हैं ! तो आप इंजेक्शन (suck)  से खींचते रहिए ! और आप first time निकलेंगे तो देखेंगे कि उस खून का रंग हल्का blackish होगा या dark होगा तो समझ लीजिये उसमे जहर मिक्स (poison mixed) हो गया है! तो जब तक वो dark और blackish रंग blood निकलता रहे आप खिंचीये ! तो वो सारा निकल (all poison come out) आएगा ! क्यूंकि साँप जो काटता है उसमे जहर ज्यादा नहीं होता है 0.5 मिलीग्राम के आस पास (nearby) होता है क्यूंकि इससे ज्यादा उसके दाँतो (teeths) मे रह ही नहीं सकता ! तो 0.5, 0.6 मिलीग्राम है दो तीन बार मे आपने खीच लिया तो बाहर आ जाएगा ! और जैसे ही बाहर आएगा आप देखेंगे कि रोगी मे कुछ (few changes in patient) बदलाव आ रहा है थोड़ी consciousness (चेतना) आ जाएगी !

साँप काटने से व्यकित unconsciousness हो जाता है या semi consciousness हो जाता है और जहर को बाहर खींचने से चेतना. (conscious) आ जाती है ! consciousness आ गई तो वो मरेगा नहीं! तो ये आप उसके लिए first aid treatment (प्राथमिक सहायता) कर सकते हैं!इसी injection को आप बीच से कट कर दीजिये cut it completely कर दीजिये 50% इधर 50% उधर ! तो आगे का जो छेद है उसका आकार और बढ़ जाएगा (increase the size) और खून और जल्दी से उसमे भरेगा! तो ये आप रोगी के लिए first aid (प्राथमिक सहायता) के लिए ये कर सकते हैं !

Bitten by Snake

यह भी पढ़ें :- 10 बीमारिया जिनका इलाज आज भी खोजना डॉक्टर्स के लिए टेढ़ी खीर है

Click here to read:-  9 Productive Things Which You Can Do While Sitting On Toilet

दूसरा एक medicine आप चाहें तो हमेशा अपने घर (house) मे रख सकते हैं बहुत सस्ती है homeopathy मे आती है ! उसका नाम है NAJA (N A J A ) ! homeopathy medicine है किसी भी homeopathy shop मे आपको मिल जाएगी ! और इसकी potency है 200 ! आप दुकान (shop) पर जाकर कहें NAJA 200 देदो ! तो दुकानदार (shopkeeper) आपको दे देगा ! ये 5 मिलीलीटर आप घर मे खरीद (buy at home) कर रख लीजिएगा 100 लोगो की जान इससे बच जाएगी ! और इसकी कीमत सिर्फ पाँच रुपए (5 rupees) है ! इसकी बोतल भी आती है 100 मिलीग्राम की 70 से 80 रुपए की उससे आप कम से कम 10000 लोगो की जान बचा सकते हैं जिनको साँप ने काटा है ! और ये जो medicine है NAJA ये दुनिया के सबसे खतरनाक साँप. (dangerous snake) का ही poison है जिसको कहते है क्रैक ! इस साँप का poison दुनिया मे सबसे खराब. (worst) माना जाता है ! इसके बारे मे कहते है अगर इसने किसी को काटा तो उसे भगवान ही बचा. (only god can save) सकता है ! medicine भी वहाँ काम नहीं करती उसी का ये poison है लेकिन delusion form मे है तो घबराने की. (nothing to fear) कोई बात नहीं !

आयुर्वेद का सिद्धांत (logic of ayurveda) आप जानते है लोहा लोहे को काटता है तो जब जहर चला जाता है शरीर के अंदर तो दूसरे साँप का जहर (other snakes poision works) ही काम आता है ! तो ये NAJA 200 आप घर मे रख लीजिये !अब देनी कैसे है रोगी को वो आप जान लीजिये ! 1 बूंद उसकी जीभ (tongue) पर रखे और 10 मिनट बाद फिर 1 बूंद रखे और फिर 10 मिनट बाद 1 बूंद रखे !! 3 बार डाल के छोड़ दीजिये !बस इतना काफी है ! ये दवा रोगी की जिंदगी को हमेशा हमेशा. (save life patient forever) के लिए बचा लेगी ! और साँप काटने के एलोपेथी मे जो injection है वो आम अस्पतालों (hospital) मे नहीं मिल पाते ! डाक्टर आपको कहेगा इस अस्पताल मे ले जाओ उसमे ले जाओ आदि आदि !! और जो ये एलोपेथी वालो के पास injection है इसकी कीमत 10 से 15 हजार रुपए है ! और अगर मिल जाएँ तो डाक्टर एक साथ 8 से -10 injection ठोक देता है ! कभी कभी 15 तक ठोक देता है मतलब. (it means) लाख-डेड लाख तो आपका एक बार मे साफ !! और यहाँ सिर्फ 10 रुपए की medicine से आप उसकी जान बचा सकते हैं ! injection जितना effective है मैं इस दवा (NAJA), ये दवा एलोपेथी के injection से 100 गुना. (times) ज्यादा effective है ! तो अंत आप याद रखिए घर (in house) मे किसी को साँप काटे और अगर दवा(NAJA) घर मे न हो ! फटाफट कहीं से injection लेकर first aid (प्राथमिक सहायता) के लिए आप injection वाला उपाय शुरू करे ! और अगर दवा है तो फटाफट पहले दवा पिला (give the medicine first) दे और उधर से injection वाला उपचार भी करते रहे ! दवा injection वाले उपचार से ज्यादा जरूरी है !!

तो ये जानकारी आप हमेशा याद रखे (always remember that) पता नहीं कब काम आ जाएहो सकता है आपके ही जीवन. (life) मे काम आ जाए ! या पड़ोसी के जीवन मे या किसी रिश्तेदार (relative) के काम आ जाए! तो first aid के लिए injection की सुई काटने वाला तरीका और ये NAJA 200 homeopathy दवा ! 10 – 10 मिनट बाद 1 – 1 बूंद तीन बार रोगी की जान बचा सकती है

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *