Reducing Weight Quickly can be Dangerous- सावधान तेजी से वजन घटाना है खतरनाक, जानिये कितना वजन घटाना है सही

Reducing Weight Quickly can be Dangerous- सावधान तेजी से वजन घटाना है खतरनाक, जानिये कितना वजन घटाना है सही

वजन बढ़ना (weight gain) एक गंभीर समस्या है जिससे आपको कई गंभीर रोगों का खतरा (danger of serious diseases) होता है। कुछ लोग एक हफ्ते में पांच किलो वजन कम करने या जो मर्जी खाएं लेकिन वजन घटाएं जैसे उपायों (greed of easy treatment) का लालच देते हैं।

बेशक वजन घटाने के यह शोर्टकट तरीके आकर्षक (shortcuts are attractive) लगते हैं लेकिन इनके चक्कर में फंसकर क्रैश डायट (crash diet) लेने या अन्य उपाय से आपकी सेहत को बड़ा नुकसान (very dangerous) हो सकता है। जाहिर है तेजी से वजन घटाना स्वस्थ नहीं (not healthy) है।

1) मेटाबोलिज्म कम हो सकता है – It can reduce metabolism

अध्ययन (research) बताते हैं कि तेजी से वजन घटाने से आपका मेटाबोलिज्म रेट (metabolism rate) 14 दिनों के भीतर 86 फीसदी तक कम हो सकती है। आपको बता दें कि आपका मेटाबोलिज्म रेट जितना अधिक (more) होगा आप उतनी अधिक कैलोरी बर्न (calorie burn) कर सकते हैं। लेकिन तेजी से वजन घटाने से थायरॉयड हार्मोन (thyroid hormone- टी 3) का उत्पादन कम हो जाता है, जो आपके मेटाबोलिज्म को कंट्रोल (control) करता है। अध्ययनों से पता (research shows) चलता है कि तेजी से वजन घटाने से टी 3 का लेवल 72 फीसदी तक कम हो सकता है और इससे 14 दिनों के भीतर मेटाबोलिक रेट 86 फीसदी तक गिर (can decrease) सकती है। जाहिर है मेटाबोलिज्म रेट कम होने से कम कैलोरी बर्न (burn less calories) होगी आपके वजन घटाने की मेहनत पर पानी फिर जाएगा।

2) त्वचा ढीली हो सकती है- skin can be loosen

आपकी त्वचा में इलास्टिक फाइबर (elastic fiber) होते हैं जो इसे विस्तार और सिकुड़ने (develop or shrink) देते हैं। लेकिन जब आप अपना वजन बहुत तेज़ी कम करते हैं, तो आपकी त्वचा तेज़ी से नहीं सिकुड़ती है (skin shrinking faster) और इसलिए आपको अपनी त्वचा ढीली महसूस (feeling lose) होने लगती है। अनुसंधान (research) से पता चलता है कि लोचदार फाइबर के नुकसान के कारण वजन घटाने वाले लोगों की त्वचा कमजोर (weakens the skin) हो सकती है। इसलिए आपको अपनी त्वचा को ठीक करने के लिए समय देने की (need to give some time) आवश्यकता होती है।

3) मांसपेशियों की हानि- loss of muscles

जब आप एक लंबे समय तक स्वस्थ वजन घटाने (healthy weight loss) की योजना का पालन करते हैं, तो आप अपने वज़न का 75 फीसदी वजन फैट से कम कर्रे हैं। लेकिन जब आप अपने कैलोरी सेवन को न्यूनतम (minimum) करके कैलोरी बर्न करने लगते हैं, तो आपका शरीर आवश्यक ऊर्जा (needed energy) प्राप्त करने के लिए आपकी मसल्स को ब्रेक डाउन (muscle break down) करने लगता है। अनुसंधान से पता चलता है कि तेजी से वज़न कम करने से आपको स्वस्थ तरीके (healthy way) से वजन घटाने की तुलना में लगभग 3 गुणा अधिक मांसपेशियों  (muscles) को खोना पड़ता है।

                   

4) लीवर को नुकसान- loss to liver

तेजी से वजन घटाने से लीवर को नुकसान (bad effect on liver) हो सकता है, यहां तक कि लीवर फेलियर की समस्या (problem of liver failure) भी हो सकती है। शोधकर्ताओं ने कम-कैलोरी की डायट (low calorie diet) लेने के प्रभाव और तेजी से वजन पर अध्ययन (research) किया। उन्होंने पाया कि 24 फीसदी ऐसे लोग जिन्होंने एक हफ्ते में 1।6 किलो से अधिक वजन कम कर लिया था, उनमें अधिक वजन घटाने के कारण फाइब्रोसिस का जोखिम (danger of fibrosis) देखा गया था।

5) दिल पर बुरा असर- bad effect on heart

क्रैश डाइटिंग (crash dieting) और तेजी से वजन घटाने से दिल की धड़कन, हृदय तनाव (stress on heart), और हृदय की अन्य समस्याओं का खतरा (increase the danger) बढ़ जाता है। वैज्ञानिकों (scientists) ने अपने एक अध्ययन में पाया कि तेजी से वजन करने वाले लोगों को एथेरोसलेरोसिस और अन्य प्रकार के हृदय रोग का खतरा (danger of heart problems) अधिक होता है। प्रारंभिक शोध (early research) में यह भी पता चलता है कि अत्यधिक प्रकार की डायट से कोलेस्ट्रॉल लेवल (effects cholesterol level) प्रभावित होता है और दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है।

एक हफ्ते में कितना वजन घटाना सही है?-  Reducing how much weight in a week is good

अधिकतर विशेषज्ञों का सुझाव है कि वजन घटाने के जोखिमों से बचने के लिए आपको प्रति सप्ताह 0.5 किग्रा और 1 किग्रा के बीच वजन घटाएं। यह बेहद धीमी गति से लग सकती है, लेकिन इसका यह भी मतलब होगा कि आप अच्छे से अपना वजन कम रखने की संभावना रखते हैं।

तेजी से वजन घटाने के अन्य दुष्प्रभाव- Bad Effects of Loosing Weight Quickly

तेजी से वजन घटाने के इन गंभीर दुष्प्रभावों (serious bad effects) में आपको थकावट, सिरदर्द, चिड़चिड़ापन (irritation) और चक्कर आना, साथ ही बालों के झड़ने (hair fall) और अनियमित माहवारी जैसे अन्य अल्पकालिक समस्याओं का अनुभव (problem feeling) भी हो सकता है।


 

nuskhe, आयुर्वेदिक उपचार, desi health tips in hindi , gharelu nuskhe in hindi for health, dadimaa ke nuskhe, ayurvedic gharelu upchar in hindi

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *