6 Teeth Problems Growing with the Age- उम्र के साथ बढ़ती है दांतों की यह 6 परेशानियां भी, जानिये

6 Teeth Problems Growing with the Age- उम्र के साथ बढ़ती है दांतों की यह 6 परेशानियां भी, जानिये

उम्र बढ़ने के साथ दांतों में कई तरह की समस्याएं (teeth related problems) होने लगती हैं, इस article में हम आपको दांतों से संबंधित (teeth related) कुछ बातें बताने जा रहे हैं, जो आपको पता होनी चाहिए।

जरूरी है दांतों की देखभाल- teeth care is Important

उम्र बढ़ने के साथ शरीर कमजोर (body getting weak) होने लगता है और कई तरह समस्याएं होने लगती हैं। उम्र बढ़ने (growing AGE) के साथ आंखों की समस्या ज्यादा होती है। इसके अलावा दांत कमजोर (teeth getting weak) होने लगते हैं और अगर ध्यान न दिया जाए, तो दांत गिरने भी लगते हैं। क्या आप जानते हैं दांत हड्डियों (teeth are not made of bones) के नहीं बने होते बल्कि ये कठोर और विभिन्न घनत्व के ऊतकों से बने होते हैं। ये मसूड़ों (connected with gums) से जुड़े होते हैं और देखभाल के अभाव (lack) में कमजोर होने लगते हैं। इसलिए दांतों की देखभाल (very important) बहुत जरूरी है। सांस की बदबू (bad breath) हो या फिर मसूड़ों की समस्या हो, नजरअंदाज (do not ignore) न करें। आइए हम आपको बताते हैं कि उम्र बढ़ने के साथ दांतों से सबंधित (tooth related problems) किन बातों की जानकारी आपको होनी चाहिए।

किसी भी तरह की खांसी और कफ की समस्या से निजात के लिए आसान घरेलू नुस्खे

मुंह स्वास्थ्य और दिल की बीमारियां- mouth health and heart related problems

आप शायद इसके बारे में सोच (you cant even think) नहीं सकते, क्योंकि दांत तो मुंह के अंदर (inside mouth) होते हैं और दिल सीने में। लेकिन यह हकीकत है (reality) कि मुंह संबंधित बीमारियां आपके दिल को भी प्रभावित (can affect your heart) करती हैं। कई शोधों (research) में भी इस बात का खुलास (shows) हो चुका है। मुंह में किसी कारण अगर सूजन (swelling) हो जाए, खासकर दांतों के कारण अगर मसूड़ों (swelling in gums) में सूजन हो, तो यह धमनियों तक फैल जाती है। इसके कारण दिल के दौरे (risk of heart attack) का खतरा बढ़ता है। इसके कारण गठिया और अल्जामइर (Alzheimer) भी हो सकता है।

मुंह सूखने न दें- never leaved mouth dry

मुंह में मौजूद सलाइवा (saliva) दांतों को स्वस्थ और मजबूत रखने में मदद (helps) करता है। लेकिन अगर मुंह सूखा (dry) रहे, तो दांतों और मसूड़ों के बीच मौजूद ये सलाइवा समाप्त हो जाता है, जिसके कारण दांत कमजोर (teeth getting weaker) होने लगते हैं। चूंकि इस समय इंसान कई दवाओं का सेवन (taking medicines) करता है, जिससे मुंह सूखता है। ऐसे में अधिक से अधिक पानी (drink more water) पिएं, खासकर रात में सोते वक्त पानी साथ रखकर सोएं।

अच्छा टूथब्रश प्रयोग करें- use good toothbrush

दांतों को स्वास्थ रखने में टूथब्रश (toothbrush play important role) की भूमिका भी बहुत अहम होती है। टूथब्रश अगर अच्छा हो, तो दांतों की सफाई भी (cleans teeths) अच्छे से होती है, लेकिन अगर खराब गुणवत्ता (bad quality brush) वाला ब्रश हो, तो इससे मसूड़ों को भी समस्या (problem) हो सकती है। इसलिए हमेशा अच्छी गुणवत्ता (good quality brush) वाला ब्रश ही खरीदें।

फ्लोराइड की मात्रा बढ़ाएं- increase the quantity of fluoride

दांतों को स्वस्‍थ रखने और कैविटी से बचाने में फ्लोराइड (fluoride play an important role) की भूमिका बहुत अहम होती है। इसके अलावा फ्लोराइड एनामेल बनाने में भी मदद (helps) करता है। इसलिए फ्लोराइडयुक्त टूथपेस्ट (toothpaste) का प्रयोग करें। फ्लोराइडयुक्त माउथवॉश (mouthwash) भी आता है, आप उनका भी प्रयोग कर सकते हैं।

यह 5 बीमारियां बिना डॉक्टर की सलाह के पैरासीटामॉल दवाई लेने से हो सकती हैं

खानपान का ध्यान रखें- take care of your eating habit

आप जो भी खाते हैं (whatever you eat) दांतों को स्वस्थ रखने में उनकी भूमिका बहुत अहम होती है। आहार में मौजूद विटमिन डी (vitamin D) और कैल्शियम दांतों को मजबूत (strong) बनाता है, इसलिए ऐसे आहार का सेवन करें, जिसमें इनकी मात्रा अधिक हो। इसके अलावा शुगर का (eat less sugar) सेवन कम करें, क्योंकि अधिक शुगर कैविटी का कारण (reason of cavity) बनता है।

डेंटिस्ट के पास जाएं- consult dentist

उम्र चाहे जो हो, नियमित रूप से दांतों की जांच (regular teeth checkup) कराना बहुत जरूरी है। कई बार हमको लगता है कि हमारे दांत मजबूत हैं, लेकिन इसमें मौजूद गंदगी (dust makes teeth weak) धीरे-धीरे इसे कमजोर बना देती है। माउथ कैंसर के लक्षण (symptoms of mouth cancer) मुंह में नहीं दिखाई देते हैं। इसलिए साल में एक बार डेंटिस्ट (dentist) के पास जरूर जाएं और दांतों में किसी तरह की समस्या हो, तो नजरअंदाज (do not ignore) न करें।

nuskhe, आयुर्वेदिक उपचार, desi health tips in hindi , gharelu nuskhe in hindi for health, dadimaa ke nuskhe, ayurvedic gharelu upchar in hindi

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *