Hindu Religion and Science – A Holy Relation, हिन्दू धर्म और विज्ञान- एक पवित्र रिश्ता

Hindu Religion and Science – A Holy Relation- हिन्दू धर्म और विज्ञान- एक पवित्र रिश्ता

Hinduism/ Hindu Dharam ke Kisse kahaniya

Hindu Religion and Science –A Holy Relation- हिन्दू धर्म और विज्ञानएक पवित्र रिश्ता

 

चप्पल बाहर क्यों उतारते हैं – Why to Leave Sleepers Outside

मंदिर में प्रवेश (entry in temple) नंगे पैर ही करना पड़ता है, यह नियम दुनिया के हर हिंदू मंदिर (rule in every hindu temple) में है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण (scientific reason) यह है कि मंदिर की फर्शों (path) का निर्माण पुराने समय से अब तक इस प्रकार किया जाता है कि ये इलेक्ट्रिक और मैग्नैटिक तरंगों (electronic and magnetic waves) का सबसे बड़ा स्त्रोत होती हैं। जब इन पर नंगे पैर (naked feet) चला जाता है तो अधिकतम ऊर्जा पैरों के माध्यम से शरीर में प्रवेश (enters in body)कर जाती है।

यह भी पढ़ें :- जानिये योग से जुड़ी ऐसी बातें है जो आप शायद नहीं जानते

दीपक के ऊपर हाथ घुमाने का वैज्ञानिक कारण – Scientific Reason

आरती (aarti) के बाद सभी लोग दिए पर या कपूर (kapoor) के ऊपर हाथ रखते हैं और उसके बाद सिर (head) से लगाते हैं और आंखों पर स्पर्श (touch on eye) करते हैं। ऐसा करने से हल्के गर्म हाथों से दृष्टि इंद्री सक्रिय (active’s eye sight) हो जाती है और बेहतर महसूस (better feeling) होता है।

मंदिर में घंटा लगाने का कारण – Reasons of Ring Bell in Mandir

जब भी मंदिर में प्रवेश (entry in temple) किया जाता है तो दरवाजे पर घंटा टंगा होता है जिसे बजाना (ring the temple bell) होता है। मुख्य मंदिर (main temple-जहां भगवान की मूर्ति होती है) में भी प्रवेश करते समय घंटा या घंटी बजानी होती है, इसके पीछे कारण यह है (reason behind this) कि इसे बजाने से निकलने वाली आवाज से सात सेकंड तक गूंज (wave for 7 seconds) बनी रहती है जो शरीर के सात हीलिंग सेंटर्स (active healing center of the body) को सक्रिय कर देती है।

भगवान की मूर्ति – God’s Sculpture

मंदिर में भगवान की मूर्ति को गर्भ गृह (in the center) के बिल्कुल बीच में रखा जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस जगह पर सबसे अधिक ऊर्जा होती है (generates more energy) जहां सकारात्मक सोच से खड़े होने पर शरीर में सकारात्मक ऊर्जा (positive energy) पहुंचती है और नकारात्मकता (negativity) दूर भाग जाती है।

परिक्रमा करने के पीछे वैज्ञानिक कारण – Scientific Reason Behind Circuit

हर मुख्य मंदिर (main temple) में दर्शन करने और पूजा करने के बाद परिक्रमा (complete the circuit) करनी होती है। परिक्रमा 8 से 9 बार करनी होती है। जब मंदिर में परिक्रमा की जाती है तो सारी सकारात्मक (positive energy) ऊर्जा, शरीर में प्रवेश (enters in body) कर जाती है और मन को शांति मिलती है।

यह भी पढ़ें :- क्या कहती है आपके घर की रुकी हुई दीवार घड़ी आप से

मूर्ति पर फूल चढ़ाने के कारण – Why to Lay Flowers on Sculpture

भगवान की मूर्ति पर फूल चढ़ाना भी एक (a tradition) परंपरा है। ऐसा करने से मंदिर परिसर (temple area) में अच्छी और भीनी-भीनी सी खुश्बू (smell) आती है। धूपबत्ती , कपूर और फूलों की खुश्बू से सूंघने की शक्ति बढ़ती है (rise in brain power) और मन प्रसन्न हो जाता है।

nuskhe, आयुर्वेदिक उपचार, desi health tips in hindi , gharelu nuskhe in hindi for health, dadimaa ke nuskhe, ayurvedic gharelu upchar in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *