Must do This When you See Someones Funeral Bier Otherwise – झुक कर करें प्रणाम अगर अचानक दिखे अर्थी नही तो

Must do This When you See Someones Funeral Bier Otherwise – झुक कर करें प्रणाम अगर अचानक दिखे अर्थी नही तो

Someones Funeral Bier- जो जीव इस धरती (Earth) पर आया है, उसे एक दिन यहां से जाना ही है। यह प्रकृति का नियम (rule of a nature) है। इतिहास (history) गवाह है बड़े-बड़े महारथी और तपस्वी हुए हैं, जिन्होंने मृत्यु पर विजय पाने का प्रयास (try to win death) किया लेकिन कोई भी सफल (no success) नहीं हो पाया। भगवत गीता (srimad bhagvat geeta) में भगवान कृष्ण (lord Krishna) कहते हैं, “मृत्यु एक ऐसा सत्य है, जिसे टाला नहीं जा सकता। जिसने जन्म (birth) लिया है उसकी मृत्यु (death) निश्चित है।”

वेदों के अनुसार जीवन (life) के चक्र से मुक्ति पाने को मृत्यु कहा जाता है। यह ना किसी को समय से (time) पहले आयी है और ना समय के बाद।

आत्मा के शरीर छोड़ने के बाद हमारा शरीर (our body) पृथ्वी, अग्नि, आकाश, वायु (air) और जल यानी पंचतंत्र में विलीन हो जाता है। हिंदू धर्म (hindu religion) में मृत्यु के बाद, मृत शरीर अंतिम संस्कार के लिए श्मशान (morgue) ले जाया जाता है।

इसके लिए शरीर को सफ़ेद कपड़े से ( white cloth- आदमी और विधवा) को लपेटा जाता है और लाल कपड़े (red cloth) में विवाहित महिला को लपेटा जाता है। फिर उन पर फूल (flower) चढ़ाये जाते हैं। उसके बाद मृतक की अर्थी को चार लोग कंधा (4 people giving shoulder) दे कर शमशान घाट तक ले जाते हैं। इसीलिए हम अक्सर (sometimes) काम पर जाते समय, घर (house) जाते समय, स्कूल (school) जाते समय अर्थी को देखते हैं। लेकिन क्या अर्थी देखना शुभ (lucky) होता है। आइये जानते हैं।

यह भी पढ़ें :- क्या आपको पता है के आपके मरने के बाद आपके साथ होंगी यह पांच अद्भुत चीजें

  1. अंतिम संस्कार के नियम Rules of Cremation

जब भी आप किसी की अर्थी देखे तो हाथ जोड़ कर सर झुकाएं और (bend and pray) प्रणाम करें। इसके साथ शिव शिव का जाप (prayer) करें।

  1. आत्मा हमें सत्व के रूप में देखती है

हिंदू ग्रंथों (hindu spiritual books) के अनुसार मृत्यु के बाद आत्मा शरीर से जुड़ी होती है (soul connected with body) और जो लोग मंत्र का उच्चारण 9mantra) करते हैं उनके किसी भी दर्द, दुःख को अपने साथ ले जाती है।

SEMrush
  1. महत्वपूर्ण अनुष्ठान

मनुस्मृति (manu smriti) में यह उल्लेख है कि व्यक्ति का अंतिम संस्कार उसके गांव (in his/her birth place) में होना चाहिए।

  1. अर्थी के गुजरने ने व्यक्ति क्या करना चाहिए

लोगों को ऐसी सलाह (suggestion) दी जाती है कि अर्थी के समय लोगों को आपस में बात करने के बजाये भगवान् का नाम (take name of god) लेना चाहिए।

  1. आत्मा शुभकामनाएं लाती है Soul Gives Good Luck

अर्थी देखने के वक्त व्यक्ति को अपनी इच्छाओं (think about your wishes) के बारे में सोचना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि आत्मा उन सारी इच्छाओं यमराज (yamraj- king of death) तक पहुँचती हैं।

यह भी पढ़ें :- क्या कहती है आपके घर की रुकी हुई दीवार घड़ी आप से

  1. शिव मंत्र का जाप करें Prayer of Lord Shiva

अर्थी देखने पर व्यक्ति को वहीँ रुक जाना (stop it there) चाहिए और शिव का नाम (name of shiva) ले कर ही आगे बढ़ना चाहिए।

  1. अर्थी देखना होता है शुभ Watching Funeral Bier is Lucky

ज्योतिष के अनुसार (as per astrology) अर्थी देखना शुभ होता है। इससे यह पता चलता है कि आपकी सारी इच्छाएं पूरी होने (all wishes become true) लगेंगी और आने वाले समय में आप सारे दुःखों से मुक्त (relief from all pain) हो जाएंगे।

  1. कंधा देना

अर्थी को कंधा (giving shoulder to bier) देना हिंदू धर्म में अच्छा माना गया है इसे पूजा में किये गए यज्ञ के बराबर (equals to yagya) माना जाता है।

घरेलू नुस्खे , home remedies in hindi, herbal medicine in hindi, natural remedies in hindi, Someones Funeral Bier, alternative medicine in hindi, natural medicine in hindi

Loading...

Loading...
, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *