Health Treasure is Hiding in Saliva- सेहत का खजाना छिपा होता है मुंह की लार में

Health Treasure is Hiding in Saliva- सेहत का खजाना छिपा होता है मुंह की लार में

रात में सोने से पहले दांतों को साफ (clean teeth before sleep) करके सोएं और सुबह उठकर बिना कुल्ला (without gargle) किये थूक का प्रयोग करें …..ये मुंह की लार हमारे शरीर के (great for body) सर्वोत्तम है। शायद आपको यह बात सुनकर (listen) घिन आ रही होगी! लेकिन क्‍या आप जानते हैं (did you know) कि मुंह में बनने वाली लार हमारी सेहत के लिए (good for health) कितनी फायदेमंद है इस बारे में हम कभी ध्यान (we never care) ही नहीं देते। लेकिन अगर शरीर में इसकी कमी (lack of saliva) हो जाए तो मुंह का स्वाद बरकरार (maintain the taste) रखने से लेकर कई तरह की बीमारियां और संक्रमण का खतरा (danger of infection) हो सकता है। साथ ही यह आपको कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं  (health related problem) से बचाए रखने में मददगार होती है।

यह भी पढ़ें :- जानिये पेट की मालिश के सेहत के लिए यह 9 फायदे

मुंह की लार यानी सेहत का खजाना – Mouth Saliva is a Treasure of Health

जी हां मुंह की लार एंटीसेप्टिक (antiseptic) होती है। वह रोगों की सबसे अच्‍छी दवा हैं, जो आपको फ्री (available free) में मिलती हैं। जिसके असंतुलन (imbalance) के कारण ही आज व्यक्ति कई रोगों से ग्रस्त है। जबकि किसी भी स्वस्थ व्यक्ति (healthy person) के मुंह में प्रतिदिन 1000 से 1500 मिलीलटर लार बनती है जो मुंह में मौजूद कैविटी (Cavity), हानिकारक बैक्टीरिया और बारीक भोजन (food particles) के कणों को साफ करने में मदद करती है। लार में ‘सलाइवा पैरोटिड ग्लैंड हार्मोन’ (एसपीजीएच) पाया जाता है जो त्वचा से उम्र के प्रभावों को कम (reduce skin age) करते है और आप लंबे समय तक युवा (young) दिख सकते हैं। साथ ही लार में लाइसोजाइम नामक एंटी-बैक्टीरियल तत्व (anti bacterial elements) और इम्यून प्रोटीन ‘ए’ होते हैं जो मसूड़े और गले को कई प्रकार के हनिकारक इंफेक्‍शन (dangerous infection) से बचाते हैं। आइए जानें फ्री में मिलने वाली यह दवा (free medicine) हमारे लिए कैसे फायदेमंद (beneficial) हैं।

आंखों के लिए अनमोल है मुंह की लार – Mouth Saliva is Precious for eyes

अगर आप आंखों के नीचे काले घेरे (black spot below eyes) से परेशान हैं तो सुबह मुंह की लार से धीरे-धीरे मालिश (massage) करें। कुछ ही दिनों में काले घेरे दूर हो जाएंगे। साथ सुबह की लार काजल की तरह आंखों (use saliva as kajal) में लगाने से, आंखों की रोशनी बढ़ती है। और चश्मा (spectacles) तक उतर जाता है। इसके अलावा यह कंजक्टिवाइटिस की समस्‍या (problems) को दूर करने में भी मदद (help) करती है। कंजक्टिवाइटिस में आंखें लाल (red eyes) हो जाती है। आंखों में काफी दर्द (pain) होता है और जलन के साथ खुजलाहट (itching) भी रहती है। आंखों से पानी (water) आता रहता है। और आंखों में कीचड़ (wastage dust) भी जमा होता रहता है। लेकिन अगर आप सुबह की लार अपनी आंखों (saliva in eyes) में लगाएंगे तो 24 घंटे के भीतर आपकी आंखे ठीक हो जाती है।

SEMrush

त्वचा के लिए गुणकारी – Beneficial For Skin

किसी भी प्रकार का दाद हो, उस पर सुबह उठकर बिना मुहं धोये (without washing mouth) मुहं का लार लगाने से पुराने से पुराना दाद भी ठीक हो जाता है। साथ ही एक्जिमा, अन्‍य फोडे फुन्‍सी, मुंहासे ठीक करने में भी सुबह की लार (use morning saliva)का उपयोग किया जाता है। शरीर में होने वाले फोडे-फुन्सियों या घाव के पश्‍चात जो दाग (spot) शेष रह जाते है उनको दूर करने में भी सुबह की लार बहुत (very effective) काम आती है। शरीर में कही कट (cut on skin) छिल गया हो, अथवा कोई घाव (injury) हो गया हो तो भी उसके लिए सुबह की लार बहुत फायदा करती है। यहां तक की डायबिटीज के रोगियों (diabetes patients) के घाव पर भी रामबाण की तरह काम करती है।

पेट के लिए बेहद लाभदायक – Beneficial for Stomach

कहते हैं सुबह की लार पेट के लिए बेहद  (effective for stomach) लाभदायक होती है। इसमें टायलिन नामक एंजाइम (enzyme) पाया जाता है जो हमारी पाचन क्रिया (improves digestion system) को दुरुस्‍त रखती है। जब आप पानी पीते हैं (drinking water) तो रात भर मुंह में जमा लार पानी के साथ आपके पेट के अंदर (inside stomach) जाती है। जो पेट के लिए काफी फायदेमंद (helpful) साबित होती है। अगर आपका पेट अच्छा (stomach good) रहेगा तो और सब भी अच्छा, इसलिए सुबह की लार बेहद (very precious0 कीमती है। इसे यूं ही बर्बाद (do not waste) ना करें।

यह भी पढ़ें :- रोज़ काम सकने वाले सदाबहार पुराने नुस्खे

दांतों की रक्षा और सांसों की बदबू से छुटकारा – Teeth Safety and Rid of Bad Breathe

लार में सोडियन (sodium), पोटैशियम, फॉस्फेट, कैल्शियम (calcium), प्रोटीन, ग्लूकोज जैसे तत्व होते हैं जो दांतों को मजबूत (makes teeth strong) बनाते हैं। इसमें मौजूद एंटीबॉडीज (anti bodies) दांतों को हानिकारक संक्रमणों से बचाते हैं जिससे दांत सड़ते नहीं। यह दांतों पर सुरक्षा कवच (safety layer) की तरह काम करती है। कई बार मुंह में लार कम बनने से भी सांसों से बदबू (problem of bad breath) की समस्या हो सकती है। मुंह में रह गए भोजन के कण और बैक्टीरिया कई बार इन्फेक्शन पैदा कर देते हैं जिससे भी सांसों से बदबू आती है। लार इन कणों और बैक्टीरिया (bacteria) को खत्म करने में मदद करती है।

इस तरह मुंह की लार से हम मुफ्त में कई बीमारियों (treatment of diseases in free) का इलाज कर सकते है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण (scientific reason) यह है कि इस  लार में वो सभी 18 तत्‍व पाये जाते है जो मिट्टी (sand) में पाए जाते है। लेकिन बहुत अफसोस की बात हैं कि आज मनुष्य खुद ही अपना दुश्मन (enemy) बनता जा रहा है। वह धूम्रपान (smoking) और नशीले पदार्थों के चलते लार को खत्म (finishes) करता जा रहा है। लार दूषित होने से, बाहर थूकने (spit) और मुंह सूखने जैसी तीन स्थितियों के कारण खत्म होती है। धूम्रपान से लार दूषित (polluted) हो जाती है और असर नहीं करती। जर्दा, पान अन्य पदार्थ (other bad products) से बार-बार थूकने से लार जरूरत से ज्यादा (comes out more then needed) बाहर निकलती है। वहीं तीसरा ड्रग आदि के प्रयोग से मुंह सूख (dry mouth) जाता है और लार नहीं रहती। इसलिए लार को बचाने के लिए आपको इन सब आदतों (leave this habits) को भी छोड़ना होगा।

घरेलू नुस्खे , home remedies in hindi, herbal medicine in hindi, natural remedies in hindi, alternative medicine in hindi, natural medicine in hindi

Loading...

Loading...
, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *