महिमा राम नाम की , Mahima Ram Naam ki

महिमा राम नाम की – Mahima Ram Naam ki

एक आदमी बर्फ बनाने वली कम्पनी (ice making factory) में काम करता था

एक दिन कारखाना बन्द (factory closing) होने से पहले अकेला फ्रिज (fridge) करने वाले कमरे का चक्कर (round) लगाने गया तो गलती से दरवाजा (door close by mistake) बंद हो गया

और वह अंदर बर्फ वाले हिस्से में फंस (stuck in the ice making cabin) गया छुट्टी का वक़्त था और सब काम करने वाले लोग घर (house) जा रहे थे

 किसी ने भी (no one) अधिक ध्यान नहीं दिया की कोई अंदर (stuck inside) फंस गया है।

मां बनने के बाद एक साल में यह बदलाव आते है ब्रेस्ट मिल्क में

एसिडिटी और सीने की जलन से छुटकारा पाने के लिये करें यह 10 बदलाव

वह समझ गया की दो-तीन घंटे बाद उसका शरीर बर्फ (his body become ice) बन जाएगा अब जब मौत सामने नजर (can see his death) आने लगी तो

भगवान (good) को सच्चे मन से याद (remember) करने लगा।

अपने कर्मों की क्षमा (sorry) मांगने लगा और भगवान से कहा कि प्रह्लाद को तुमने अग्नि (Save from fire) से बचाया, अहिल्या को पत्थर (stone) से नारि बनाया, शबरी के जुठे बेर खाकर उसे स्वर्ग (place in heaven) में स्थान दिया।

प्रभु अगर मैंने जिंदगी (life) में कोई एक काम भी मानवता व धर्म (humanity and religious work) का किया है तो तूम मुझे यहाँ से बाहर निकालो।

मेरे बीवी बच्चे (my family waiting for me) मेरा इंतज़ार कर रहे होंगे। उनका पेट पालने वाला इस दुनिया में ( I am the only one for them) सिर्फ मैं ही हूँ।

मैं पुरे जीवन आपके इस उपकार को याद रखूंगा (remember you always) और इतना कहते कहते उसकी आंखों से आंसू  (tears in his eyes) निकलने लगे।

एक घंटे ही गुजरे थे कि अचानक फ़्रीजर रूम (freezer room) में खट खट की (knock) आवाज हुई।

                   

दरवाजा खुला चौकीदार (security guard) भागता हुआ आया।

उस आदमी को उठाकर बाहर निकाला और  गर्म हीटर (near heater) के पास ले गया।

उसकी हालत (situation) कुछ देर बाद ठीक हुई तो उसने चौकीदार से पूछा, आप अंदर (how you come in) कैसे आए?

चौकीदार (security guard says) बोला कि साहब मैं 20 साल से यहां काम कर रहा हूं। इस कारखाने (factory) में काम करते हुए हर रोज सैकड़ों मजदूर (hundreds of workers) और ऑफिसर (officers) कारखाने में आते जाते हैं।

मैं देखता हूं लेकिन आप उन कुछ लोगों में से हो, जो जब भी कारखाने में आते हो तो मुझसे हंस (smile and wising me) कर *राम राम* करते हो

और हालचाल पूछते (asking about well being) हो और निकलते हुए आपका *राम राम काका* कहना मेरी सारे दिन की थकावट (remove all fatigue in me) दूर कर देता है।

जबकि अक्सर लोग (mostly peoples) मेरे पास से यूं गुजर जाते हैं कि जैसे मैं हूं (I am no one) ही नहीं।

यह भी पढ़ें :- आपका किचन चमकेगा इन 7 नुस्खों से

यह भी पढ़ें :- बहु कैसे बनाए अपनी सास से मधुर संबन्ध, जानिये इस लेख में

आज हर दिनों की तरह मैंने आपका आते हुए अभिवादन (welcome) तो सुना लेकिन *राम राम काका* सुनने के लिए इंतज़ार (waiting) करता रहा।

जब ज्यादा देर (late) हो गई तो मैं आपको तलाश (search) करने चल पड़ा कि कहीं आप किसी मुश्किल (stuck in problem) में ना फंसे हो।

वह आदमी हैरान (surprised) हो गया कि किसी को हंसकर *राम राम* कहने जैसे छोटे काम की वजह से आज उसकी जान(his life saved)  बच गई।

*राम कहने से तर जाओगे*

_*आप सभी को दिलसे राम राम*_ RAM RAM to all from deep inside of my heart and soul.

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, gharelu nuskhe in hindi for health, alternative medicine in hindi

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *