Jaaniye kuch home remedies gallbladder stone se relief ke liye.

जानिये कुछ प्राकृतिक उपचार पित्त की पथरी से छुटकारा पाने के | Jaaniye kuch home remedies gallbladder stone se relief ke liye.

Pathri - Stone ke Nuskhe

जानिये कुछ प्राकृतिक उपचार पित्त की पथरी से छुटकारा पाने के | Jaaniye kuch home remedies gallbladder stone se relief ke liye.

हमारे शरीर में पित्‍त पथरी के बनने के कई कारण (so many reasons) होते हैं। अगर इनका सही से इलाज नहीं किया जाता है तो ये बड़ी मुसीबत का कारण (it can be a big problem) बन जाती है। इनसे छुटकारा पाने के कुछ प्राकृतिक तरीके (natural remedies) इस प्रकार है।

गालस्‍टोन यानि पित्‍त पथरी, पित्‍ताशय की थैली या पित्‍त नली में बनती है जब कुछ कठोर पदार्थ इन जगहों पर एकत्रित (hard things collected here) हो जाते हैं। गालस्‍टोन दो प्रकार के होते हैं: कोलेस्‍ट्रॉल गालस्‍टोन (cholesterol gallstone) और पिग्‍मेंट गालस्‍टोन (pigment gallstone)।

कोलेस्‍ट्रॉल गालस्‍टोन में 80 प्रतिशत स्‍टोन होता है और यह रंग में पीलापन (yellow in color) लिए हुए होता है। पिग्‍मेंट गालस्‍टोन का रंग गहरा (dark color) होता है और यह बिलीरूबिन से मिलकर बना होता है

महिलाओं में गालस्‍टोन की समस्‍या पुरूषों की अपेक्षा ज्‍यादा होती है। इससे संक्रमण (infection) हो सकता है जिसे एंटीबायोटिक की मदद से दूर (with the help of antibiotic) किया जा सकता है लेकिन प्राकृतिक उपचार, गालस्‍टोन को हटाने में मददगार साबित (helpful) हो सकते हैं। गालस्‍टोन से छुटकारा पाने के लिए प्राकृतिक उपचारों का वर्णन करने से पहले, पित्‍त की पथरी के निर्माण में जोखिम कारकों को समझना (need to understand the danger before treatment) जरूरी होता है।

CLICK HERE TO READ: हर तरह की पथरी के रामबाण घरेलू नुस्खे

CLICK HERE TO READ: आइए आज लुत्फ ले घर की बनी मसालेदार मैगी का

भोजन में संतृप्‍त कैलोरी (more calories) और रिफाइंड सुगर (refined sugar) और कम फाइबर (less fiber) की वजह से गालस्‍टोन बन जाता है। कई बार वजन की अधिकता या तेजी से वजन में कमी भी इसके बनने का कारण हो सकता है।

यहां तककि उच्‍च बीएमआई (high BMI) भी गालस्‍टोन के निर्माण का कारण हो सकता है। वजन का तेजी से कम होना, कैलोस्‍ट्रॉल को बाइल यानि पित्‍त में बदल देता है (converted cholesterol into bile) और इससे स्‍टोन बनने लगता है।

कुछ विधियां ऐसी होती हैं जिनसे वजन को एकदम से कम कर दिया जाता है जैसे – वजन घटाने की सर्जरी (weight reduce surgery) या कम कैलोरी वाली खुराक (low calorie diet) आदि। ऐसे में भी ये दिक्‍कत (problem) आ जाती है। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि अपनी खुराक के साथ एकदम से छेड़छाड़ न करें। थोड़ा सा धीरे-धीरे (do changes slowly slowly)बदलाव लाएं।

अगर आप एप्‍पल सिडर (apple cider vinegar) यानि सेब का सिरका पी सकते हैं तो बेहतर होगा। वैसे सेब का जूस भी फायदा (apple juice is also good) करता है साथ ही इससे होने वाला दर्द भी कम (also reduces pain) हो जाता है। सेब का सिरका, शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा को कम कर देता है (reduces cholesterol in body) जो कि लिवर से बनता है।

CLICK HERE TO READ: सावधान, क्या आपको पता है के फ्रीज में रखा आटा भूतप्रेत को बुलाता है

CLICK HERE TO READ: महिलाओं में बांझपन दूर कर गर्भ धारण करने के 4 सरल घरेलु नुस्खे

इसके अलावा, आप सब्जियों का जूस भी पी सकते हैं (vegetable juice) जिसमें कई सब्जियों को एक साथ काटकर पीस लें और उनका जूस नींबू का रस (add lemon juice also in juice) डालकर पी लें।

अरंडी के तेल को अपने पेट पर मल (do massage on stomach) लें, इससे काफी आराम मिलता है, खासकर उस स्‍थान पर जहां पथरी हो। सबसे जरूरी यह होता है कि अपनी जीवनशैली को (better to change your lifestyle) बेहतर बनाएं। प्राकृतिक पदार्थों का सेवन करें (eat natural products) , जंक और फास्‍ट फूड से दूरी (avoid junk and fast food) बनाएं। इससे आपको पित्‍त पथरी में काफी राहत मिलेगी।

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, dadi maa ke nuskhe in hindi, gharelu nukshe in hindi, ayurvedic gharelu upchar in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *