मानसिक रूप से मजबूत लोग ये 10 गल्तियां कभी भी नहीं करते | Mentally strong log yeh 10 mistake kabhi nahi karte

मानसिक रूप से मजबूत लोग ये 10 गल्तियां कभी भी नहीं करते | Mentally strong log yeh 10 mistake kabhi nahi karte

हर किसी की लाइफ में वह दिन जरुर आता है, जब उसे मानसिक रूप से मजबूत बन कर अपनी जिंदगी का कोई बड़ा फैसला (taking big decision of his life) लेना पड़ता है। जो लोग मानसिक रूप से मजबूत (done by mentally strong persons) होते हैं, वे अपनी भावनाओं (feelings), विचारों (thoughts) और व्यवहार (behavior) को अच्‍छी तरह से काबू में रखना जानते हैं।

आज की इस दुनिया में जहां लोग काम निकलवाने के लिये दूसरे का इमोशनल ब्‍लैकमेल (emotional blackmail) करते हैं, अगर व्‍यक्‍ति मानसिक रूप से मजबूत ना हो तो, जीना दूभर हो जाएगा। रिलेशनशिप (relationship) हो या फिर जॉब (job) की परेशानी, आप कितने ज्‍यादा मानसिक रूप से मजबूत हैं, यह बताता है कि आप जिंदगी में कैसे जी पाएंगे।

जिंदगी में कोई भी परेशानी क्‍यूं ना आए, मगर जो लोग मानसिक रूप से मजबूत होते हैं, वे परेशानियों को नए लेंस से (they know how to handle the problem) देखना जानते हैं। तभी तो उनकी लाइफ बिल्‍कुल स्‍मूथ (living smooth life) रहती है और वे ही सफलता की सीढियां भी चढ़ते हैं।

तो दोस्‍तों जानिये कि मानसिक रूप से मजबूत लोग किन-किन गल्‍तियों को करने से बचते हैं।

यह भी पढ़ें :-  Regular Sex करने से ही पता चल सकते हैं यह 17 Facts

वे खुद की मजबूरी पर रोते नहीं – Weh khud ki majboori par rote nahi

मेंटली मजबूत लोग अकेले बैठ कर ना तो पछताते हैं (not feeling guilty) और ना ही अपनी मजबूरी पर रोते हैं। वे जानते हैं कि जिंदगी में आसान नहीं होती (life is no easy) इसलिये वे अपनी जिंदगी की जिम्‍मेदारी (take their life’s responsibility itself) खुद उठाना सीखते हैं।

वे अपनी ताकत आसानी से नहीं देते – Weh apni taakt asaaani se nahi dete

वे दूसरों को अपनी जिंदगी कंट्रोल नहीं करने देते (not giving life control to other person) और ना ही वे अपनी शक्‍ति को दूसरों के हाथों में देते हैं। वह यह नहीं कहते फिरते कि मेरा बॉस (my boss) मुझे अच्‍छा महसूस नहीं करवा रहा है, क्‍योंकि वे जानते हैं कि उनकी पावर (without his power) के बिना उनकी भावना को कोई ठेस (no one can insult him) भी नहीं पहुंचा सकता।

वे बदलाव से घबराते नहीं – Weh changes se darte nahi

मानसिक रूप से मजबूत लोग किसी भी प्रकार के परिवर्तन से बचने की कोशिश (not fear of change in life) नहीं करते। इसके बजाय, वे सकारात्मक बदलाव का स्वागत (welcomes positive change) करते हैं और उसे अपनाने को तैयार रहते हैं। वे समझते हैं कि बदलाव अपरिहार्य है (change is Indispensable) और उनकी क्षमता को अनुकूल करने के लिए में विश्वास (strengthen themselves as per changes) करते हैं।

वे अपनी एनर्जी को बरबाद नहीं करते – Weh apni energy ko narbaad nahi karte

जो चीज़ वे बदल नहीं सकते, उसके पीछे वह अपनी एनर्जी को बरबाद (not wasting energy on stupid things) नहीं करते। वहीं वे अपनी एनर्जी को दूसरी जगह पर लगाते हैं।

वे हर किसी को खुश करना जरुरी नहीं समझते – Weh har kisi ko khush rakhna jaroori nahi samajhte

वे हर समय हर किसी को खुश करना जरुरी नहीं समझते। उन्‍हें ना कहने से डर नहीं लगता (not fear of saying NO to anyone) या फिर वे तब बोलते हैं जब जरुरी होता है।

वे अपने पास्‍ट में जीना पसंद नहीं करते – Weh  past mein jena pasand nahi karte

ऐसे लोग अपना समय पुरानी बातों में वेस्‍ट (not wasting time on old life) नहीं करते। वे अगर उसे याद भी करते हैं, तो उससे केवल सीख लेने के लिये (they remember old time for knowledge only) याद करते हैं। वे आज में जीना पसंद करते हैं (living in present) और आगे के लिये प्‍लान (plan) बनाते हैं।

वे एक ही गलती को बार-बार नहीं दोहराते – Weh ek hi mistake baar baar nahi karte

वे अपनी पिछली गलतियों से सीखते (learn from old mistakes)  हैं। नतीजतन, वे उससे सबक लेते हैं, आगे बढ़ते हैं और भविष्य में बेहतर निर्णय (make future better) लेते हैं।

जानिये किस प्रकार लंबे समय तक बैठने से 4% लोगो कि मौत हो रही है दुनिया में और इस से कैसे बचे

वे दूसरों से जलते नहीं – Weh dusro se jealous nahi hote

वे दूसरों की सफलता से खुश हो कर उनके साथ मिल कर जश्‍न (enjoying with other persons success) मानते हैं। उनका मानना है कि सफलता केवल कड़ी महनत (success comes from hard work only) से मिलती है।

वे एक हार के बाद निराश नहीं होते – Weh ek haar ke baad niraash nahi hote

रास्ते में आने वाली कठिनाई से विफल होकर वो अपना रस्ता नहीं बदलते (not changing their way from some problems) बल्कि इसको एक मौका समज कर उससे सीखते हैं। वो बार-बार उस कठिनाई का सामना करते हैं जबतक वो कठिनाई को पार नही कर देते।

वे दुनिया से कुछ अपेक्षा नहीं रखते – Weh duniya se apeksha nahi rakhte

वे नहीं चाहते कि किसी भी काम को करने के बाद दुनिया उन्‍हें सर आंखों पर बैठाये या धन्‍यवाद (they don’t waste time on peoples to thanks him or love him) बोले। इसके बजाय वे अपनी योग्यता के आधार पर आधारित अवसरों (they are always searching for other challenges in life) को खोजते हैं।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, dadi maa ke nuskhe in hindi,gharelu nukshe in hindi,Body Language tips in hindi, personality development in hindi, attitude status in hindi

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *