जानिये सर्दियों में कैसे करे एक-दो साल से कम उम्र के शिशु की देखभाल | Jaaniye sardiyo mein kaise kare 1-2 saal se kam age ke bacho ki dekhbhaal.

Baccho/ Childrens - Kids ke Liye Nuskhe

जानिये सर्दियों में कैसे करे एक-दो साल से कम उम्र के शिशु की देखभाल |  Jaaniye sardiyo mein kaise kare 1-2 saal se kam age ke bacho ki dekhbhaal.

 

आपके एक-दो साल तक के बच्चे को ऐसे मौसम में एक्स्ट्रा केयर (need extra care in this season) की जरूरत होती है। सही देखभाल न मिले तो बच्चे की नाजुक स्किन (delicate skin) और उसकी हेल्थ पर भी बुरा असर (bad impression on children’s health) पड़ सकता है। आपका बच्चा ठंड लगने से बीमार भी हो सकता है।

सर्दियों का मौसम आपकी नन्ही सी जान के लिए कई परेशानियां (create so many problems) लेकर आता है। आपके एक-दो साल तक के बच्चे को ऐसे मौसम में एक्स्ट्रा केयर की जरूरत होती है।

शिशु के नाजुक शरीर को मौसम के साथ तालमेल (need some time to mixup with climate changes and temperature) बैठाने में थोड़ी मुश्किल होती है। ऐसे में फिक्र न करें बस (don’t get tense) यहां बताई जा रही कुछ बातों का ध्यान रखें (read few tips about healthcare of your child) और आपकी नन्ही सी जान सर्दियों में भी सुरक्षित रहेगी।

यह भी पढ़ें :- Chhote baccho ke naye daant aate samay rakhe yeh saavdhaniya

यह भी पढ़ें :- वक्त रहते कर ले पीरियड्स की गड़बड़ी का इलाज, जानिये कुछ नुस्खे इस तकलीफ को दूर् करने के लिए

गर्म कपड़े पहनाएं : Garam kapde Pehne

मौसम और कमरे के तापमान के अनुसार बच्चे को कपड़े पहनाएं। ध्यान रखें कि बच्चे को सही गर्माहट मिलना बहुत जरूरी है। अगर बच्चे को बाहर ले जा रहे हैं तो उसे लेयर में गर्म कपड़े पहनाएं।

गुनगुने पानी से नहलाएं :Gungune Paani se Nahlaye

सर्दियों में बच्चे की त्वचा (skin) में खुजली (itching) और सूखापन (dryness) जैसी समस्याएं आ सकती हैं। डॉक्टर की सलाह मानें तो बच्चे को 10 मिनट से ज्यादा नहलाने से बचें। ध्यान रखें कि नहलाने के लिए गुनगुने पानी (use warm water for child bath) का ही उपयोग करें।

जरूरी है मॉइस्चराइजिंग : Moisturizing is important

एक-दो साल से कम उम्र के बच्चों की स्किन को भी नमी की (need moisture for skin) जरूरत होती है। नहलाने के बाद बच्चे की स्किन को मॉइस्चराइज करना बेहद (very important) जरूरी है। इसके लिए बच्चे के शरीर को हल्के से पोंछ कर उस पर मॉइस्चराइजर या ऑइनमेंट लगाएं। इससे बच्चे की त्वचा सॉफ्ट (soft skin) बनी रहेगी।

न करें भारी कंबल का उपयोग : Don’t use heavy blankets

एक शोध (1 research) में पाया गया है कि रात के समय  बच्चे को कंबल से ढ़कनें से उसमें SIDS यानी अचानक शिशु मृत्यु सिंड्रोम (fear of child death syndrome) का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए  सोते समय  बच्चे को भारी कंबल (don’t give heavy blanket to children’s) से कभी न ढकें। इसके बजाए बच्चे को गर्म कपड़े पहनाकर सुलाएं।

जांच लें कमरे का तापमान : Check room temperature

सर्दियों में जरूरी है कि आपके बच्चे के शरीर को सही गर्माहट (proper temperature) मिले। ऐसे में बाहर के तापमान को देखते हुए अपने कमरे के तापमान को सामान्य (control normal temperature at home) बनाए रखें। रात में सभी खिड़की और दरवाजे बंद (close windows and door in nights) करके ही सोएं। ताकि आपके बच्चे को ठंड न लगे।

यह भी पढ़ें :- जानिये बच्चों के पेट के कीड़े खत्म करने के कुछ घरेलू नुस्खे

जरूरी है मसाज : Massage is important

सर्दियों में बच्चे को अच्छी मसाज न सिर्फ उसके शरीर को गर्माहट देकर उसे स्वस्थ (massage maintains the health of your child) रखती है बल्कि मसाज से बच्चे की स्किन भी हेल्दी (healthy skin) होती है। मसाज के लिए बादाम (almond) या नारियल (coconut) का तेल ही यूज करें।

ज्यादा बेबी प्रोडक्ट न करें इस्तेमाल : Don’t use too much baby products

आपके एक साल के मासूम के लिए ज्यादा बेबी प्रोडक्ट इस्तेमाल करना नुकसानदायक साबित (very dangerous) हो सकता है। बच्चे की स्किन के लिए माइल्ड साबुन (mild soap) और शैंपू (shampoo) का ही इस्तेमाल करें, जो कि उसे इचिंग और रूखेपन (itching and dryness) से भी बचाए रखेगा।

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, आयुर्वेदिक उपचार, दादी माँ के नुस्खे , घरेलू नुस्खे,baby health in hindi, baby care in hindi, child care in hindi

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *