मेहंदी केवल खूबसूरती के लिए ही नहीं, सेहत के लिए भी है बहुत ही फायदेमंद | Mehandi kewal khoobsurati ke liye hi nahi, sehat ke liye bhi hai bahut hi faaydemand

मेहंदी केवल खूबसूरती के लिए ही नहीं, सेहत के लिए भी है बहुत ही फायदेमंद | Mehandi kewal khoobsurati ke liye hi nahi, sehat ke liye bhi hai bahut hi faaydemand

 

मेंहदी का इस्तेमाल (use of mehandi) हाथों पैरों में और शुभ कामों (good cause) के लिए किया जाता है। इसके अलावा मेंहदी आपकी सेहत के लिए भी बड़ी फायदेमंद (helpful for health too) हैं। आज हम आपको बताएंगे (let me tell you) कि मेंहदी का इस्तेमाल करने से आपको क्या-क्या लाभ (what can you get from mehandi) मिल सकता हैं।

  1. चर्म रोग – Charm Rog- Skin Disease

चर्म रोग को जड़ से खत्म (for finishing it from roots) करने के लिए मेंहदी की छाल बड़े काम आ सकती है। इसके लिए आपको इसकी छाल का काढ़ा बनाकर इसका सेवन करना होगा। इसका सेवन लगभग आपको सवा महीने (drink it for around 40 days) तक करना है लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि आपको इन दिनों में त्वचा पर साबुन का 9dont use soap on your skin till that time) इस्तेमाल नहीं करना हैं।

CLICK HERE TO READ: बादाम का तेल शरीर को ताकतवर बनाता है और इससे कब्ज भी दूर होती है

CLICK HERE TO READ: हर तरह की पथरी के रामबाण घरेलू नुस्खे

SEMrush
  1. पथरी – Patthari- Stone

आधा लीटर पानी में 50 ग्राम मेंहदी के पत्तों को पीसकर (mash mehandi leaves) मिला लें और फिर इसे उबाल (boil it) लें। उबलने के बाद जब 100 ग्राम पानी बच जाए तब इसे छान लें और इसका सेवन करें। यह उपाय पथरी के दर्द से राहत (this remedies relief from stone pain) दिलाता है।

  1. जुल्स जाने पर – Jhulas Jaane par- Burnt Skin

आग से यदि कोई अंग जल गया हो (if any part of body burns) तो मेंहदी के पत्तों का गाढ़ा लेप तैयार (thick paste of mehandi leaves) करें और इसे जले हुए स्थान (use on burnt place) पर लगाएं। इससे जलन तुरंत शांत हो (relief from burn pain) जाती है। और घाव भी तेजी से भरने लगता है।

  1. मुंह के छाले – Muh ke Chhale

मुंह के छालों को दूर करने के लिए मेहंदी सबसे कारगार (most effective remedy) उपाय है। इसके पत्तों को चबाने (chew the mehandi leaves) से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं।

CLICK HERE TO READ: आइए आज लुत्फ ले घर की बनी मसालेदार मैगी का

  1. पीलिया- Piliya- Jaundice

इसके लिए रात में 200 ग्राम पानी में 100 ग्राम मेंहदी के पत्तों को कूटकर भिगों लें। सुबह के समय इसे छानकर (drink in the morning) पीएं। इस उपाय को लगभग एक हफ्ते तक (do this for one week regular) नियमित रखें। यह उपाय पीलिया को दूर करने में बड़ा ही कारगार है।

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, आयुर्वेदिक उपचार, दादी माँ के नुस्खे , घरेलू नुस्खे

Loading...

Loading...
, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *