Kuch nuskhe purusho ke haajme ko durust rakhne ke liye

कुछ नुस्खे पुरुषों के हाजमे को दुरुस्त रखने के लिए | Kuch nuskhe purusho ke haajme ko durust rakhne ke liye

General Baatein/ Jaroori Baatein

कुछ नुस्खे पुरुषों के हाजमे को दुरुस्त रखने के लिए | Kuch nuskhe purusho ke haajme ko durust rakhne ke liye

 

पाचन तंत्र हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग (important part of a digestion system) है। यह भोजन को पचाने के साथ ही हमारे शरीर को फिट बनाये रखने में मदद (it helps to stay fit) करता है। पेट से संबंधित बीमारियों (stomach related problems) से बचने के लिए पाचन तंत्र का सही रहना बहुत जरूरी है।

1    हाजमे को दुरुस्‍त बनाने उपाय – hajme ko durust banaye rakhna

बढ़‍िया सेहत के लिए अच्‍छी पाचन शक्ति जरूरी है। लंबे समय तक पेट में गैस (gas), अपच (indigestion) और कब्‍ज की शिकायत (problem of constipation) का मतलब आपकी पाचक शक्ति में खराबी (problem in digestion system) होता है। अगर आप अपनी सेहत को सुधार करना च‍ाहते हैं तो फिट (staying fit is very important) रहना बहुत जरूरी है। लेकिन आप तब तक फिट नहीं हो सकते जब तक कि आपकी पाचन शक्ति ठीक नहीं होगी। भले ही आप कितने पौष्टिक आहार (healthy food) का सेवन कर लें, यदि पेट में कब्‍ज रहेगा तो इसका फायदा शरीर (not benefits the body) को नहीं मिलेगा। आइए पुरुषों की पाचन शक्ति को बढ़ाने के कुछ टिप्‍स (lets know some tips abut mens digestion system) के बारे में जानें।

2    फाइबर का सेवन – eating fiber

फाइबर से भरपूर आहार जैसे साबुत अनाज, सब्जियां (vegetables), फलियां और फल (fruits) पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते है। रेशेदार खाद्य पदार्थ पचाने में आसान और कब्ज को रोकने (fiber foods are good for health) में मदद करते हैं। इसके अलावा, उच्च फाइबर आहार विभिन प्रकार की पाचन संबंधी समस्‍याएं जैसे डिवैर्टिकुलोसिस, हेमोर्रोइड्स और इर्रिटेबल बॉउल सिंड्रोम को कम करता है। फाइबर के कुछ बेहतरीन स्रोत गेहूं की भूसी, सब्जियों, जई, नट, बीज और फलियां हैं।

Click here to read: इन सपनों से पता चलता है के आपको धन लाभ होगा या धन हानि

3    अच्‍छी तरह चबाकर खायें – chew the food properly

पुरुषों की पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए यह कदम बहुत लाभकारी (very helpful step) हो सकता है। क्‍योंकि जल्‍दबाजी से भोजन करने से वह आसानी से पचता (not digest easily) नहीं है। आमतौर लोग खाने के टुकड़े को 8-10 बार चबाते हैं जबकि खाने को कम से कम 30-35 बार चबाकर खाना चाहिए। इससे पाचन शक्ति मजबूत होती है।

4    वसायुक्त खाद्य पदार्थों से दूरी  – avoid fatty foods

वसायुक्त खाद्य पदार्थ पाचन प्रक्रिया को धीमा (fatty food reduces digestion system) और कब्ज और अन्य पाचन समस्याओं के होने का खतरे को (increase stomach related problems) बढ़ा देते हैं। इसलिए वसा के आवश्‍यक स्‍तर को बनाये रखना बहुत महत्‍वपूर्ण (very important) होता है। वसायुक्त खाद्य पदार्थों के साथ उच्च फाइबर को जोड़ने का प्रयास करें, ताकी पाचन तंत्र को प्रभावी ढ़ंग से संचालित करना आसान हो। जब आप मीट खाये तो लीन मीट का (choose lean meat for eating) चयन करें।

5    गर्म पानी पियें – drink warm water

पानी शरीर के लिए आवश्‍यक तत्‍व है। यह हमारे शरीर के विषाक्‍त पदार्थों (toxic things) को बाहर निकालता है। लेकिन शायद आपको यह नहीं पता कि सामान्‍य पानी की तुलना में गरम पानी पीने से पाचन शक्ति मजबूत (warm water increases digestion system) होती है। इसलिए पानी को पीने से पहले हल्‍का गर्म (warm water) कीजिए। रोज 8 से 10 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए। नींबू पानी पीने (drinking  lemon water) से भी पाचन शक्ति मजबूत होती है।

Click here to read: अपनाइये यह नुस्खे और सिर्फ़ एक मिनट में सिरदर्द से मिलेगी आपको राहत

6    प्रोबायोटिक्स पर विचार – think about pro-biotics

पाचन की समस्‍या से बचने के लिए कम वसा दही के रूप में प्रोबायोटिक्‍स का चयन (choose curd as probiotics) करें। यह असंतुलित आहार, नींद में अनियमितताओं (irregularity in sleep) और तनाव को कम (reduces in stress) करने में मदद करता है। इसके अलावा, प्रोबायोटिक्स बेहतर पोषक तत्व अवशोषण, लैक्टोज (lactose) को तोड़ने और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद (help in strengthen immune system) करता है।

7    समय पर खायें – eat on time

अपने पाचन तंत्र को दुरुस्‍त रखने के लिए खाने का नियमित समय पर उपभोग (eat food on regular times) करना बहुत जरूरी होता है। प्रत्येक दिन एक ही समय के (eat food near or around same time) आसपास नाश्ता (breakfast), दोपहर का भोजन (lunch), रात का खाना (dinner) करने के लिए प्रयास करें। समय से खाने से पाचन तंत्र पर अच्छा असर पड़ता है और एसिड (acid) भी नहीं बनता है

8    अस्वास्थ्यकर आदतों से बाहर निकलें – unhealthy habits se bache

धूम्रपान (smoking), अत्यधिक कैफीन (more caffeine) और शराब का सेवन (drinking alcohol) पाचन तंत्र के काम में बाधा उत्‍पन्‍न कर पाचन में गड़बड़ी (problem in digestion system) का कारण बनता है। यह आदते पेट के अल्‍सर (ulcer) और हार्टबर्न (heart burn) के आम कारण है। इसलिए इनसे दूर रहने में ही भलाई है।

9    नियमित व्‍यायाम – regular exercise

व्‍यायाम न केवल स्‍वस्‍थ वजन संतुलित (helps in weight control) बनाये रखने में मदद करता है बल्कि यह चयापचय को गति और पाचन तंत्र को भी दुरुस्‍त (improves digestion system) रखता है। इसलिए रोज व्‍यायाम के लिए कम से कम 30 मिनट का समय जरूर निकालें। तेज चाल (fast walk), दौड़ना (running), साइकिल (cycling) चलाना और तैराकी (swimming) व्यायाम के कुछ आसान तरीके हैं।

Click here to read: Daant – Teeth Dard ke Asaan aur Saste Nuskhe

10    तनाव का प्रबंधन – stress management

चिंता और तनाव (depression and stress) के कारण भी पाचन तंत्र का कार्य बहुत धीमा (digestion system became weak) हो जाता है। इसलिए तनाव को न्यूनतम करने के लिए नियमित आधार पर तनाव से राहत देने वाली गतिविधियों का अभ्यास करें। तनाव को दूर करने के लिए आप योग और ध्‍यान का सहारा (take help of yoga and concentration) भी ले सकते हैं।

11   मसाज करें – Do massage

मसाज और पेट के व्‍यायाम भी पाचन तंत्र को दुरुस्‍त (improves digestion system) रखने में मदद करते हैं। नियमित दिनचर्या में इसे शामिल कर आप अपनी पाचन तंत्र को लंबे समय तक दुरुस्‍त रख सकते हैं। बस कुछ आवश्‍यक तेलों (special oils) के साथ पेट की मालिश करने की जरूरत है।

12    विटामिन सी युक्‍त आहार खायें – Eat vitamin-C food

विटामिन सी युक्‍त खाद्य-पदार्थों के सेवन (Eating of vitamin C products) से भी पाचन शक्ति मजबूत होती है। इसलिए पाचन तंत्र को दुरुस्‍त बनाने के लिए अपने आहार में विटामिन सी युक्त आहार जैसे – ब्रोकोली, टमाटर (tomato), किवी, स्‍ट्रॉबेरी (strawberry) आदि का सेवन करें।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *