गैस और एसिडिटी से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू नुस्खे | Gas aur Acidity se chhutkara paane ke kuch gharelu nuskhe | Home remedies for relief from gas and acidity

Acidity / Gas ke Nuskhe

गैस और एसिडिटी से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू नुस्खे | Gas aur Acidity se chhutkara paane ke kuch gharelu nuskhe | Home remedies for relief from gas and acidity

 

आज के दौर में गैस की समस्या (problem) से काफी ज़्यादा लोग पीड़ित (suffering) हैं। इस समस्या के फलस्वरूप आपको बदहज़मी और पेट जैसी कई अन्य परेशानियों (other problems) का भी सामना करना पड़ता है। गैस की समस्या की वजह से काफी स्वस्थ व्यक्ति भी जलन (acidity) और कब्ज़ (constipation) की समस्या से पीड़ित हो जाता है। गैस से आंतों (intestine) में समस्या पैदा हो जाती है, अतः ऐसी स्थिति में आप ऊर्जा से रहित हो जाते हैं। अतः भोजन करते समय आपको काफी सावधानी बरतनी (beware while eating food) चाहिए।

एसिडिटी क्या है – What is Acidity- पेट में गैस की समस्या क्या है? (What is gastric problem?) एसिडिटी क्या है? आजकल प्राय: बच्चो,युवा वर्ग (youngsters) एवं 60 वर्ष से अधिक के उम्र के लोगो मे पेट मे अम्ल (acid) की अधिकता के कारण गैस की समस्या देखी जा रही है। यदि पेट की भीतरी परत अम्ल बना रही हो और वो पेट की सतह को छू रही हो तो इसके द्वारा पीड़ित व्यक्ति को असहनीय दर्द एवं पीड़ा (unbearable pain) होती है।

अगर गैस्ट्रिक म्यूकोसा (gastric mucosa), जो कि पेट के मेम्ब्रेन (membrane) की एक परत (layer) होती है, को कोई परेशानी होती है इससे पेट में अम्ल (acid) पैदा होता है। जल्दी ही ये अम्ल पेट के संपर्क (contact) में आ जाते हैं जिससे आपको काफी मात्रा में दर्द और तकलीफ का सामना (face the pain) करना पड़ता है। इससे आपको अंत में गैस्ट्रिक (gastric) का सामना करना पड़ता है। इस समस्या का शिकार आमतौर पर 40 वर्ष या इससे ज़्यादा के लोग होते हैं, पर यह समस्या (problem can be seen in) जवान लोगों और बच्चों में भी देखी जा सकती है।

CLICK HERE TO READ: जानिये पेट की मालिश के सेहत के लिए यह 9 फायदे

पेट में गैस की समस्या का कारण? (Causes of gastric trouble)- पेट में गैस की समस्या मुख्य कारण (main reason) पेट मे बनी हुई अम्ल की मात्रा अपाच्य भोजन (indigestion of food) , पेट मे जलन एवं हृदय मे जलन होती है। इसके अलावा और भी कारण होते है, गैस की समस्या के जैसे- वाइरल ज्वर (viral fever), इंफेकशन (infection) ,पथरी (stone) , ट्यूमर (tumor) ,अल्सर (ulcer) इत्यादि है। इसके अलावा भी बहुत सारे कारण है (so many reasons) जिसकी वजह से लोग इस समस्या से ग्रसित रहते है जैसे – अत्यधिक भोजन (over eating) , मानसिक चिंता ((mental stress) ,असुपाच्य भोजन, शराब पीना (drinking wine), भोजन का उचित प्रकार से न चाबाना इत्यादि (not eating or biting food properly)। इन सभी कारण के अलावा गैस की समस्या का एक कारण बॅक्टीरिया (bacteria) का होना भी हो सकता है- बॅक्टीरिया जैसे एच-पाइलोरी। इस समस्या से निवारण के लिए शुरुआती दौर मे ही द्वा के द्वारा सुरक्षित (eat medicine for safety) रखा जा सकता है। गैस की समस्या के मुख्य लक्षण उल्टी (vomiting), दस्त (loose motion), पेट मे जलन एवं भोजन का न पच पाना इत्यादि है।

पेट के गैस से बचने के लिए अच्छे सुझाव – Safety Tips from gas and acidity
पेट में गैस की समस्या के मुख्य कारण एसिडिटी, बदहज़मी, पेट में दर्द (stomach ache) और सीने में जलन। कुछ और कारण हैं वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण, फ़ूड पोइज़निंग (food poisoning), किडनी में पथरी, कब्ज़, ट्यूमर, पैंक्रिअटाइटिस और अलसर आदि। ऐसे कई कारण होते हैं जिनकी वजह से लोग गैस की समस्याओं के शिकार होते हैं (infected from these problems)। इनमें से कुछ कारण हैं तीखा या चटपटा भोजन करना (spicy and tangy food), तनाव, हाज़मे में तकलीफ (problem in digestion), भोजन अच्छे से ना चबाना और काफी मात्रा में शराब का सेवन (drinking excess wine)। इसके अलावा एच पाइलोरी नामक बैक्टीरिया के संक्रमण से भी गैस की समस्या होती है। एसिडिटी की दवाई, अतः आपको इस गंभीर समस्या का इलाज निकालना चाहिए। इसका शुरूआती चरण में पता चलने पर तथा उपचार शुरू होने पर आप जल्द ही स्वस्थ हो जाएंगे। भूख न लगना, बदबूदार सांसें, पेट में सूजन (swelling in stomach), उलटी, बदहज़मी, दस्त आदि गैस के लक्षण हैं।

CLICK HERE TO READ: क्या सुबह आपका पेट साफ़ नही होता तो इस्तेमाल करे यह घरेलु नुस्खे

गैस के लक्षण – गैस की समस्या के सामान्य लक्षण (Common symptoms of gastric problems)

गैस के लक्षण – बदहज़मी (Indigestion)

बदहज़मी का मुख्य कारण गलत खानपान (bad eating habits) या अधिक मात्रा में भोजन करना हो सकता है। ज्यादा तेज़ी से खाना खाने पर भी बदहज़मी हो सकती है। शारीरिक और मानसिक तनाव (physical and mental stress) से भी कई बार बदहज़मी हो सकती है। बदहजमी के दौरान पेट में खाना हज़म होने के दौरान अम्ल (acid) का उत्पादन होता है। इससे काफी पीड़ा और परेशानी होती है।

सीने में जलन (Heartburn)सीने में जलन का मुख्य कारण पेट का अम्ल होता है, जिसके इसोफेगस (oesophagus) में आ जाने की वजह से ही यह जलन होती है। इस समस्या के मुख्य लक्षण हैं गले में जलन। इस समय कुछ भी निगलना काफी मुश्किल हो जाता है। कई बार इसकी वजह से कई अन्य गंभीर समस्याएं जैसा दिल के दौरे की समस्या भी हो सकती है। ऐसा होने पर डॉक्टर से सलाह करके कुछ दवाइयां ले लें।

गैस के लक्षण – पेट में सूजन (Bloating)

इसके अंतर्गत आपके पेट पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है। ऐसा देखा गया है कि पुरुषों के मुकाबले महिलाएं इस समस्या की ज़्यादा शिकार होती हैं। जो लोग कब्ज़ के शिकार होते हैं, उन्हें पेट का सूजन होने की संभावना सबसे ज्यादा रहती है।

एसिडिटी के उपचार के आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खे

साँसों की बदबू (Bad breathe)

साँसों में बदबू का उत्पन्न होना पेट में गैस बनने का एक और लक्षण है। पेट में गैस बनने पर अम्ल पैदा होता है, जो हमारे पेट से ऊपर आकर गले पर अपना प्रभाव छोड़ता है, जिससे बदबू उत्पन्न होती है।

CLICK HERE TO READ: Shadishuda Purush (married mens) hote hai in 8 baton se pareshan, Janiye sab baatein detail mein

गैस का उपचार – गैस के दर्द से तुरंत निजात पाए (Instant relief from gas pain)

गैस का उपचार – नींबू का रस (Use of lemon juice)

एक नींबू निचोड़ें तथा इससे रस निकाल लें। इसमें आधा चम्मच बेकिंग सोडा (baking soda) तथा एक कप पानी मिश्रित करें। इसे तब तक हिलाएं जब तक बेकिंग सोडा पानी में अच्छे से ना घुल जाए। इसे पी लें तथा गैस की समस्या से मुक्त हो जाएं। अगर आपको तुरंत राहत चाहिए तो बेकिंग सोडा का मिश्रण पानी में करें तथा सुबह इसका सेवन खाली पेट में करें।

गैस का उपचार, नींबू का रस (lemon juice) निकालें तथा इसे गर्म पानी (drink with warm water) के साथ मिश्रित करके पी लें। यह आपको दर्द से तुरंत निजात (quick relief from the pain) दिलाता है और इसका सेवन आप सुबह सुबह (drink it early in the morning) कर सकते हैं। यह घरेलू नुस्खा आपको गैस की समस्या से तुरंत राहत दिलाता है।

गैस का दर्द दूर करने के लिए हर्बल चाय का प्रयोग (Herbal teas to get rid of gas)

क्या आपने कभी हर्बल चाय (with the help of herbal tea) की मदद से गैस की समस्या दूर होते हुए सुनी है? गैस का दर्द, पुदीने (mint), रास्पबेरी (raspberry), कैमोमाइल (chamomile) और जामुन से बनी हर्बल चाय आपके हाजमे को दुरुस्त करने में काफी कारगर साबित होती है। आप अब ऊपर बताये गए किसी भी स्वाद में से एक की हर्बल चाय बनाकर एक बार सुबह और एक बार शाम के समय सेवन करें। परन्तु हर्बल चाय का सेवन करते समय इसे ज़्यादा देर तक आंच पर ना चढ़ाएं, क्योंकि इससे इसके गुण नष्ट हो जाते हैं।

पेट में गैस की समस्या का इलाज – हल्दी की पत्तिया (Turmeric leaves to prevent gas)

सीने की जलन को ठीक करने के घरेलू नुस्खे – Home remedies for chest burn

हल्दी की पत्तियो को पीस (mash the turmeric leaves) कर एक गिलास दूध मे मिलाकर रोज पीए।

गैस के घरेलू उपाय – काफी मात्रा में पानी पियें (Drink plenty of water) दिन में कम से कम 6 से 8 गिलास पानी पियें। इससे आपको गैस की समस्या के साथ ही अन्य कई समस्याओं से छुटकारा (relief from other problems too) मिल जाएगा। पानी आपके शरीर से गैस निकालने में काफी मददगार साबित होता है, क्योंकि यह अधोवायु (Farting) को बाहर करने में आपकी मदद करता है। इस प्रक्रिया से आपके शरीर की गैस मलोत्सर्ग के भाग में चली जाती है एवं खाली जगहों को भर (fill the empty places of body/ stomach) दिया जाता है।

CLICK HERE TO READ: एसिडिटी को ठीक या काबू करने वाले नुस्खे

पेट में गैस की समस्या का इलाज – अदरक (Ginger root remedy to prevent gas and acidity formation)

अदरक पेट मे गैस नही बनाने देता है खाने के बाद अदरक का एक टुकड़ा रोज चबाए (eat a piece of ginger daily) या खाना बनते समय भोजन सम्मग्री (or mix in your food) मे मिलाए।

गैस के घरेलू उपाय – आलू (Pet ki gas ka ilaj potatoes (alloo) se)

आलू का रस निकालकर खाना खाने से पहले पहले (drink potato juice daily) रोज 3 बार पीए।

पेट में गैस का इलाज – उपवास (Fasting is also a gastric solution)

पेट में गैस का इलाज, 2 या 3 दिन उपवास (upvaas/ vrat/ fast) करे इससे पेट सॉफ और हल्का (lightens and clean your stomach) हो जाएगा और गैस नही बनेगी।

गैस के घरेलू उपाय – लहसुन (Garlic hai gas ki medicine)

लहसुन भी गैस की समस्याओं को ठीक करने का एक बेहतरीन इलाज (good source) है। लहसुन को पीस लें तथा इसके साथ काली मिर्च (black pepper) के बीज, धनिया और जीरा मिश्रित करके उबाल (boil) लें। इसे कुछ मिनट तक उबाल लें और फिर इससे रस (juice) निकाल लें। अब इस मिश्रण (mixture) को कमरे के तापमान (room temperature) तक आने दें और इसके बाद इसे पी लें। इस मिश्रण का सेवन दिन में दो बार करने से आपको काफी बेहतर परिणाम (better results) मिलेगा।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे, acidity in hindi, gas problem in hindi

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *