अनार सिर्फ़ फ्रूट ही नहीं, इसके नुस्खे भी है कारगर कई बीमारियों में , Anar sirf fruit hinahi, iske nuskhe bhi hai kargar kai bimariyo mein

Fruit ke Nuskhe

अनार सिर्फ़ फ्रूट ही नहीं, इसके नुस्खे भी है कारगर कई बीमारियों में | Anar sirf fruit hi nahi, iske nuskhe bhi hai kargar kai bimariyo mein

 

अनार ( Pomegranate ) से हम सभी परिचित (known) है। यह लगभग हमेशा मिलने वाला फल (fruit) है। लेकिन अनार के फायदे (Anar Ke Fayde ) जानकर आप  हैरत (shocked) में पड़ जायेंगे। आपने कभी सोचा भी नहीं होगा की अनार इतना फायदेमंद फल हो सकता है। अनार अवश्य खाना चाहिए।

अनार के विटामिन व खनिज  – Anar Ke vitamins and minerals

अनार शरीर के अम्लीय तत्वों को निकालकर  आपकी स्किन में निखार (glow in skin) पैदा करता है । स्किन को जवान और सुन्दर (young and beautiful) बनाने के लिए Anar का सेवन जरुर करना चाहिए। नियमित रूप से  Anar  खाने से स्किन में कभी भी झुर्रियां नहीं होती।  इसमें विटामिन “c ” , फोलिक एसिड – folic acid ( आयरन ) , एंटी ओक्सिडेंट (anti oxidant) व पॉली फ़ेनल्स भरपूर मात्रा में होते है। इसके अलावा अनार में मैग्नेशियम (magnesium), फास्फोरस (phosphorus), पोटेशियम (potassium), कैल्शियम (calcium), और विटामिन बी काम्प्लेक्स (vitamin B complex) प्रचुर मात्रा में होते है।

CLICK HERE TO READ: नाशपाती के नुस्खे भी उतने ही गुणकारी जितने की सेब के नुस्खे

अनार

अनार  एक ऐसा फल है जिसे रोगी (patient) को भी दिया जा सकता है । यह थकान को तुरन्त मिटाता है। खून की कमी दूर करता है। पाचन में सहायक (helpful) होता है। स्मरण शक्ति , दिमागी शक्ति व चुस्ती फुर्ती (growing memory power, brain power) बढाता है। जिन बच्चों का विकास सही ढंग से नहीं हो रहा हो या कमजोर (weak( बने रहते हो उन्हें नियमित रूप से Anar खिलाने से फायदा होता है। यह दिल के रोगों में गुणकारी (good in heart problems) होता है। मुँह और गले के रोगों में भी यह बहुत हितकारी होता है।

अनार रक्त वर्धक (growing blood) होने के साथ रक्त का संद्चार भी बढाता है। यह आमाशय की जलन , पेशाब की जलन , घबराहट , खट्टी डकार , ज्यादा प्यास आदि परेशानियों में लाभदायक (helpful in these problems) होता है। अनार का रस पीने से पेट मुलायम रहता है। मेदा , तिल्ली और लीवर की कमजोरी (weakness of liver), संग्रहणी , उलटी दस्त (vomiting and loose motion) , आदि  Anar  खाने से ठीक हो जाते है। फल के साथ ही  Anar  के पत्ते और छिलका भी बहुत से घरेलु नुस्खे में काम आते है।

 
अनार के घरेलू नुस्खे – Anar Ke Gharelu Nuskhe

अनिद्रा  ( Neend Nahi Aana )

अनार के ताजे पत्ते (fresh leaves) लगभग एक कप दो गिलास पानी में उबालें (boil)। जब पानी आधा रह जाये तो छान लें। इसमें एक कप दूध (1 cup milk) स्वाद के अनुसार चीनी मिलाकर पीयें। शरीर और दिमाग की हर तरह की थकान मिट जाएगी और अच्छी नींद आएगी। अनिद्रा दूर होगी।

सौन्दर्य ( Beauty )

अनार के छिलकों को सुखाकर, बारीक पीस कर , गुलाब जल के साथ मिक्स (mix in rose water) करके उबटन की तरह लगाने से सुन्दरता निखर आती है।  स्किन के सभी प्रकार के दाग धब्बे और झाईयां ठीक हो जाते है।

दांतों के लिए ( Strong Teeth )

अनार के फूल छाया में सुखाकर बारीक पीस लें। इनसे सुबह शाम मंजन (brush) करने से मसूड़ो से खून (blood from gums) निकलना ठीक हो जाते है और दांतों का हिलना भी ठीक हो जाता है। अनार के सूखे पत्तों का मंजन भी दांतों के लिए बहुत गुणकारी होता है। Anar के पिसे छिलके पानी में उबालकर इस पानी से कुल्ला करने से मुँह की दुर्गन्ध (bad breath) , मुँह से पानी गिरना ठीक होता है और छाले ठीक हो जाते है।

CLICK HERE TO READ: शरीर को चुस्त और दुरूस्त रखता है संतरा, जानिये संतरे के फायदे

सिर का गंजापन ( Hair Loss )

अनार के ताजे पत्ते लगभग एक पाव पीस लें। इनको एक गिलास पानी में उबलने के लिए रखें। जैसे ही पानी उबलने लगे इसमें 100 ml सरसों का तेल (sarson oil) ड़ाल दें। अब तब तक उबालें जब तक कि सारा पानी उड़ जाये और सिर्फ तेल बचे। ठंडा होने पर छान लें। इस तेल की रात को रोज एक महीने तक मालिश (massage) करने से बाल झड़ने बंद होते है और गंजे सिर पर भी बाल उग आते है।

दस्त ( Loose Motion )

अनार को भून लें। इसके दानो का रस निकाल लें। इसमें शहद (honey) मिलाकर पीयें। इससे हर प्रकार के दस्त ठीक होते है। पेचिश और संग्रहणी के लिए दो चम्मच Anar  के सूखे छिलकों का पावडर और दो लौंग (cloves) पिसी हुई एक ग्लास पानी में तीन चार मिनट उबाल  लें। फिर छानकर पी लें। दिन में दो बार नियमित लेने (regular use) से आराम मिलता है।

हाजमा ( Digestion )

खाना खाने की इच्छा नहीं होती , खाना पचता (indigestion) नहीं हो , भूख नहीं लगती हो तो ये चूर्ण घर पर बना कर रखें। बहुत स्वादिष्ट (tasty) और लाभकारी (helpful) होता है।

अनारदाना 100 ग्राम ,

कालि मिर्च 25 ग्राम

कलौंजी 25 ग्राम ,

जीरा 25 ग्राम ,

सेंधा नमक 25 ग्राम

 इन सबको मिलाकर पीस लें। खाना खाने के बाद  दो चम्मच  ये चूर्ण गरम पानी (take with warm water after eating food)  से लेने से गैस पेटदर्द , हाजमे की व पेट की सभी प्रकार की तकलीफ (problems) दूर होती है।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे,is fruit good for you, is fruit bad for you, weight loss fruits

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *