यह 5 बीमारियां बिना डॉक्टर की सलाह के पैरासीटामॉल दवाई लेने से हो सकती हैं , 5 Side effects of Paracetamol medicine
यह 5 बीमारियां बिना डॉक्टर की सलाह के पैरासीटामॉल दवाई लेने से हो सकती हैं , 5 Side effects of Paracetamol medicine

यह 5 बीमारियां बिना डॉक्टर की सलाह के पैरासीटामॉल दवाई लेने से हो सकती हैं | 5 Side effects of Paracetamol medicine

यह 5 बीमारियां बिना डॉक्टर की सलाह के पैरासीटामॉल  दवाई लेने से हो सकती हैं | 5 Side effects of Paracetamol medicine

सिर में मामूली सा दर्द (headache) हुआ नहीं कि  पैरासीटामॉल की गोली (tablet) गटक ली। बहुत से लोग (lots of people) ऐसा हीं करते हैं। लोगों को सेल्फ मेडिकेशन (self medication) एक आसान, सस्ता और कम समय में होने वाला उपाय (treatment/tricks) लगता है। लेकिन कम समय में मिलने वाली राहत जल्द ही स्थायी आदत (changes into habit) में तब्दील हो जाती है और शरीर कई बीमारियों की चपेट (not good for health and body) में आ जाता है।

माना कि पैरासीटामॉल एक ऐसी दर्दनिवारक (pain killer medicine) दवा है जिसे दर्द होने पर समान्य लोगों के साथ-साथ गर्भवती महिलाएं भी आसानी (taking it easily) से ले लेती है। और अधिक नुक्सानदेह ना होने कारण भारतीय मेडीकल दुकानों पर यह दवा बिना डॉक्टर की स्लिप (without doctor prescription) आसानी से ली जा सकती हैं। लेकिन डॉक्‍टरी सलाह के बिना मामूली बुखार से परेशान होने पर भी आप पैरासीटामॉल की गोली ले लेते हैं और ऐसा आप कई सालों (doing this from so many years) से करते आ रहे हैं, तो सावधान हो जाये। क्‍योंकि हर बार मामूली से दर्द या बुखार में पैरासीटामॉल लेना फायदे से ज्‍यादा नुकसानदेह (more loss than benefit) हो सकता है। इसके अधिक इस्‍तेमाल से शरीर के कई अंगों (effect on body parts) को नुकसान हो सकता है।

भारत रत्न’ के बारे में 14 अजब ग़ज़ब रोचक तथ्य

विस्तार से जानिये क्या है पूर्ण हेल्थ चेक-अप और उसके फाय्दे

आइए जानें बिना डॉक्‍टर की सलाह (without doctors consultation) के बिना पैरासीटामॉल लेना शरीर के लिए कैसे नुकसानदेह (not good for body) होता है।

क्या आपने कभी भी दवा के पैकेट (medicine packet) पर लिखा देखा हैं कि ज्‍यादा मात्रा में पैरासीटामॉल लेना लीवर (effect on liver) को नुकसान पहुंचा सकता है। जीं हां डॉक्टरों का कहना है कि एक व्यक्ति को एक दिन में 3 ग्राम से ज्यादा पैरासीटामॉल नहीं लेनी चाहिए और अगर किसी कारणवश लेनी भी पड़े तो पहले अपने डॉक्टर (consult the doctor first) से पूछ लेना चाहिए।

गर्भवती और बच्‍चों के लिए नुकसानदेह – Dangerous For Pregnant Ladies and Childrens

आपको यह जानकर भी हैरानी होगी कि गर्भवती के लिए सुरक्षित मानी जाने वाली पैरासीटामॉल अगर बिना जांच (without checkup) के गर्भवती को दी जाती है तो सुरक्षित (safe) समझे जाने वाली पैरासीटामॉल की गोली गर्भ में पल रहे बच्चे के पूर्ण विकास में (hurdle in growth of baby child) रुकवाट पैदा कर सकती है। नेशनल हेल्थ सर्विस (national health service) के अनुसार गर्भवती को बिना डॉक्टरी सलाह के पैरा‍सीटामॉल नही लेनी चाहिए।

किडनी पर असर – Effect on Kidneys

दर्द निवारक दवा के रूप में पैरासीटामॉल का लंबे समय तक सेवन करना बहुत (unhealthy if you eating from long time) हानिकारक है। बिना डॉक्‍टरी सलाह के पीठ दर्द (back pain) के लिए इसे लेने पर यह लाभ के बजाए नुकसान पहुंचाती है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल (british medical journal) में प्रकाशित यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी के शोधकर्ताओं (researchers) के अनुसार आस्टियोआर्थराइटिस एवं पीठ दर्द को कम करने के लिए लोग पैरासीटामॉल का इस्तेमाल आसानी से करते हैं, पर इसका किडनी पर असर (effects on kidney) पड़ता है।

यह भी पढ़ें :- जानिये क्या है कारण के जितनी मरजी कसरत कर लो या खाना कम कर लो फिर भी नहीं घटता वजन

पेट में गैस की समस्‍या और त्‍वचा पर एलर्जी   – Gas Problem and Skin Allergy

कई मामलों में तो पैरासीटामॉल का अधिक सेवन पेट में गैस की समस्‍या (gas problem in stomach) पैदा कर सकता है। तो अगर आप अपच (indigestion) या पेट में भारीपन (heavy stomach) से परेशान हैं तो हो सकता है कि ऐसा पैरासीटामॉल के सेवन (Cause of paracetamol) से हो रहा हो। इसके अलावा कुछ लोगों को पैरासीटामॉल के अधिक सेवन करने से त्वचा पर लाल चकत्ते (red dots on skin) और एलर्जी (allergy) हो जाती है, जिसमें खुजली (itching) या जलन (burn) भी होती है।

अस्‍थमा की समस्‍या – Problem of Asthama

हल्‍का सा बुखार (slight fever) होने पर ही हम अपने बच्‍चे को पैरासीटामॉल देने लगते हैं। लेकिन कई शोधों से ये बात साबित (few researches proves) हुई है कि 6-7 साल की उम्र में बच्चों को पैरासीटामॉल देने से उनके शरीर में अस्थमा के लक्षणों को बढ़ावा (increases symptoms of asthama) मिलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (world health organization) का भी मानना है कि बच्चों को 101.3 °F बुखार होने पर ही पैरासीटामॉल देनी चाहिए।

लीवर को नुकसान  – Effect on Liver

अगर आप पीलिया (jaundice) या लीवर संबंधी किसी समस्या से पीड़ित (suffering from this problem) हैं, तो डॉक्टर की सलाह लिए बिना पैरासीटामॉल खाने से लीवर डैमेज (damage your liver) हो सकता है। कई मामलों में लीवर फेलियर के (chances of liver failure too) भी चांस होते हैं। इसलिए दवा को लेने से पहले अपने डॉक्‍टर (consult the doctor) से सलाह जरूर ले लें।

यह भी पढ़ें :- जानिये योग से जुड़ी ऐसी बातें है जो आप शायद नहीं जानते

सुस्‍ती महसूस होना – Feeling Laziness/ Fatigue

इसके अलावा कई बार पैरासीटामॉल लेने के बाद बहुत ज्यादा सुस्ती (feeling fatigue after taking it) महसूस होती है। तो ऐसे में डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

 

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, natural healing in hindi, household remedies in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*