बहु कैसे बनाए अपनी सास से मधुर संबन्ध, जानिये इस लेख में , Bahu kaise banaye apni saas se accche relation, jaaniye is article mein
बहु कैसे बनाए अपनी सास से मधुर संबन्ध, जानिये इस लेख में , Bahu kaise banaye apni saas se accche relation, jaaniye is article mein

बहु कैसे बनाए अपनी सास से मधुर संबन्ध, जानिये इस लेख में | Bahu kaise banaye apni saas se accche relation, jaaniye is article mein

बहु कैसे बनाए अपनी सास से मधुर संबन्ध, जानिये इस लेख में | Bahu kaise banaye apni saas se accche relation, jaaniye is article mein

भारत में सास – बहू के रिश्‍ते के बारे में कई सीन (can see so many serials) देखने को मिलते है, यहां के 70 प्रतिशत टीवी सीरियल्‍स (TV serials) भी सिर्फ सास – बहू के रिश्‍ते पर आधारित होते है। माना जाता है कि सास अपनी बहू पर हुक्‍म चलाने की कोशिश (trying to rule bahue) करती है और बहू, हुक्‍म टालने की। लेकिन ऐसा नहीं है, अगर दोनों समझदार है (if both are intelligent than this situation never comes) तो ऐसी स्थिति पैदा नहीं होती है। एक अच्‍छी बहू भी पूरे घर को अच्‍छी तरह संभाल (can care whole house) सकती है और सास से होने वाली नोंक – झोंक से भी बच सकती है।

यह फैक्‍ट है (it’s a fact) कि जब आप किसी नए परिवेश या माहौल (atmosphere) से आते है तो दूसरी जगह एडजेस्‍ट (adjust) करने में समय लगता है लेकिन समझ के साथ ऐसा करना आसान हो जाता है। इसलिए पर्याप्‍त समय (give proper time) दीजिए। घर को अच्‍छी तरह चलाने का सबसे सही तरीका झगड़ों (avoiding arguments and fighting) से बचना है। अपनी सास के साथ बेवजह की बहस या किचेन पॉजिटिक्‍स (kitchen poziticks) करना अच्‍छी बात नहीं है, उनके साथ सम्‍बंधों में मधुरता बनाएं (make relations sweet) रखने की कोशिश करें। कई औरतें अपनी सास को चुडैल (ghost) समझने लगती है, ऐसा कतई न करें, उनकी उम्र और समझ के हिसाब से उन्‍हे समझें (understand her from her age and experience) और साथ दें।

यह भी पढ़ें :- कुछ ऐसी सामान्य चीजें जिनका जवाब विज्ञान के पास भी नहीं है

आइए जानते है सास से होने वाली नोंक – झोंक से बचने के (lets know the tricks to avoid bad relation) खास टिप्‍स :

1) उनके काम को सराहें- Appraise her work : शायद ही कोई महिला ऐसी होगी जिसे अपने काम की तारीफ पंसद (every woman loves appraisal for her work)  न आती हो। अपनी सासू मां के साथ (do same with our mother in law) भी यही करिए। उन पर भरोसा करिए (trust her) और जिम्‍मेदारी वाले काम उन्‍हे करने दीजिए। इसके अलावा, उनके द्वारा किए जाने वाले हर काम की तारीफ करिए, जैसे – उन्‍होने अपने बेटे के स्‍वेटर बनाया (made sweater for his son) हो या बेटी के लिए अचार (pickels), आपको सिर्फ तारीफ करना है। उनकी उम्र आप से कहीं ज्‍यादा है (she is more older than you) तो तर्जुबा भी आपसे ज्‍यादा होगा, इस लिहाज से उनका और उनके काम का सम्‍मान (so give her respect) करें।

2) अलग न करें- Avoid doing work alone: कई बार बहूएं अपनी सास को कई मुख्‍य निर्णय (main decisions) लेते समय अलग कर देती है और अपने मन का काम करती है। निर्णय छोटा हो या बड़ा, उनकी राय और सलाह हमेशा  (always take her suggestion) लें, इससे उनमें आपके लिए प्‍यार और अपनत्‍व की भावना (love and affection feelings) आएगी। एक बहू होने के नाते आपको यह बात समझना जरूरी है (you have to understand this) कि जो आज आपका है, वह पहले उनका था।

3) दोस्‍ताना व्‍यवहार रखें- Have a friendly behavior: आपकी सास नेकदिल है (good woman) लेकिन आप उनसे एक दूरी बनाकर रखती है, ऐसा कतई न (never do this) करें। सास भी आपकी मां की (she is like your mother too) तरह ही एक औरत है, उनके भी दिल (she has a heart) है, उन्‍हे भी प्‍यार (she knows how to love) करना आता है। उनके साथ उनकी उम्र को समझते (understand her age than talk) हुए बातें करें, दोस्‍ताना व्‍यवहार (be friendly with her) रखें और समय दें। इस तरीके से कई विवादों से बचा (so you can void arguments) जा सकता है।

यह भी पढ़ें :- कुछ ऐसे प्रोडक्टिव काम जो आप टॉयलेट में सीट पर भी बैठ कर भी कर सकते है

यह भी पढ़ें :- जानिये 7 तरीके लिविंग रूम की सजावट के जो हमेशा आयेंगे आपके काम

4) समय दें – Give Time: क्‍या जब आप अपने पति से पहली बार (met your husband first time) मिली थी, तो तुंरत प्‍यार (sudden love) हो गया था, नहीं आपने उन्‍हे समय (you give him time) दिया, बात की (talk), समझा (understand) और तब उनसे प्‍यार (than love) हुआ। ऐसा ही आपकी सास के (same with your mother in law) साथ है। शादी के बाद (after marriage) सिर्फ अच्‍छे की उम्‍मीद करना गलत है, आपको उन्‍हे समझना (you have to understand this) होगा। उनके साथ टीवी देखें (watch TV with her), बाहर जाएं (go for outing), शॉपिंग करें  (do shopping), इससे आप दोनों के बीच की बॉन्डिग (make bonding) बढ़ेगी।

5) आपसी झगड़े में उन्‍हे न घसीटे- Never put them in personal fights: पति और पत्‍नी के बीच हमेशा खटपट (arguments between husband wife) चलती रहती है। आपसी लड़ाई में अपनी सास को कभी बीच (never took them between the fights or arguments) में न लाएं। कई बार औरतें आपसी लड़ाई में सास का नाम (take her name) ले लेती है और इस तरह उनके अपनी सास के साथ रिलेशन बिगड़ (this made relation bad) जाते है। एक अच्‍छी बेटी (good daughter) होने के नाते भी आप उनकी भावनाओं और असुरक्षा की भावना (insecurity of feeling) को समझ सकती है, ऐसे में कलह की बात न करें।

6) अपनी बात कहना सीखें – Try to tell what you want to say: अगर आपको लगता है कि हर मोड़ पर आपकी सास अपने बेटे का पक्ष लेती है (taking side of his son) तो अपनी बात सही तरीके से कहना सीखें। लड़ाई और प्रपंच न करें। जो चाहती है वो सभी के सामने स्‍पष्‍ट रूप (say her wisely) से कहें। कई बार सास चाल खेलती है और बेटे को अपनी ओर करने की कोशिश करती है ताकि आपकी हालत खराब (to make situation bad) की जा सकें। ऐसा कभी लगे तो स्‍टैंड लें (take stand and talk about yourself) और खुद के लिए बोलें।

यह भी पढ़ें :- जानिये लड़कों की किस तरह की ड्रैसिंग सेंस पर फिदा होती है लड़कियां

7) ससुराल वालों से दोस्‍ती रखें – Do friendship with them: सिर्फ सास के साथ ही नहीं बल्कि (not just with your mother in law) अपने अन्‍य ससुरालीजनों के साथ मधुर सम्‍बंध (make good relation with everyone at home) बनाकर रखें। आप उनके साथ सोशल साइट्स (connect with them in life and in social sites too) पर जुड़े। हालांकि ऐसा करने के बाद आपका पर्सनल खत्‍म होने का ड़र (it may have fear of finishing your personal life) रहता है लेकिन बाद में बैलेंस भी आपको (you have to balance it too) करना है।

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, dadi maa ke nuskhe in hindi, gharelu nukshe in hindi, ayurvedic gharelu upchar in hindi

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*