डिप्रेशन को कहिए बाय-बाय इन 6 मस्त लाइफ रूल्स को अप्नाये- Say bye bye to Depression by Following these 6 Rules

डिप्रेशन को कहिए बाय-बाय इन 6 मस्त लाइफ रूल्स को अप्नाये- Say bye bye to Depression by Following these 6 Rules

कुछ साल पहले (few years back) तक हमारे देश में लोग मुश्किल से इस बात पर भरोसा कर पाते थे कि डिप्रेशन (depression is a killer disease) एक जानलेवा बीमारी है. उनकी नजर में उदास (sad) हो जाना क्षणिक हुआ करता था लेकिन अब डिप्रेशन (awareness about depression) को लेकर जागरूकता आई है.

राबिन विलियम (robin Williams) को गुजरे करीब एक साल ही हुआ होगा. क्या आप यकीन कर पाएंगे कि दुनिया का मनोरंजन (entertainer of the world) करने वाला ये शख्स डिप्रेशन से जूझ (suffering from depression) रहा था. बहुत दूर जाने की जरूरत नहीं है.

आज के समय की सबसे (successful heroine) सफल हीरोइन दीपिका पादुकोण (deepika padukone) भी एक समय में डिप्रेशन से पीड़ित (affected from depression) रह चुकी हैं.

कई बार ऐसा होता है कि डिप्रेशन से जूझ (patient suffering from depression) रहे मरीज को खुद भी इसका एहसास नहीं हो पाता है कि वो ऐसी किसी परिस्थिति में फंसता (stuck in situation) जा रहा है. कई बार पता चल जाने पर भी वो उसे छिपाने की (trying to hide the problem) कोशिश करा है.

डिप्रेशन (depression) पल भर की स्थिति (situation) नहीं है. ये एक लंबे वक्त (long time) तक रहने वाली समस्या (problem) है. शरीर के घाव की तरह इसे भी छिपाना खतरनाक (dangerous to hide this problem) साबित हो सकता है.

आप ही बताइए (you tell yourself) अगर आपकी उम्र 20 साल है और डिप्रेशन से जूझ रही हैं (what you will do) तो क्या करेंगी? हम आपकी इस परेशानी को समझते हैं (understand the problem) और इसीलिए हम लेकर आए हैं आपके लिए कुछ (few suggestions) सुझावः

यह भी पढ़ें :- जानिये क्या है महिलाओं के बारे में पुरुषों के मन में कुछ गलतफहमियां

Click here to read:-  8 Natural Foods for Curing Hormonal Imbalance in Women’s

  1. छोड़ दीजिए ऐसी सहेली का साथ – Leave that Friend

20 साल की उम्र में हम सभी की कोई न कोई ऐसी दोस्त होती है जिससे हम सबकुछ बांटते हैं. मान लीजिए कि आप उसके पास अपनी कोई बात लेकर गई और वो आपसे कहे कि उसके साथ तो ऐसा रोज़ ही होता है. हर रोज़ उसका दिन बुरा ही जाता है.

अगर वो ऐसा कहती है तो उससे अलग हो जाने में ही बेहतरी है और कुछ ऐसे दोस्त बनाने की जरूरत है जो हर स्थिति में खुश रहना जानते हैं. आपको ऐसे लोगों से बात करने की जरूरत है जो आपको समझाते हैं.

  1. अपने माता-पिता से बात कीजिए – Talk to Parents

माता-पिता (parents) से बढ़कर दूसरा कोई सहारा नहीं है. आप उनसे अपनी परेशानी साझा (share your problem) कर सकते हैं और अगर आपको ये लगता है कि बुजुर्ग माता-पिता (old parents) ये जानकर दुखी होंगे तो जरा ये सोचिए जब आपकी तबियत ज्यादा बिगड़ (health gone bad) जाएगी तो उन्हें कैसा लगेगा.

  1. परेशानी की वजह को जड़ से खत्म कर दीजिए – Remove Problem from Roots

डिप्रेशन से बाहर आने के लिए बहुत जरूरी है कि आप उसके कारण (away from the reason) से दूर हो जाएं. कुछ भी खत्म (finish) नहीं होता है आप अभी युवा (young) हैं और आप इन परिस्थितियों (situation) को बहुत आसानी से संभाल (easily handle) सकते हैं.

अगर आप किसी ऐसे आफिस (working in office) में काम कर रहे हैं जहां माहौल सही नहीं (working atmosphere is not right) है तो तुरंत उसे छोड़ दें. अगर आपका रिलेशनशिप (relationship) जहर बन चुका है तो उसे खत्म करना ही सही है. अपनी सोच को आगे बढ़ाइए (grow your thoughts) और जीवन में आगे बढ़िए.

  1. काम वही कीजिए जिससे आपको खुशी मिले- Do that Work which gives you Happiness

हममें से कितने लोग ऐसे (how many people from us) होंगे जो वही काम करते हैं जिनसे उन्हें खुशी (happiness) मिलती है? शायद बहुत ही कम लोग ऐसे होंगे जो अपनी मर्जी से जिन्दगी (living life on their own conditions) जीते हैं. अपने आपको ऐसा मत बनाइए कि 70 साल की उम्र में आपको ये अफसोस (guilty) रह जाए कि बहुत से ऐसे काम थे जो करने थे पर (you did not do the things which you want to do) नहीं किए.

  1. अनदेखी करें मेडिकल सलाह लें- Don’t ignore, consult Psychiatrist

माना कि आपके पास दोस्तों की (lack of friends) कमी नहीं है और आपका परिवार (your family) आपके हर दुख-तकलीफ में आपके साथ है (with you in every problem) लेकिन सिर्फ उनके प्यार (love) से आपकी ये समस्या (problem) दूर नहीं हो सकेगी. हो सके तो किसी डाक्टर या मनोचिकित्सक (consult doctor or psychiatrist) से सलाह लें.

यह भी पढ़ें :- क्या आपको पता है के आपके मरने के बाद आपके साथ होंगी यह पांच अद्भुत चीजें

यह भी पढ़ें :- अगर टूथब्रश शेयर करते हो तो सावधान हो सकती है यह चार खतरनाक बीमारियां

  1. अकेले घूमने निकल जाएं – Go for Outing/ Traveling Alone

20 का होने तक आपने बहुत सी यात्राएं (so many traveling) की होंगी लेकिन इस बार अकेले घूमने (plan of outing/traveling) का प्लान बनाइए. बचपन (childhood) में आप चाचा, चाची, मामा, मामी, उनके बच्चों (their childrens) के साथ गए होंगे और 30 का होते-होते जीवनसाथी (with your life partner) के साथ जाने लगेंगे.

ये वक्त दोबारा लौटकर (this time will never come again) नहीं आएगा. जहां आपका दिल करे वहां अकेले (go alone wherever you want to go/visit) घूमने निकल जाइए. ये जि़न्दगीभर न भूलने वाला अनुभव (experience) रहेगा.

इन सभी बातों के साथ एक जरूरी बात (important thing) ये कि जब आप डिप्रेशन से गुजर (suffering from depression) रही हो तो भी ये याद रखें कि आप (you are not alone) अकेली नहीं हैं.

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, gharelu nuskhe in hindi for health, alternative medicine in hindi,obsessive compulsive disorder, cognitive behavioral therapy, dissociative identity disorder

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *