जाने और अमल करिये इन नुस्खों पर के कैसे होगी नार्मल डिलिवरी , 5 Easy Tips for Normal Delivery of Baby, 5 Pregnancy Tips For Normal Delivery of Baby
जाने और अमल करिये इन नुस्खों पर के कैसे होगी नार्मल डिलिवरी , 5 Easy Tips for Normal Delivery of Baby, 5 Pregnancy Tips For Normal Delivery of Baby

जाने और अमल करिये इन नुस्खों पर के कैसे होगी नार्मल डिलिवरी | 5 Easy Tips for Normal Delivery of Baby| 5 Pregnancy Tips For Normal Delivery of Baby

जाने और अमल करिये इन नुस्खों पर के कैसे होगी नार्मल डिलिवरी | 5 Easy Tips for Normal Delivery of Baby| 5 Pregnancy Tips For Normal Delivery of Baby

 

अगर आप भी चाहती हैं नॉर्मल डिलीवरी तो करें यह उपाय:

नार्मल डिलिवरी सिजेरियन डिलिवरी से ज्यादा सही होती है (normal delivery is better than cesarean delivery)। क्योंकि सिजेरियन डिलिवरी करवाने पर स्ट्रैच मार्क्स (stretch marks) आते है। साथ ही सिजेरियन डिलिवरी के बाद कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है। जबकि नार्मल डिलिवरी में ऐसी कोई भी बड़ी समस्या (no big problem) नहीं आती। इसलिए ज्यादातर गर्भवती महिलाएं (pregnant ladies) सिजेरियन डिलिवरी नहीं, बल्कि नार्मल डिलिवरी करवाना पसंद करती हैं।

कैसे हो नार्मल डिलिवरी: For normal delivery

1) अपने स्वास्थ्य का ध्यान (take care of your health) रखें बच्चे को जन्म देते वक्त आपको बेहद पीड़ा सहनी (feel too much pain) होती है और यह आसान नहीं होता। अगर आप कमजोर हैं और आप में खून की कमी है तो आपके लिए यह काफी मुशकिल होगा। इसलिए अपने स्वास्थ्य का पूरा-पूरा ध्यान रखें। ताकि आपको उस वक्त कम से कम तकलिफ हो। (its a painful process).

CLICK HERE TO READ: जानिये महिला और पुरुष दोनो कि सेक्स पॉवर बढ़ाने के नुस्खे

2) अच्छा भोजन करें – Eat good and healthy food

गर्भवस्था के दौरान आपने डॉक्टर (doctor) के कहे अनुसार ही भोजन करें। नार्मल डिलिवरी में आपके शरीर से दो से तीन चार सौ एम.एल. ब्लड जाता है। इसलिए ताकत (power) और पोषण के लिए खाने में ज्यादा से ज्यादा पोषक तत्व खाएं। प्रेगनेंसी में आयरन और कैल्शियम (need more iron and clacium) की बहुत जरुरत पड़ती है इसलिए जितना भी हो सके अपने आहार में इसे जरुर (add it in your diet) शामिल करें।

3) शरीर में पानी की कमी से बचें – drink juices and more water

आपके गर्भाशय में शिशु एक तरल पदार्थ से भरी हुई झोली एमनियोटिक फ्लयूड में रहता है। जिससे बच्चे को ऊर्जा (energy) मिलती है। इसलिए आपके लिए रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पीना बहुत जरुरी है। इससे आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होती।

4) पैदल चलें और टहलते रहें – walk for few minutes

गर्भवति महिलाओं के लिए आराम जरूरी है, लेकिन इसका अर्थ अपने काम से जी चुराना नहीं है। कोशिश करें आपकी रोजमर्रा की जिंदगी (daily routine life) में ज्यादा फर्क न आए। दफ्तर और घर (home and office) के काम सामान्य रूप से ही करती रहें। पैदल चलना और टहलना आपके लिए अच्छा रहेगा। बाजार (market) तक जाना हो तो कार या किसी वाहन (avoid car or any vehicle) के स्थान पर पैदल ही जाएं तो बेहतर। ऑफिस में भी जरा घूम-फिर लिया कीजिए।

5) एक्ससाइज – light exercise is good

अगर आप प्रेगनेंट होने के पहले से ही रोजाना एक्ससाइज (daily exercise) करती आ रहीं हैं, तो नार्मल डिलिवरी होने के चांस बढ़ जाते हैं। गर्भवस्था के दौरान आप कोई फिटनेस सेंटर ज्वाइंन (join fitness center) कर सकती है, जो आपकी मासपेशियों को मजबूत करने के लिए प्रशिक्षण (practice) दे सके। प्रसव के दौरान मजबूत मासपेशियों का होना बहुत जरूरी है।

CLICK HERE TO READ: जानिये माहवारी -मासिक धर्म के सभी दुःख- दोषों को दूर करने के नुस्खे

इन उपायों को आजमाने से आपको स्वस्थ गर्भावस्था (healthy pregnancy) तो मिलेगी ही साथ ही आपका प्रसव भी काफी आरामदेह तरीके से हो सकेगा। याद रखिए, शारीरिक रूप (physically active) से सक्रिय रहने का कोई विकल्प नहीं है। इससे गर्भावस्था के दौरान आप स्वस्थ रहती हैं और आपका बच्चा भी स्वस्थ (healthy baby born) पैदा होता है।

NOTE: Yeh personal experience hai ke private doctors aapka operation hi karenge kyonki tabhi unhe jyada paise milenege, ho sake to delivery government hospital se hi karwaye, baaki jaisa aapko theek lage.

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

       

       
error: Content is protected !!