जानिये क्या है गले में खराश से राहत पाने के कुछ आसान घरेलू नुस्खे , Jaaniye kya hai gale mein kharaash se raahat paane ke kuch gharelu nuskhe
जानिये क्या है गले में खराश से राहत पाने के कुछ आसान घरेलू नुस्खे , Jaaniye kya hai gale mein kharaash se raahat paane ke kuch gharelu nuskhe

जानिये क्या है गले में खराश से राहत पाने के कुछ आसान घरेलू नुस्खे | Jaaniye kya hai gale mein kharaash se raahat paane ke kuch gharelu nuskhe

जानिये क्या है गले में खराश से राहत पाने के कुछ आसान घरेलू नुस्खे | Jaaniye kya hai gale mein kharaash se raahat paane ke kuch gharelu nuskhe

 

 –  गले में खराश के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचार (good home remedies) क्या हैं? |

 –  गले में खराश किसी भी वजह से हो सकती है, यह खांसी का शुरुआती लक्षण (symptoms of cough) हो सकता है, या कुछ खाने के बाद गले में खुजली और खराश हो सकती है। ठंड के कारण भी गले में खराश हो सकती है।

 –  यदि गले में खराश हो, तो इससे तुरंत राहत पाने (for quick relief) के लिए आप कुछ तरीके अपना सकतें हैं

जैसे:- Like:-

 –  मुलहठी, काली मिर्च (black pepper) और मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर इनका चूर्ण बना लें, और मुँह में रख लें। शहद के साथ गोलियां बना कर भी प्रयोग (you can use them with honey too) कर सकतें हैं।

 –  गरम पानी में नमक डालकर के गरारे (do gargle) , करने से भी गले की खराश में राहत मिलती है। इससे न सिर्फ आपको तुरंत राहत मिलती है, बल्कि यह वायरस को अक्रियाशील (disinfect the infection) बनाने में भी सहायक होता है।

 –  गले में खराश के लिए लौंग का इस्तेमाल भी महत्वपूर्ण (using clove is also very important) होता है। एक लौंग को मुँह में रख लें और इसे इसे धीरे-धीरे चबाते रहें।

 –  अदरक, गले की खराश में तुरंत राहत देने वाली दवाओं (medicine)में शामिल है। इसके लिए आप अदरख के एक टुकड़े (piece of ginger) को मुँह में रख सकतें हैं, या इसके छोटे से टुकड़े का पेस्ट बना कर शहद में मिलाकर चाट सकते हैं। बिना दूध वाली अदरख की चाय भी इसमें बहुत फायदेमंद (helpful) होती है।

Click here to read: जानिये औरत के गर्भ को कैसे ताकतवर बनाये जिससे माँ और बच्चा स्वस्थ रहे

Gale mein Kharaash ke Kuch Aur Nuskhe

– हर 2 घंटे गर्म पानी में नमक डालकार गरारा करें क्योंकि गर्म पानी और नमक गले में ठंडक देते हें, एंटीसेप्टिक (antiseptic) होने के नाते यह संक्रमण को कम करने में (help to reduce infection) मदद करता है।

– रात को सोते समय दूध और आधा पानी (milk and water) मिलाकर पिएं।

– रूखा भोजन, सुपारी, खटाई, मछली (fish), उड़द इन चीजों से परहेज (Avoid) करें।

– 1 कप पानी में 4-5 काली मिर्च एवं तुलसी की 5 पत्तियों को उबालकर (boil) काढ़ा बना लें और इसे धीरे-धीरे चुसकी लेकर पिएं।

– ज्यादा तैलीय (oily) व मैदे से बनी चीजों का सेवन करने से बचें।

– गले में खराश होने पर जब भी प्यास लगें तो गुनगुना पानी (drink warm water only) ही पिएं।

– काली मिर्च को 2 बादाम (almond) के साथ पीसकर सेवन करने से गले के रोग (throat infection) दूर हो सकते हैं।

– शरीर में टॉक्सिन (toxin) की मौजूदगी गले की खराश को और बढ़ा देती है, इसलिए ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ का सेवन करें (use more liquid diet), ताकि टॉक्सिन शरीर से बाहर निकल सकें।

Click here to read: यह है 6 दमदार और रामबाण नुस्खें जिनसे आप ख़ुद को बढ़ती उम्र में जवान बनाये रख सकते है

Click here to read: जानिये सात मसालों के बारे में जिनमें होते हैं सेहत सुधारने वाले हीलिंग गुण

– अदरक की चाय (ginger tea) भी गले की खराश में बहुत लाभदायक (very helpful) है।

– दो-तीन लौंग के साथ एक-दो लहसुन की कलियों (garlic pieces) को पीस कर पेस्ट (paste) बना लें इसमें थोड़ा सा शहद मिला लें। इस मिश्रण को दिन में दो या तीन (use this mixture 2-3 times a day) बार लें।

– दूध में थोड़ी सी हल्दी डालकर इसे उबाल लें (drink warm milk while adding a bit of turmeric powder in it) और बिस्तर पर जाने से पहले इसे पीएं। हल्दी में एंटीस्पेटिक होने की वजह से यह गले में आराम पहुंचाएंगा।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे,sore meaning in hindi, गले के कैंसर के लक्षण, gale ke cancer ka ilaj in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*