जानिये कैसे वज़न कम करके घुटनों को बचाया जां सकता है – Know How To Save Your Knee By Loosing Weight

जानिये कैसे वज़न कम करके घुटनों को बचाया जां सकता है – Know How To Save Your Knee By Loosing Weight

Save Your Knee By Loosing Weight

क्या वज़न अधिक होने से घुटनों से संबंधित समस्याएं (knee related problem) हो सकती हैं? हाल ही में किये गए अध्ययन (research) से पता चला कि कि मोटे लोग (healthy peoples) वज़न कम करके घुटने से संबंधित समस्याओं (stop knee related problems) को रोक सकते हैं। अतिरिक्त वज़न (extra weight) के कारण घुटने की कार्टिलेज (cartilage- उपास्थि) ख़राब हो सकती है।

ऑस्टियोआर्थराइटिस एक बीमारी (disease) होती है जो शरीर के जोड़ों (body joints) को ख़राब कर सकती है तथा मोटापे (obesity) के कारण स्थिति और भी (bad situation) ख़राब हो सकती है।

सुकून की अच्छी नींद पाने के लिए इन घरेलू नुस्खों को अप्नाये

Click Here to Read:- 10 Natural Home Remedies for the Treatment of Jaundice

इस अध्ययन (one research) के अनुसार वज़न कम करने से जोड़ों को होने वाले नुकसान (safety from joint problems) से बचा जा सकता है। क्या आवश्यकता से अधिक वज़न (more then than needed) के कारण घुटनों की समस्या (knee problem) आ सकती है? अध्ययन में यही बताया गया है कि यदि जोड़ों की समस्या की तरफ ध्यान नहीं दिया गया तो कई लोगों में विकलांगता (problem of handicapped) की समस्या भी आ सकती है। अत: मोटापे को रोककर हम एक खतरे (can away from problem) को दूर रख सकते हैं।

इस अध्ययन में लगभग 500 मोटे लोगों के वज़न घटाने (weight reduce) और उपास्थि के पतन के बीच संबंध का (research on 500 peoples) अध्ययन किया गया। इनमें से अधिकाँश लोग (mostly people) ऑस्टियोआर्थराइटिस या घुटने की अन्य समस्याओं (infected with other knee problems) से ग्रसित थे।

शोधकर्ताओं. (researchers) ने सहभागियों को 3 समूहों में बांटा। एक समूह. (group) किसी भी प्रकार के वज़न कम. (weight loss) करने के प्रयत्न में शामिल नहीं. (not added) था जबकि दूसरे समूह ने अध्ययन के दौरान कुछ वज़न कम. (loses some weight) किया था। तीसरे समूह को अध्ययन के एक भाग. (in one part) के रूप में लगभग 10% वज़न कम करने के लिए कहा गया।

यह अध्ययन 4 वर्ष किया गया। परिणामों. (results) से यह तथ्य. (facts) सामने आया कि वज़न कम करने से घुटनों को होने वाले नुकसान. (can stop loss of knees) को रोका जा सकता है। वे लोग जिन्होंने लगभग 10% वज़न कम किया था उनकी उपास्थि में कम खराबी. (very less problem) आई।

जानिये 10 बहुत ही सरल नुस्खे खुश रहने के लिए

अन्य दो समूह जिन्होनें बहुत कम या बिलकुल भी वज़न कम. (not loss weight) नहीं किया था उनकी उपास्थि में खराबी होने के स्तर में कोई अंतर. (no difference in problem) नहीं आया। इसका अर्थ. (it means) यह है कि वज़न कम होने का सीधा असर घुटनों. (straight effect on knees) पर पड़ता है। वे लोग जो नियमित तौर पर कसरत. (regular exercise) करके या उचित आहार. (proper diet) लेकर वज़न कम करते हैं उनके लिए ऑस्टियोआर्थराइटिस का खतरा कम. (less danger) हो जाता है।

तो आप किस बात का इंतज़ार. (what are you waiting for) कर रहे हैं? यदि आपका वज़न आवश्यकता से अधिक. (more than enough) है तो अपने घुटनों को सभी समस्याओं से बचाने के. (reduce some weight) लिए वज़न कम करें।

दादी माँ के नुस्खे, घरेलू नुस्खे, gharelu nuskhe in hindi for health. natural medicine in hindi, Save Your Knee By Loosing Weight

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *