जरूर आजमाए कुछ नुस्खे गहरी नींद के लिए , Jaroor ajmaayein kuch nuskhe gehri neend ke liye
जरूर आजमाए कुछ नुस्खे गहरी नींद के लिए , Jaroor ajmaayein kuch nuskhe gehri neend ke liye

जरूर आजमाए कुछ नुस्खे गहरी नींद के लिए | Jaroor ajmaayein kuch nuskhe gehri neend ke liye

जरूर आजमाए कुछ नुस्खे गहरी नींद के लिए | Jaroor ajmaayein kuch nuskhe gehri neend ke liye

 

गहरी नींद और स्वास्थ्य चिकित्सा के क्षेत्र में चल रहे शोध से यह सिद्ध हो चुका है कि भरपूर नींद (Deep Sleep) शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य (physical and mental health) तथा सुंदरता के लिए बहुत ही आवश्यक (very important) है। यह प्रकृति (nature) की एक महान् पौष्टिक औषधि है। नींद हमें अपनी ऊर्जा (energy) को फिर से हासिल करने, हमारे दिमाग को तरोताज़ा (fresh brain) रखने और शारीरिक संसाधनों (physical resources) के अधिकतम इस्तेमाल करने में मदद करती है। अच्छे स्वास्थ्य और नींद के बीच एक बहुत ही गहरा संबंध (deep relation) है। आजकल लोग स्वास्थ्य और सुंदरता की तलाश (in search of health and beauty) में तरह-तरह के उपाय अपना रहे हैं और बेहद पैसा खर्च (spending so much money) कर रहे हैं। कोई योग के द्वारा तो कोई मेडिटेशन (meditation) और कोई व्यायाम (exercise) के जरिए सुंदर बनना चाहता है। नि:संदेह ये सभी चीजें सुंदरता में सहायक (helpful) हैं, लेकिन इनमें से कोई भी रात की नींद का विकल्प (option) नहीं बन सकता । रात की भरपूर गहरी नींद केवल चिंता दूर भगाने में ही सहायक नहीं है, बल्कि आपके पूरे शरीर को नियंत्रित (controlling your body) करने में महत्वपूर्ण योगदान (important contribution) देती है।

– आरामदेह और तरोताज़ा कर देनेवाली नींद के लिए यह ज़रूरी है कि आपका बिस्तर आरामदेह (comfortable bed) हो । इसलिए मध्यम श्रेणी के मुलायम गद्दे पर सोने का बहुत अधिक महत्व है। ज्यादा मुलायम गद्दे पर सोने से पीठ में दर्द और कमर के दर्द (back pain) की दूसरी समस्याएं तो हो ही सकती हैं। ज्यादा मुलायम या ज्यादा कड़ा कठोर गद्दा आपकी रीढ़ के लिए ख़राब (bad for your back bone) होता है। यह अधिक असुविधाजनक (uncomfortable) भी होता है क्योंकि इस पर धंसी हुई स्थिति में सोना पडता है।

CLICK HERE TO READ: जानिये आखिर यह 7 फल और सब्जियां कैंसर के जानी दुश्मन कैसे हैं

CLICK HERE TO READ: जानिये नपुसंकता दूर कर मर्दांगनी फिर से वापस पाने के नुस्खे

– तकियों के ढेर (एक से ज्यादा तकियों- bunch of pillows) पर सिर को ऊंचा रखकर सोने से आपकी गर्दन में दर्द (pain in neck) और ठोढ़ी दोहरी हो जाएगी और आप खर्राटे (snoring) भी लेने लगेंगे। याद रखें केवल एक चौड़े तकिए (use flat pillow) का ही इस्तेमाल करें।

– यदि संभव हो तो गद्दे के निचले हिस्से को उठाएं (पैर वाले सिरे को) ताकि आपके पैर सिर के तल से छह इंच या एक फुट ऊपर उठे रहें। यह सोने के लिए एक आदर्श स्थिति (perfect position) है क्योंकि इसमें खून का बहाव पीछे की ओर यानि पैर से दूर हृदय (from feet to heart) की ओर होता है।

– जब आपके परिवार के लोग सो रहे हों और आपको नींद नहीं आ रही हो तो इस समय का इस्तेमाल (use this time) करें। कुछ पढ़ें (read something) या मधुर संगीत सुनें (listen soft music) या बस ध्यान करें। धीरे-धीरे जैसे ही आप आराम करने लगेंगे आपको नींद आने लगेगी।

– गहरी नींद पाने के लिए आप ब्रेन वेव थेरपी (brain wave therapy) के अंतर्गत आने वाली (Theta Brain waves 3 TO 8 HZ ) को भी सुन सकते है इस बैंड विड्थ (band width) पर दिमाग पूरी तरह शांत और एकाग्र (calm and concentrate) हो जाता है जो अच्छी नींद के लिए बहुत जरुरी होता है|

– अगर नींद आने में दिक्कत (problem in sleeping) हो तो नींद की गोली न लेने का प्रयास करें। इन गोलियों से आरामदेह (easy) और प्राकृतिक (comfortable) नींद नहीं आती। अप्राकृतिक और ज़बर्दस्ती की नींद लाने से आप ताज़गी महसूस नहीं करेंगे और सिरदर्द (headache) होता रहेगा। इसके अलावा आपकी सेहत भी बिगड़ (effects your health) जाएगी।

– आपको अपने सोने का समय निश्चित कर लेना चाहिए और उसी समय पर सोने की कोशिश (try to sleep on particular time) करनी चाहिए। गहरी नींद के लिए प्रतिदिन थोड़ी देर व्यायाम (do regular exercise) करना भी जरूरी है।

– सुबह अलार्म की सहायता (with the help of alarm) से उठने के बजाय अपने आप उठने का प्रयास करे ऐसा आप तभी कर पाएंगे जब आपका सोने और उठने का समय निश्चित और अनुशाषित होगा |

– आप जिस कमरे में सोते हों, कोशिश करें कि उसको केवल सोने का कमरा ही रखा जाए, उसको स्टडी (study) या टी.वी. रूम (TV room) न बनाया जाए।

– कमरे का तापमान मौसम के अनुकूल रखिये और सोने का कमरा शांत (calm) हो तथा उसमे धीमी रोशनी (dim light) हो |खिडकियों पर गहरे रंग के पर्दे (dark color curtain) हो ताकि बाहर की रोशनी अंदर न आये |

CLICK HERE TO READ: स्वादिष्ट और हेलदी खजूर और कॉफी का मिल्कशेक

– चावल और आलू (Avoid eating rice and potato in evening) जैसी गरिष्ठ चीजों को शाम के समय खाने से बचना चाहिए। मैग्नीशियम से भरपूर भोजन ले (eat magnesium food) यह नींद लाने में सहायक होते है |

– अपने भोजन या नाश्ते में कुछ विशेष तरह के कार्बोहाइड्रेट (carbohydrate) और फाइबर (fiber) वाली चीजें, जैसे गेहूं, पास्ता, अंकुरित चना व मूंग की दालें आदि शामिल करें। यह सेरोटॉनिन नामक तत्व उत्पन्न करता है, जिससे नींद भी गहरी आती है।

– रात को सोते समय संतुलित भोजन (balanced diet) करना चाहिए यानि न ज्यादा खाना खाए न ही कम |और खाली पेट बिल्कुल (never sleep empty stomach) न सोये |

– सोने से एक घंटे पहले ज्यादा पानी ना पिए क्योंकि इससे आपको बार बार बाथरूम जाना पड़ सकता है (going bathroom again and again) और आप गहरी नींद नहीं ले पाएंगे |अगर आपको खांसी या कफ की शिकायत है (problem of cough and cold) तो जल्द ही इसका इलाज करवा ले क्योंकि इससे भी नींद में बाधा उत्पन्न होती है |

– प्रातः जल्दी उठने का प्रयास करें और प्रतिदिन मॉर्निग वॉक (do morning walk regularly) करें।

– शाम के समय अपना मनपसंद आउटडोर खेल खेलें (play outdoor game in evening) इससे मनोरंजन के साथ- साथ अच्छा खासा व्यायाम (entertainment and exercise) भी हो जाता है |

– पैर के तलवो पर हल्के गर्म सरसों के तेल की मालिश भी गहरी नींद आने में मदद (oil massage on toes helps in good sleep) करती है |

– सोते समय चाय, कॉफी या शराब का सेवन बिल्कुल (Avoid tea, coffee and wine) न करें। मादक द्रव्य आपकी नींद को दो घंटे पीछे धकेल देते हैं।और आप गहरी नींद नहीं ले पाते हैं |इसके विकल्प (optional) के तौर पर सोने से 30 मिनट पहले Chamomile Tea ले सकते है

– शाम को 7 या 8 बजे तक रात्रि भोजन कर लेने से भोजन को पचने का वक्त मिल जाता है (get sometime to digest) और आप शरीर को हल्का महसूस करते हैं। सोने से दो तीन घंटे पहले खाना खा लेने चाहिए |

– अगर आपको अनिंद्रा (Insomnia) की समस्या है तो दिन में नींद की झपकी (avoid sleep in day) बिल्कुल न लें |

– अपने मस्तिक्ष को सोने के लिए तैयार करें (prepare your brain for sleep) इसके लिए आप सोने से पहले ध्यान केन्द्रित करने वाला कार्य करें जैसे किताब पढना (book reading) या योग मैडिटेशन (yog meditation) करना या हल्का संगीत सुनना |सोने से पहले किसी भी प्रकार का तनाव (depression) ,उधेड़बुन ,चिंता (stress) , हिसाब -किताब ,आवेश ,और उत्साह (excitement) से बचें |

– सोते समय सभी उपकरण बंद कर दे जैसे मोबाइल फ़ोन (mobile phone), लैंड लाइन (landline) आदि | इससे नींद के दौरान किसी प्रकार की व्यवधान (interruption) उत्पन्न नहीं होगा जो गहरी नींद की पहली शर्त होती है |

– आपके सोने के दौरान आपका शरीर अपने वज़न के हिसाब से प्रति पाउंड प्रति घंटा आधा कैलरी (sleeping also burns your calorie) जलाता है।

– अपनी छाती पर जो एक्युप्रेशर प्वाइंट (acupressure point) है, उस पर थोड़ी मालिश (massage) करें। इससे गहरी नींद तो आयेगी ही साथ ही तनाव भी मुक्ति (relief from stress) मिलेगी और पाचन शक्ति (improves digestion system) भी बढ़ेगी।

– अपने पालतू जानवरों (Pet animals) को अपनी नींद में बाधा न बनने दे |

– ज्यादा शारीरक मेहनत (physical work) और कम तनाव (less stress) ही गहरी नींद की अचूक प्राकृतिक दवा (perfect natural treatment) है |

CLICK HERE TO READ: क्या आपको पता है के बेकार पड़े फ्रूट के छिलकों में छिपा खूबसूरती का खजाना

गहरी नींद क्यों है जरुरी ? Deep Sleep Benefits

– जैसे ही आपको नींद आती है, आपके शरीर की मशीन (body machine) काम करना कम कर देती है। सभी अंग शिथिल पड़ जाते हैं, इसलिए जब आप सोकर उठते हैं तो तरोताजा महसूस (fleeing fresh in morning) करते हैं।

– सोते समय ही नई कोशिकाएं जन्म (new tissues) लेती हैं और एंटी बॉडीज (anti bodies) उत्पन्न होते हैं।

– अक्सर लोगों की आँखों के नीचे गहरे रंग के धब्बे (dark circles below eyes) हो जाते हैं जो आंखों के साथ-साथ चेहरे की सुंदरता को भी कम (reduces beauty of face) कर देते हैं। ये धब्बे तभी पड़ते हैं, जब आंखों से ज्यादा काम लिया जाए और उनकी भरपूर विश्राम न मिले। इनको मिटाने के लिए भरपूर नींद (take better sleep) बेहद जरूरी है।

– नींद पूरी न होने से त्वचा पर भी दुष्प्रभाव (it effects skin too) पड़ता है। धीरे-धीरे त्वचा ढीली, रूखी और निस्तेज हो जाती है। कांतिमय त्वचा के लिए सोना बहुत जरूरी है।

– आपको पर्याप्त मात्रा में गहरी नींद नहीं आती तो आपकी त्वचा इस बात को जता देगी। वह रूखी (dry), दागदार और निर्जीव (dead) लगेगी।

– हर एक की नींद की जरूरत अलग-अलग होती है। आपको एक दिन में कितने घंटे की नींद चाहिए इसका कोई सही नुस्खा नहीं है (no accurate time)  यह व्यक्ति विशेष की शारीरिक अवस्था (physical condition) और उसकी उर्जा की जरूरतों (need of energy) पर निर्भर करता है | औसतन स्वस्थ व्यक्ति (average healthy person) को एक दिन में कोई आठ घंटे सोना चाहिए | किंतु कुछ लोग चार से छह घंटे सो लेने के बाद जागने पर भी ताज़ा (fresh) हो सकते हैं। जबकि कुछ लोगों को 10 घंटे की नींद की ज़रूरत होती है। अधिकतर शिशु और बच्चे (babies and children) रोज़ाना औसतन 12 से 14 घंटे सोते हैं। मानसिक रूप से परेशान और डिप्रेशन के मरीजो (patients of depression) को ज्यादा नींद (need more sleep) की जरूरत होती है।

– इस बात का ख्याल रखें कि (keep in mind) कभी-कभी नींद की इच्छा इसलिए भी नहीं होती कि उस समय आपके शरीर को सोने की ज़रूरत नहीं होती।

– लंबे समय तक पर्याप्त नींद न लेते रहने से आपकी याद्दाश्त तो प्रभावित होती है| अनिंद्रा होने से मेमोरी लोस या शोर्ट टर्म मेमोरी (memory loss or short term memory loss), उच्च रक्त चाप (high blood pressure) जैसी गंभीर समस्याए हो सकती है |

आयुर्वेदिक उपचार, घरेलू उपचार, आयुर्वेदिक उपचार, दादी माँ के नुस्खे , घरेलू नुस्खे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*