चुकन्दर के ये 11 फायदे आपको हैरान कर देंगे – These 11 benefits of beetroot can shock you

चुकन्दर के ये 11 फायदे आपको हैरान कर देंगे – These 11 benefits of beetroot can shock you

Benefits of beetroot – अगर आप अपनी डायट (diet) में लाल-बैंगनी रंग (red purple color) के चुकन्दर को शामिल नहीं कर रहे हैं, तो फौरन कर दीजिए। ये आर्टिकल (article) पढ़कर आपको चुकन्दर के ऐसे फायदों के बारे में मालूम चलेगा जो (you did not know before) आप अब तक नहीं जानते थे। चुकन्दर आपके ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रण  (controls blood sugar level) में रखने से लेकर आपका सेक्सुअल स्टैमिना (sexual stamina) तक बढ़ाता है। ये एक नेचुरल फूड कलर (natural food color) के रूप में भी काम करता है। चुकन्दर को आप सलाद, जूस (juice) या हलवा किसी भी रूप में ले सकते हैं। जानिये इस खूबसूरत रंग (beautiful colored vegetable) वाली सब्जी से आप क्या क्या लाभ उठा सकते हैं।

यह भी पढ़ें :- जानिये कौन कौन से आहार है महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए| Jaaniye kaun kaun se ahaar hai mahilaon ke swasthya ke liye

Benefits of beetroot

 1) ब्लड शुगर लेवल कम करता है – Reduces Blood Sugar Level.

चुकन्दर नाइट्रेट्स (nitrates) का एक अच्छा स्रोत (good source) है, इसका सेवन किए जाने पर ये नाइट्राइट्स (nitrites) और एक गैस नाइट्रिक ऑक्साइड्स (nitric oxides) में बदल जाता है। ये दोनों तत्व धमनियों (blood vessels) को चौड़ा करने और ब्लड प्रेशर को कम करने में (helps in reducing blood pressure) मदद करता है। शोधकर्ताओं (researchers) ने ये भी पाया है कि हर रोज़ 500 ग्राम चुकन्दर खाने से लगभग 6 घंटे में व्यक्ति का ब्लड प्रेशर घट जाता है।

2) ख़राब कोलेस्ट्रॉल कम करता है – Reduces Bad Cholesterol.

चुकन्दर में काफी मात्रा में फाइबर(fiber), फ्लेवेनॉइड्स (flavanoids) और बेटासायनिन(betacyanin) होता है। बेटासायनिन की वजह से ही चुकन्दर का रंग लाल-बैंगनी होता है। यह एक शक्तिशाली (power antioxidant) एंटीऑक्सीडेंट है। यह एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का ऑक्सीकरण (helps in reducing) कम करने में मदद करता है जिसकी वजह से यह धमनियों में नहीं जमता। इससे दिल के दौरे का जोखिम (reduces heart danger) कम हो जाता है।

3) गर्भवती महिलाओं और भ्रूण के लिए फायदेमंद- Benefit for Pregnant Ladies and Womb.

चुकन्दर में उच्च मात्रा में फॉलिक एसिड (pholic acid) पाया जाता है। यह पोषक तत्व गर्भवती महिलाओं (pregnant ladies) और उनके अजन्म बच्चों के लिए महत्वपूर्ण (important) होता है क्योंकि इससे अजन्म बच्चे का मेरुदंड बनने में मदद मिलती है। चुकन्दर गर्भवती महिलाओं को अतिरिक्त (gives extra energy) ऊर्जा देता है।

4) आस्टिओपरोसिस से बचाव – Safety from Osteophorious.

चुकन्दर में मिनरल सिलिका (mineral silica) मौजूद होता है। इस तत्व की वजह से शरीर कैल्शियम (calcium) को प्रभावी रूप से इस्तेमाल कर पाता है। कैल्शियम हमारे दांतों और हड्डियों (teeth and bones) के स्वास्थ्य के लिए जरूरी होता है। इसलिए दिन में एक ग्लास चुकन्दर का जूस पीने (beetroot juice) से आप आस्टिओपरोसिस और हड्डियों व दांतों की दूसरी समस्याओं से बचे रह सकते हैं।

5) डायबिटीज़ पर नियंत्रण- Control on Diabetes.

जिन लोगों को डायबिटीज़ (diabetes) होती है वो चुकन्दर खाकर अपने मीठे की तलब मिटा सकते हैं। इसको खाने का फायदा (benefit) ये होता है कि मीठे की तलब पूरी होने पर भी ये आपका ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ाता (not increases blood sugar level) क्योंकि ये ग्लाइसेमिक इंडेक्स वेजिटेबल (glycaemic index vegetable) है। इसका अर्थ ये है कि ये खून में बहुत धीरे-धीरे शुगर रिलीज़ (releases sugar slowly) करती है। इसमें बहुत कम कैलोरी होती है और इसका फैट-फ्री (fat free) होना भी इसे डायबिटीज़ के मरीजों के लिए परफेक्ट वेजिटेबल (perfect vegetables) बनाता है।

6) एनीमिया से लड़ता है – Fight with Anemia.

ये एक मिथक (myth) है कि रंग में लाल होने के कारण चुकन्दर खून की कमी को मिटाने में मदद (helps in reducing) करता है, और इस वजह से ये एनीमिया (anemia) में जरूर खाना चाहिए। हालांकि इस मिथक में आधा सच (half truth) भी छिपा है। चुकन्दर में बहुत अधिक आयरन (iron) होता है और आयरन की मदद से हीमाग्लूटनिन (haemaglutinin) बनता है, जो कि रक्त का ही एक ऐसा हिस्सा होता है जो ऑक्सीजन (pxygen) और बहुत से पोषक तत्वों (nutrition elements) को शरीर के दूसरे अंगों (other parts) तक पहुंचाने में मदद करता है। चुकन्दर के यही आयरन तत्व (iron elements) एनीमिया से लड़ने में मदद करते हैं।

7) थकान दूर करता है – Reduces Fatigue and Laziness.

चुकन्दर एनर्जी को (increases energy) बढ़ाता है। इसके नाइट्रेट तत्व (nitrate elements) धमनियों का विस्तार करने में मदद करते हैं जिससे कि शरीर के सभी हिस्सों (all parts) में ऑक्सीजन ठीक प्रकार से पहुंच पाती है और इससे शरीर में एनर्जी (increase energy) बढ़ती है। इसके अलावा, चुकन्दर में आयरन बोता है जो कि स्टैमिना (increases stamina) बढ़ाने का काम करता है।

8) सेक्शुअल हेल्थ और स्टैमिना बढ़ाने वाला – Increases Sexual Health and Stamina.

चुकन्दर को नेचुरल वियाग्र (natural) भी कहा जाता है। पुराने ज़माने (old time) में इसका इस्तेमाल यौन स्वास्थ्य (sexual health) के लिए किया जाता है। चुकन्दर नाइट्रिक ऑक्साइड (nitric acid) रिलीज़ करता है जिससे कि रक्त वाहिनियों का विस्तार (develop) होता है और जेनेटल्स (gentiles) में खून का दौरा बढ़ता है। इसके अलावा, चुकन्दर में बहुत अधिक मात्रा में एक केमिकल बोरॉन (chemical boron) पाया जाता है जो कि ह्यूमन सेक्स हार्मोन (human sex hormone) के निर्माण में मददगार होता है। इसलिए अगर अगली बार वियाग्रा लेने का सोचें तो पहले (must try beetroots) चुकन्दर ट्राई कर लें।

यह भी पढ़ें :- यह है 7 चौंकाने वाले कारण लंबे समय से सर्दी और जुकाम के ठीक ना हो पाने के | These are the 7 signs of cough and cold

Click here to read:-  Is Cold Drink Safe or Not During Pregnancy?

Benefits of beetroot

9) कैंसर में फायदेमंद- Helpful in Cancer.

चुकन्दर का बेटासायनिन (betacyanin) तत्व एक और बहुत ज़रूरी काम करता है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (howard university) में हुए एक अध्ययन (research) में ये पाया गया कि जिन लोगों को ब्रेस्ट या प्रोस्टेट कैंसर (breast and prostat cancer) होता है, वो अगर चुकन्दर खाए तो उनके ट्यूमर (tumor) बढ़ने की गति 12.5% कम हो जाती है। जिन लोगों को ये खतरनाक बीमारी (dangerous infection) नहीं है उनके चुकन्दर खाने से इसका जोखिम (reduce the danger) कम हो जाता है।

10) कब्ज़ से राहत – Relief from Constipation.

चुकन्दर में फाइबर. (fiber) पाया जाता है, इस वजह से ये एक रेचक औषधि. (medicine) के रूप में काम करता है। इससे स्टूल नरम. (soft the stool) हो जाता है। साथ ही पेट से सारे टॉक्सिन्स. (remove all toxins) निकल जाते हैं।

11) दिमाग तेज़ करता है – Sharpen the Brain.

चुकन्दर का जूस पीने से व्यक्ति का स्टैमिना. (stamina) 16 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। ऐसा इसके नाइट्रेट तत्व .(nitrate nutrients) के कारण होता है। शरीर में ऑक्सीजन. (oxygen) बढ़ने से मस्तिष्क भी ठीक प्रकार से अपना काम कर पाता है। चुकन्दर खाकर आप डिमेंशिया तक. (relief from dimensia) में राहत पा सकते हैं।

Benefits of beetroot, घरेलू उपचार, gharelu nuskhe in hindi for health. Benefits of beetroot, alternative medicine in hindi

, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *