एसिडिटी को ठीक या काबू करने वाले नुस्खे , Acidity ko theek ya kabu karne ke nuskhe
एसिडिटी को ठीक या काबू करने वाले नुस्खे , Acidity ko theek ya kabu karne ke nuskhe

एसिडिटी को ठीक या काबू करने वाले नुस्खे | Acidity ko theek ya kabu karne ke nuskhe

एसिडिटी को ठीक या काबू करने वाले नुस्खे | Acidity ko theek ya kabu karne ke nuskhe

एसिडिटी होने पर पेट में जलन , पेट फूलना , गैस बनना , जी घबराना आदि महसूस (feeling) होते है। एसिडिटी की अंग्रेजी दवा (english medicine) लंबे समय तक लेने से बहुत से साइड इफेक्ट (side effects) हो सकते है। इसलिए खाने पीने में बदलाव (changes) और दिनचर्या (daily routine) तथा कुछ तौर तरीके में बदलाव से एसिडिटी की समस्या पर काबू (control on this problem) पाया जा सकता है। यदि एसिडिटी की शुरुआत है तो बिना किसी दवा के भी एसिडिटी ठीक की जा सकती है। आइये देखते है वो कौन कौन से बदलाव है जिन्हें अपनाने से इस समस्या को काबू में किया जा सकता है।

 कुछ विशेष प्रकार की खाने की चीजों से एसिडिटी की परेशानिया (increasing in problem) बढ़ सकती है। अतः इन्हें जानना जरुरी होता है। ताकि उनका परहेज (avoid) किया जा सके। इनको पचाने (digest) के लिए पेट में अधिक एसिड बनता है या ये पेट में एसिडिक प्रभाव पैदा करते है।

 CLICK HERE TO READ: अभी ट्राई करें ये 12 उबटन जो चेहरे को गोरा और साफ करने के लिए 100% उपयुक्त है

एसिडिटी बिना दवा – Acidity treatment without medicine

 खाने पीने के सामान में बदलाव – Changes in your diet

 एसिडिटी होने पर जिन वस्तुओं का परहेज करना चाहिए वे इस प्रकार है : Avoid these things in acidity.

शराब , कोल्ड ड्रिंक (cold drink), शक्कर , चॉकलेट , टमाटर की सॉस , तेज मिर्च मसाले (strong spicy foods), अधिक चिकनाई वाला खाना (fried food), तला हुआ खाना ( पुड़ी , थेपला , परौठा , पकौड़ी , टिकिया , कटलेट्स आदि ) मैदा से बनने वाले सामान ( नान , कचोरी ,समोसा , मठरी आदि ) , फ़ास्ट फ़ूड ( पिज़ा , बर्गर (pizza, burger) आदि ) तथा चाय , कॉफी ।

 कुछ खाने की चीजें जो क्षारीय पेट में प्रभाव पैदा करती है जिनसे एसिडिटी कम हो सकती है वो ये है : These things can reduce acidity.

ताजे पके फल (fresh fruits), कम रेशे वाली पकाई हुई सब्जियाँ जैसे  फूल गोभी, खीरा , बैंगन, लहसुन , आलू , शलगम , हरी मटर, मशरूम , काशीफल ( कददु ),  आदि ।  इसके अतिरिक्त अंकुरित अनाज, गेहू के ज्वारे, गाजर, अंगूर (grapes), नींबू, , तरबूज, बादाम (almonds), कददु के बीज, जैतून का तेल (olive oil) आदि पेट में क्षारीय प्रभाव डालते है। इनसे एसिडिटी में आराम मिलता है।

 एसिडिटी बिना दवा मिटाने के लिए अपनाएं ये तरीके: Use this tips and tricks to reduce your acidity.

—  रोजाना के नाश्ते , दोपहर का खाना तथा रात का खाना इनका समय निश्चित (fix the time for eating the food) करें। इससे उसी समय पर पेट में एसिड बनेगा और यह आपको एसिडिटी को कंट्रोल करने में मदद (it helps in controlling acidity) करेगा।

 —  खाना अच्छे से चबा कर और धीरे धीरे (eat food slowly) खाएँ। खाना बिना चबाये निगलने से उसे पचाने के लिए पेट में अधिक एसिड बनता है। अधिक एसिड के कारण भोजन के पोषक तत्व भी पूरे नहीं मिल पाते।

 —  कुछ अंग्रेजी दवाएँ एसिडिटी (english medicine increases acidity) बढ़ाती है। यदि आपको एसिडिटी रहती है तो डॉक्टर को अवश्य (do tell to doctor) बताएं ताकि वह ऐसी दवा ना दे।

CLICK HERE TO READ: गैस और एसिडिटी से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू नुस्खे

 —  गर्भवस्था (pregnancy) में अक्सर एसिडिटी की समस्या हो जाती है। यहाँ बताये अनुसार तौर तरीके बदलने से उसमे भी आराम (Rest) मिलता है।

 —  खाना खाने के तुरन्त बाद सामने की तरफ झुकने या एक्सरसाइज (exercise) करने से सीने में जलन पैदा हो सकती है। अतः ये ना करें।

 —  पेट पर बहुत कस कर पहने हुए कपड़े (tight clothes) या अधिक टाइट लगाई हुई बेल्ट (tight belt) एसिडिटी बढ़ा सकती है। इन्हें थोड़ा लूज़ (loose them) रखें।

 —  सुबह खाली पेट एक गिलास गर्म पानी पीने (drink warm water in morning) से एसिडिटी में आराम मिलता है।

 —  खाना खाने के तुरंत बाद सो जाने से ((avoid sleeping after eating food) पाचन सही तरीके से नहीं हो पाता और अधिक मात्रा में एसिड बनता है । इसलिए सोने से दो तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए। शाम के खाने के बाद कुछ देर पैदल भी (do walk after eating dinner) घूमना चाहिए।

 —  सिगरेट पीने की आदत (habit of smoking) एसिडिटी बढाती है। स्मोकिंग (quit smoking) छोड़नी चाहिए।

 —  तनाव (stress can increase acidity) के कारण एसिडिटी बढ़ सकती है। तनाव से मुक्ति पाने के लिए प्राणायाम (learn pranayam yoga) सीखना चाहिए।

CLICK HERE TO READ: जानिये कमर दर्द के कामयाब नुस्खे | Jaaniye kamar dard ke kaamyaab nuskhe

 —  अपने पलंग (bed) को सर की तरफ से 5 -6 इंच ऊँचा कर लें। इससे एसिड रिफ्लक्स (acid reflex) कम हो जाता है।

 — खाना एक साथ अधिक मात्रा में खाने से बचें। इसके बजाय कम खाना थोड़ी थोड़ी देर से खाना चाहिए।

 —  भोजन के साथ कोल्ड ड्रिंक (cold rink with food increases acidity)पीने से एसिडिटी बढ़ती है। भोजन के साथ तरल ना लें ,कोल्ड ड्रिंक तो बिल्कुल नहीं लें।

 —  खाली पेट (empty stomach) रहने से एसिडिटी बढ़ती है। तीन चार घंटे में पेट खाली हो जाता है। ऐसे में एसिड के कारण पेट की अंदरूनी सतह (inner layer of stomach) को एसिड के कारण नुकसान हो सकता है। अतः हर तीन चार घंटे से कुछ खा लेने से एसिडिटी में आराम (relief in acidity) मिलता है।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे, acidity in hindi, gas problem in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*