अगर फूड प्वाइज़निंग हो तो अपनाएं यह सात नुस्खे, Agar food poisoning ho to apnaye yeh saat nuskhe
अगर फूड प्वाइज़निंग हो तो अपनाएं यह सात नुस्खे, Agar food poisoning ho to apnaye yeh saat nuskhe

अगर फूड प्वाइज़निंग हो तो अपनाएं यह सात नुस्खे | Agar food poisoning ho to apnaye yeh saat nuskhe

अगर फूड प्वाइज़निंग हो तो अपनाएं यह सात नुस्खे | Agar food poisoning ho to apnaye yeh saat nuskhe

 

फूड प्वाइज़निंग दूषित भोजन (infected food )से होने वाली एक बीमारी (disease) है। ये ऐसी बीमारी है जिसका इलाज (treatment) आप एक दो दिन में या फिर हफ्ते में खुद ही कर सकते हैं। फूड प्वाइज़निंग के आम लक्षणों में शामिल हैं- मतली, उल्टी (vomiting), दस्त (loose motion), ऐंठन।

फूड प्वाइज़निंग के अधिकांश मामले कुछ ही दिनों में ठीक हो जाते हैं, लेकिन शिशुओं (babies), गर्भवती महिलाओं (pregnant women’s) , बुजुर्गों (old peoples) में फूड प्वाइज़निंग होने से रोकने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि इससे इनको काफी नुक्सान पहुंचता है।

CLICK HERE TO READ: यह है 6 दमदार और रामबाण नुस्खें जिनसे आप ख़ुद को बढ़ती उम्र में जवान बनाये रख सकते है

CLICK HERE TO READ: डिप्रेशन दूर करने के लिए अपनाएं यह 10 प्राकृतिक नुस्खे

CLICK HERE TO BUY:- Now Foods, Super Enzymes, 180 Tablets

यहाँ कुछ सुझाव है कि आपकी परेशानी को कम करने और आपको तेजी से उबरने में मदद कर सकते हैं:-

-जितना हो सके पेय पदार्थ पीजिए- पानी (water), डिकैफ़िनेटेड चाय (decaffeinated tea) या जूस (juice) जो भी आप पी सकते हैं वो लें इससे आप तरल पदार्थ (liquid diet) की कमी दूर कर सकते हैं और निर्जलीकरण को रोकने में भी ये मददगार (helpful) होगा।

-शराब (wine), दूध (milk) या कैफीनयुक्त पेय पदार्थों से बचें।

-नरम खाद्य पदार्थ (soft diet products) खाना शुरू करें जैसे- चावल (rice), केला (banana) , टोस्ट (toast), आदि।

-मसालेदार भोजन (spicy food), तले हुए खाद्य पदार्थ (fried food), डेयरी और हाई फैट खाद्य (high fat eating food) पदार्थों से बचें।

-अपने खाने में प्रोबायोटिक्स (start taking pro-biotics in food) लेना शुरु करें, प्रोबायोटिक्स आंतों में गुड वैक्टीरिया (good bacteria) को फिर से लाने में सहायक (helpful) होते हैं और आपकी सेहत को जल्दी सुधारने में सहायता (helpful in improving health) करते हैं।

-हर्बस को ट्राई करें (try herbs)- तुलसी, जीरा, सौंफ, धनिया इनको इस दौरान लेना शुरु करें।

-जितना संभव हो उतना आराम करें (take rest as much possible) क्योंकि फूड प्वाइज़निंग थकान को बढ़ा देता है।

-फिर भी यदि आपको फूड प्वाइज़निंग से जल्दी ही आराम (if not get relief) ना मिले तो डॉक्टर को दिखाकर दवाई (take medicine from doctor) शुरु करें।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे,symptoms of food poisoning, how to treat food poisoning, food poisoning remedies, how long does food poisoning last

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*