अगर आप वर्किंग वुमन है तो अपनाएं यह डाइट-चार्ट , Diet chart for working womens
अगर आप वर्किंग वुमन है तो अपनाएं यह डाइट-चार्ट , Diet chart for working womens

अगर आप वर्किंग वुमन है तो अपनाएं यह डाइट-चार्ट Diet chart for working womens

अगर आप वर्किंग वुमन है तो अपनाएं यह डाइट-चार्ट | Diet chart for working womens

 

महिलाओं को अपने खान पान (eating diet) पर विशेष ध्यान देना चाहिए (special care) क्योंकि उन्हें ऑफिस (office) के साथ घर (home) का काम भी संभालना होता है। कई बार महिलाएं सबका ख्याल रखने में अपना ध्यान रखना भूल (forgot about themselves) जाती हैं। कामकाजी महिलाओं (working womens) को अपने खाने में उन्हीं चीजों को शामिल (add) करना चाहिए, जिससे उन्हें भरपूर पोषण (full nutrition) मिले। घर व बाहर का काम करते हुए अक्सर महिलाएं जल्दीबाजी में अपनी सेहत का ख्याल नहीं (not care about their health) रखती है। जबकि कामकाजी महिलाओं का खान-पान आम महिलाओं की अपेक्षा और भी न्यूट्रीशियस और स्वास्थ्यवर्धक (working womens need more nutrition’s and energetic food) होना चाहिए। ऐसे में महिलाओं को कुछ ऐसा खाना चाहिए जिससे उन्हें ऊर्जा (energy) मिल सकें। कामकाजी महिलाओं को अपना एक डाइट चार्ट (diet chart) बनाना चाहिए और उसी के अनुसार चलना चाहिए। उनके खाने में विटामिन (vitamins),जिंक (zinc),प्रोटीन (protein) और कैल्शियम (calcium) की भरपूर मात्रा होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें :- जानिये दोस्तों को अपनी शादीशुदा जिंदगी की प्रॉब्लम्स क्यों नहीं बतानी चाहिये

नाश्ता – Breakfast

कामकाजी महिलाओं (working womens) को सुबह का नाश्ता कभी नहीं छोड़ना चाहिए (never had to skip breakfast) क्योंकि सुबह के समय आपके शरीर को ऊर्जा की (need energy for body) जरूरत होती है, ऐसे में नाश्ता बहुत जरुरी है। घर से निकलने से पहले नाश्ते में आप दूध (milk), दलिया (oats), कॉर्नफ्लेक्स (corn flakes) या सैंडविच (sandwich) खा सकती हैं। सुबह के नाश्ते में विटामिन ए (vitamin A) वाले फल जैसे सेब (apple), पपीता (papaya) व स्ट्राबेरी (strawberry) खाना काफी फायदेमंद होता है। समय की कमी (lack of timing) के चलते अगर आप यह सब नहीं खा सकती हैं तो सिर्फ एक गिलास दूध (glass of milk) और कोई फल (fruit) भी ले सकती हैं। इसके अलावा थोड़े से ड्राईफ्रूट्स (dry fruits) अपने साथ रख लें समय मिलने पर खा लें।

लंच – Lunch

कामकाजी महिलाओं के लंच व नाश्ते में चार से पांच घंटे का ही अंतर होना चाहिए। लंच में स्वास्थ्यवर्धक आहार होना चाहिए जिससे आप चुस्त दुरुस्त रहें। अपने लंच में सब्जी, दाल, दही व चपाती को शामिल करें। हरी सब्जियां काफी फायदेमंद होती हैं जैसे ब्रोकली, पालक आदि का सेवन करें या कम तेल में बनी पनीर की भुजिया भी लंच में ले सकती हैं। अगर आप अंडा खाती है तो हरी सब्जी और दाल की जगह अंडे की भुजिया खा सकती हैं। लंच में सलाद का सेवन जरूर करें। सलाद में शिमला मिर्च, खीरा, ककड़ी, सलाद का पत्ता, किशमिश और थोड़ा-सा नींबू डालकर खाएं। जिससे इसका स्वाद बढ जाएगा।

यह भी पढ़ें :- जानिये औरतें बिस्तर में अपनी कौन कौन सी ख्वाहिशें पूरी करना चाहती हैं

स्नैक्स – Snacks

अक्सर काम के दौरान शाम के समय भूख (feeling hungry in evening) लग जाती है और आप कुछ अनहेल्थी चीजों (eating unhealthy things) का सेवन कर लेती हैं जो कि स्वास्थ्य के लिए ठीक (not good for health) नहीं है। ऐसे में आप अपने साथ कोई फल या स्प्राउट्स रख लें (fruits or sprouts) और शाम के समय स्नैक्स (snacks) के तौर पर उसे खाएं। इससे आपकी भूख भी मिट (erase your hunger)  जाएगी और यह आपके लिए हेल्थी (healthy) भी है।

डिनर – Dinner

रात का खाना हमेशा सोने से दो या ढाई घंटे (eat dinner before 2-3 of sleep) पहले खा लेना चाहिए। इससे खाने को पचने (digestion) का पूरा समय मिल जाता है। रात में बिना खाना खाए (without eating) नहीं सोना (never sleep) चाहिए। खाने में अधिक तली भुनी चीजों (avoid fried and oily food) का सेवन नहीं करें। कोशिश करें कि गेंहू की चपाती (flour chapatti) और कम मसालेवाली सब्जी खाएं। ऐसा खाना पचने में आसान होता है (easy to digest) और इससे शरीर को ऊर्जा (gives energy to body) मिलती है।

natural remedies in hindi, alternative medicine in hindi, natural healing in hindi, household remedies in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*