अगर आप कमरदर्द का इलाज करवा के थक चुके हैं, तो ये योगासन जरुर करके देखें , Agar aap kamardard ka ilaaj karwaake thak chuhe hai to yeh yogasan jaroor karke dekhe
अगर आप कमरदर्द का इलाज करवा के थक चुके हैं, तो ये योगासन जरुर करके देखें , Agar aap kamardard ka ilaaj karwaake thak chuhe hai to yeh yogasan jaroor karke dekhe

अगर आप कमरदर्द का इलाज करवा के थक चुके हैं, तो ये योगासन जरुर करके देखें | Agar aap kamardard ka ilaaj karwaake thak chuhe hai to yeh yogasan jaroor karke dekhe

अगर आप कमरदर्द का इलाज करवा के थक चुके हैं, तो ये योगासन जरुर करके देखें | Agar aap kamardard ka ilaaj karwaake thak chuhe hai to yeh yogasan jaroor karke dekhe

 

 * कमर दर्द (back pain) बहुत ही आम समस्या (common problem) हो गई है। आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि अब यह समस्या बच्चों (childrens) से लेकर बूढ़ों (old peoples) तक सभी को अपनी चपेट में ले रही है। यह समस्या सामान्य और तीव्र दो रूपों में प्राय: देखी जाती है। यद्यपि सामान्य कमर दर्द कम होता है और रोगी (patient) चल-फिर लेता है।लेकिन फिर भी कई बार यह दर्द बड़ी समस्या का कारण बन सकता है। इसलिए हम आपको बताने जा रहे ‪कमरदर्द‬ का रामबाण योगिक उपाय। आप रोजाना (daily) कुछ देर मार्जारी आसन करें आपको इस दर्द से जल्द ही मुक्ति मिल जाएगी।

CLICK HERE TO READ: जानिये कमर दर्द के कामयाब नुस्खे | Jaaniye kamar dard ke kaamyaab nuskhe

CLICK HERE TO READ: यह है धन प्राप्ति के कुछ अचूक उपाय, जो हर किसी की सोई किस्मत को जगाये

मार्जारी आसन विधि- दोनों घुटनों (knees) और दोनों हाथों (both hands) को जमीन पर रखकर झुककर खड़ी हो जाएं। हाथों को जमीन (floor) पर बिलकुल सीधा रखें। ध्यान रखें कि हाथ कंधों की सीध (straight to shoulder) में हों और हथेली फर्श पर इस तरह टिकाएं कि उंगलियां (fingers) आगे की तरफ फैली हों। हाथों को घुटनों की सीध में रखें, बांहें और जांघें भी फर्श से एक सीध में होनी चाहिए। घुटनों को एक-दूसरे से सटाकर भी रख सकती हैं और चाहें तो थोड़ी दूर भी।

यह इस आसन की आरंभिक अवस्था (starting stage) है। इसके बाद रीढ़ (back) को ऊपर की तरफ खींचते हुए सांस अंदर खींचें। इसे इस स्थिति तक लाएं कि पीठ अवतल अवस्था में पूरी तरह ऊपर खिंची हुई दिखे। सांस अंदर की ओर तब तक खींचती रहें जब तक कि पेट (stomach) हवा से पूरी तरह भर न जाए। इस दौरान सिर (head) का ऊपर उठाए रखें। सांस को तीन सेकंड तक भीतर रोक कर रखें।इसके बाद पीठ को बीच से ऊपर उठाकर सिर नीचे झुकाएं। अपनी दृष्टि नाभि पर टिकाएं। सांस धीरे-धीरे (slow slow) बाहर छोड़ें और पेट को पूरी तरह खाली (empty) कर दें और नितंबों को भी भीतर की तरफ खींचें। सांस को फिर तीन सेकंड तक रोकें और सामान्य दशा (normal situation) में वापस आ जाएं। इस तरह इस आसन का एक चक्र पूरा होता है।

लाभ- यह आसन कमरदर्द और पीठदर्द (back pain) में बहुत लाभदायक (helpful) है।

gharelu nuskhe, dadi maa ke nuskhe, desi nuskhe, दादी माँ के नुस्खे , देसी नुस्खे,back pain in hindi, कमर दर्द, home remedies for back pain in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*